पुलवामा हमला: क्रिकेट की पिच पर इस तरह हो रहा है पाकिस्तान का बहिष्कार

Share this on WhatsAppनई दिल्ली. पुलवामा आतंकी हमले के विरोध में भारत के अलग-अलग हिस्सों में पाकिस्तान का बहिष्कार किया जा रहा है. जहां सरकार ने पाकिस्तान से मोस्ट फेवर्ड नेशन का दर्जा छीन लिया है वहीं कई क्रिकेट स्टेडियम से पाकिस्तानी खिलाड़ियों की तस्वीरें हटा दी हैं. इसके साथ ही क्रिकेट फ्रंट पर पाकिस्तान के […]

नई दिल्ली. पुलवामा आतंकी हमले के विरोध में भारत के अलग-अलग हिस्सों में पाकिस्तान का बहिष्कार किया जा रहा है. जहां सरकार ने पाकिस्तान से मोस्ट फेवर्ड नेशन का दर्जा छीन लिया है वहीं कई क्रिकेट स्टेडियम से पाकिस्तानी खिलाड़ियों की तस्वीरें हटा दी हैं. इसके साथ ही क्रिकेट फ्रंट पर पाकिस्तान के बहिष्कार की और ख़बरें भी सामने आई हैं. एक नजर इन सभी ख़बरों पर-

मैदानों से हटी पाक क्रिकेटरों की तस्वीर
सोमवार को राजस्थान क्रिकेट एसोसिएशन (RCA) ने पुलवामा आतंकी हमले के विरोध में सवाई मानसिंह स्टेडियम की पिक्चर गैलरी से पाकिस्तानी क्रिक्रेटरों की तस्वीरें हटा दी हैं. इससे पहले रविवार को पंजाब क्रिकेट एसोसिएशन (PCA) ने मोहाली क्रिकेट स्टेडियम के अंदर लगी पाकिस्तानी क्रिकेट खिलाड़ियों की एक दर्जन से अधिक तस्वीरें हटाई थी. साथ ही शनिवार को मुंबई स्थित क्रिकेट क्लब आफ इंडिया (CCI) ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान का पोस्टर ढक दिया था.


PSL का भारत में प्रसारण बंद
भारत में पाकिस्तान सुपर लीग के ऑफिसियल ब्राडकास्टिंग चैनल डी-स्पोर्ट्स ने टूर्नामेंट को भारत में नहीं प्रसारित करने का निर्णय लिया. इसके बाद आईएमजी-रिलायंस ने रविवार को पाकिस्तान सुपर लीग (PSL) के प्रोडक्शन से अपना हाथ खींच लिया है. आईएमजी रिलायंस पीएसएल का आधिकारिक प्रोडक्शन पार्टनर था और यही इसके सारे मैचों के लाइव कवरेज की देखरेख कर रहा था. इसके बाद पीएसएल के मैच विभिन्न चैनलों के माध्यम से पाकिस्तान और दूसरे देशों में दिखाए जा रहे थे. ये दोनों ही फैसले पुलवामा हमले के बाद आए हैं.


वर्ल्ड कप में पाक के खिलाफ नहीं खेलने की मांग
क्रिकेट क्लब ऑफ इंडिया(CCI) के सचिव सुरेश बाफना ने BCCI को सलाह दी है कि टीम इंडिया को आगामी वर्ल्ड कप में पाकिस्तान के खिलाफ नहीं खेलना चाहिए. इसके साथ ही सोशल मीडिया पर फैंस ने BCCI से गुहार की है कि वो इंग्लैंड में होने वाले वर्ल्ड कप में पाकिस्तान के खिलाफ न खेलें.