World Test Championship, न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज से पहले कोहली ने बताया टीम इंडिया का “असली टारगेट”
World Test Championship, न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज से पहले कोहली ने बताया टीम इंडिया का “असली टारगेट”

न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज से पहले कोहली ने बताया टीम इंडिया का “असली टारगेट”

बॉलिंग अटैक पर भरोसा जताते हुए कप्तान कोहली ने टेस्ट सीरीज के पहले प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि हमने पिछले दो-ढाई साल में कई बार टीमों को ऑल आउट किया है. उम्मीद है यहां भी हमारे गेंदबाज ऐसा ही प्रदर्शन करेंगे.
World Test Championship, न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज से पहले कोहली ने बताया टीम इंडिया का “असली टारगेट”

21 फरवरी से शुरू होने वाले टेस्ट मैच से पहले विराट कोहली ने साफ कर दिया कि उनकी टीम जल्दी से जल्दी टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल के लिए जगह बनाना चाहती है. ICC टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल अगले साल लॉर्ड्स में खेला जाएगा. टेस्ट चैंपियनशिप शुरू होने के बाद भारतीय टीम अभी तक अजेय रही है. वो पॉइंट टेबल में सबसे ऊपर है. विराट कोहली आगे भी इसी दबदबे को कायम रखना चाहते हैं. टेस्ट मैच से पहले उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस में क्या-क्या कहा, जान लेते हैं.

इशांत के अनुभव का होगा फायदा

चोट से पहले इशांत शर्मा जिस तरह की गेंदबाजी कर रहे थे, अब एक बार फिर से उनका फॉर्म वैसा ही लग रहा है. वो अच्छी जगह पर गेंद को पिच करा रहे हैं. उनके पास अच्छा खासा अनुभव है. वो न्यूजीलैंड के दौरे पर पहले आ भी चुके हैं, इसलिए उनका होना टीम के लिए निश्चित तौर पर फायदेमंद होगा. उनका रफ्तार के साथ गेंदबाजी करना, टीम इंडिया के टेस्ट चैंपियनशिप के सपने को साकार कर सकता है.

विरोधी टीम को देखकर बनाएंगे रणनीति

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सभी टीमों को एक तरह से ही देखना चाहिए. हमें अपनी क्षमताओं पर फोकस करना होता है. इस बात से फर्क नही पड़ता कि विरोधी टीम कितना संयम दिखाती है. हमें उनसे ज्यादा संयम दिखाना होगा. हम इस तरह से तैयारी नहीं कर सकते हैं कि न्यूजीलैंड की टीम बाकी टीमों के मुकाबले ज्यादा संयम दिखाएगी और हमारे ऊपर दबाव बनाएगी. हमने अपने आपको फिटनेस और एकाग्रता के लिहाज से इस तरह तैयार किया है कि हम दुनिया की किसी भी टीम के खिलाफ तैयार हैं.

हम इसी विश्वास के साथ मैदान में उतरेंगे. अगर न्यूजीलैंड संयम के साथ खेलेगा तो हम भी संयमित रहेंगे. अगर वो काउंटर अटैक करेंगे तो हमारे पास विकेट लेने का मौका होगा या स्कोर बनाने का मौका होगा. हमारे सामने विरोधी टीम जैसी रणनीति से खेलेगी हम उसके मुताबिक खुद को ढालेंगे. हम किसी तय पैटर्न के साथ नहीं उतरेंगे.

मयंक-पृथ्वी से अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद

पृथ्वी शॉ को आप थोड़ा कम अनुभवी कह सकते हैं, लेकिन मयंक अग्रवाल के साथ ऐसा नहीं है. वो पिछले साल काफी रन बना चुके हैं. वो टेस्ट क्रिकेट में अपने खेल को समझते हैं. मुझे लगता है कि सफेद गेंद के साथ बल्लेबाज कई बार बहुत कुछ प्रयोग करना चाहते हैं, लेकिन लाल गेंद के साथ बल्लेबाज अनुशासन के साथ खेलते हैं. जो मयंक के ज्यादा अनुकूल है. पृथ्वी बहुत प्रतिभाशाली खिलाड़ी हैं. उनका बल्लेबाजी करने का एक तरीका है. हम चाहते हैं कि वो जिस तरह की क्रिकेट खेलते हैं, वैसी ही खेलें.

World Test Championship, न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज से पहले कोहली ने बताया टीम इंडिया का “असली टारगेट”

इन दोनों ही खिलाड़ियों पर किसी तरह का बोझ नहीं है. ऐसा भी नहीं है कि इन पर विदेशी पिचों पर खुद को साबित करने को लेकर किसी तरह का दबाव हो. इसलिए जैसा मंयक ने ऑस्ट्रेलिया में किया था वैसा पृथ्वी यहां कर सकते हैं. मयंक अपनी शानदार फॉर्म को जारी रख सकते हैं. इससे हमें उस तरह की शुरुआत मिल जाएगी जो हम चाहते हैं.

अभी 3-4 साल टीम को मेरी जरूरत है

इसमें कोई ऐसी बात नहीं है जो छुपाई जाए. अब लगभग 8 साल हो गए हैं जब मैं साल में करीब 300 दिन खेला हूं. ट्रेनिंग और सफर के बाद प्रैक्टिस सेशन में पूरी गंभीरता से रहा हूं. इस बात का फर्क तो पड़ता ही है. खिलाड़ी इस बारे में बात भी करते हैं, इसीलिए आपने देखा होगा कि अब खिलाड़ी बीच-बीच में आराम लेते हैं. कई बार मैचों के कार्यक्रम में ये मुश्किल है, लेकिन खिलाड़ी ऐसा करते हैं. ऐसा आपको आगे भी देखने को मिलेगा. सिर्फ मैं ही नहीं कई खिलाड़ी इस तरह से आराम लेंगे. खास तौर पर वो खिलाड़ी जो तीनों फॉर्मेट में खेलते हैं, उनके लिए ये आसान नहीं है.

इसके अलावा कप्तानी करना और हर जगह पूरी गंभीरता के साथ रहना, इसका दबाव तो रहता ही है, लेकिन मैं अभी इस सोच में नहीं पड़ा हूं. बीच-बीच में आराम लेना मेरे लिए अच्छा रहा है. जब मैं 34-35 साल का हो जाऊंगा तो शायद हम लोग अलग विषय पर बात कर रहे होंगे. अगले दो-तीन साल तक कोई दिक्कत नहीं है. मैं इसी गंभीरता के साथ खेल सकता हूं. टीम को भी अगले 2-3 साल मेरे योगदान की जरूरत है. तब हम उस बदलाव में सहज होंगे जैसा 5-6 साल पहले भी हुआ था. इन्हीं बातों को ध्यान में रखकर मैं अपने आप को अगले तीन साल के लिए तैयार कर रहा हूं. इसके बाद हम कुछ अलग ही बातचीत कर रहे होंगे.

तेज हवा से बचना होगा

दुनिया के किसी दूसरे स्टेडियम की तुलना में इस स्टेडियम में हवा का बहुत ही बड़ा रोल रहता है. एक कप्तान के तौर पर आपको उन गेंदबाजों को चुनना होगा जो हवा के साथ तालमेल बिठाकर गेंदबाजी कर सकें. एक कप्तान के तौर पर इस बात का आकलन करना होगा कि अगर हवा स्टेडियम के आर-पार बह रही है तो ये देखना होगा कि इन स्विंग गेंदबाज ज्यादा प्रभावी होगा या आउट स्विंग.

एक बल्लेबाज के तौर पर इस बात का ध्यान रखना होगा कि गेंद संभवत: उतना तेज नहीं जाएगी, यानी हवा की वजह से शॉट्स लगाने में मुश्किल आएगी. बहुत सारे रन दौड़कर बनाने होंगे. जो पिछली बार भी हमने अनुभव किया था. साथ ही अगर आप बहुत हल्के बल्ले से खेलते हैं तो उसमें भी दिक्कत आएगी. अपने बल्ले के साथ स्टांस पर मजबूती से खड़ा होना होगा. पिछली बार मैंने ये बात महसूस की थी. ये कोई बहुत बड़े बदलाव नहीं हैं, लेकिन इसके लिए तैयार रहना होगा.

जीत के लिए हम तैयार हैं

न्यूजीलैंड में क्रिकेट बहुत अनुशासन वाली होती है. उनके खिलाड़ी फिट हैं और वो पूरी ताकत के साथ मैदान में उतरते हैं. वो पूरे दिन आपके संयम का इम्तिहान ले सकते हैं. वो बल्लेबाजी और गेंदबाजी में काबिल खिलाड़ी हैं. फील्डिंग वो अच्छी करते ही हैं. वो आपको खेल के दौरान बहुत ज्यादा मौके नहीं देते. लिहाजा जो चुनिंदा मौके मिलेंगे, उनका फायदा उठाना होगा.

World Test Championship, न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज से पहले कोहली ने बताया टीम इंडिया का “असली टारगेट”

न्यूजीलैंड में मैदान के बाहर की बातों की बजाए मैदान के भीतर की बात पर ज्यादा एकाग्रता दिखानी होगी. ये खिलाड़ियों के लिए भी फायदे की बात है. वो सिर्फ क्रिकेट पर फोकस कर पाएंगे, ऐसी किसी और बात पर नहीं जिसकी जरूरत न हो. दोनों ही टीम अच्छा क्रिकेट खेलेंगी. ये अच्छी सीरीज होगी. जिसको देखने में दोनों को मजा आएगा, क्योंकि दोनों ही टीमें अच्छी हैं. हम अब वैसी टीम नहीं हैं जैसी हुआ करते थे. अब हम एक पूरी तरह से तैयार संतुलित टीम हैं. हम कड़ी टक्कर देने के लिए और मौकों का फायदा उठाकर जीत हासिल करने के लिए तैयार हैं.

ICC टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल है मंजिल

ICC टेस्ट चैंपियनशिप से टेस्ट क्रिकेट में रोमांच बढ़ा है. अभी हमने ज्यादातर क्रिकेट भारत में ही खेली है. हम वेस्टइंडीज में खेले हैं, लेकिन ऑस्ट्रेलिया या इंग्लैंड जैसे देशों में नहीं खेले. इस लिहाज से ये हमारी पहली बड़ी सीरीज है. मुझे उम्मीद है कि दोनों टीमें ड्रॉ के इरादे से नहीं बल्कि मैच के नतीजे के लिए मैदान में उतरेंगी. टेस्ट क्रिकेट में आप यही देखना चाहते हैं. इंग्लैंड और दक्षिण अफ्रीका के बीच हालिया सीरीज अच्छी रही. पहला टेस्ट दक्षिण अफ्रीका ने जीता और दूसरे टेस्ट में इंग्लैंड ने आखिरी मिनटों में जीत हासिल की. आपको ऐसे और भी मैच देखने को मिलेंगे, क्योंकि अब जीत पर प्वॉइंट्स मिलते हैं.

मेरे लिए ये सबसे बड़ा टूर्नामेंट है. हर टीम वहां पहुंचना चाहती है. हर टीम फाइनल में खेलना चाहती है. हम भी उससे अलग नहीं हैं. हम भी चाहते हैं कि फाइनल में जगह बनाएं. हम इस दिशा में सही रास्ते पर हैं. हम इस बात को सुनिश्चित करेंगे कि लॉर्ड्स फाइनल में जगह पक्की करने के लिए जितने अंक चाहिए हम हासिल करें.

हम अपनी रणनीति से चुनेंगे टीम

हमारी टीम के पास वो स्किल है हम तीन गेंदबाजों के साथ भी विरोधी टीम को आउट कर सकते हैं, लेकिन बीच में आपको एक विश्वस्तरीय स्पिन गेंदबाज की जरूरत होती है. जिस स्पिनर के पास ‘स्किल’ है वो दुनिया की किसी भी पिच पर विकेट ले सकते हैं. हम घरेलू टीम के हिसाब से अपनी टीम बनाने की बजाए अपनी क्षमताओं के मुताबिक टीम बनाएंगे. हम सबसे खतरनाक गेंदबाजी आक्रमण और बल्लेबाजी में संतुलन के साथ प्लेइंग 11 बनाएंगे.

हम इस विश्वास के साथ उतरेंगे कि इस गेंदबाजी आक्रमण के साथ हम मैच जीत सकते हैं. इस बात से मैं सहमत हूं कि अनुभव के लिहाज से हमारा गेंदबाजी आक्रमण पिछले दौरे के मुकाबले बिल्कुल अलग है. जिस तरह हमारे सारे गेंदबाज एक ग्रुप में गेंदबाजी कर रहे हैं वो नहीं देखने को मिलता था. इसीलिए हमने पिछले दो ढाई साल में कई बार टीमों को ऑल आउट किया है. उम्मीद है यहां भी वो ऐसा ही प्रदर्शन करेंगे.

ये भी पढ़ें: अंडर-14 क्रिकेट में छाया राहुल द्रविड़ का बेटा, दो महीनों में जड़ा दूसरा शतक

World Test Championship, न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज से पहले कोहली ने बताया टीम इंडिया का “असली टारगेट”
World Test Championship, न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज से पहले कोहली ने बताया टीम इंडिया का “असली टारगेट”

Related Posts

World Test Championship, न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज से पहले कोहली ने बताया टीम इंडिया का “असली टारगेट”
World Test Championship, न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज से पहले कोहली ने बताया टीम इंडिया का “असली टारगेट”