US Open Final: अनुभव के आगे हारी आक्रामकता, नडाल ने जीता 19वां ग्रैंड स्लैम

ब्रिटेन के जैमी मरे और उनकी अमेरिकी महिला जोड़ीदार बेथेनी मैटेक सैंड्स ने चीन के हाओ चिंग और मिशेल वीनस की जोड़ी को 6-2, 6-3 से हरा मिश्रित युगल वर्ग का खिताब जीता है.

न्यूयार्क: स्पेन के राफेल नडाल ने साल के चौथे और आखिरी ग्रैंड स्लैम अमेरिका ओपन के पुरुष एकल वर्ग का खिताब अपने नाम कर लिया है. स्पेनिश दिग्गज ने रविवार देर रात खेले गए मैराथन फाइनल में रूस के डेनिल मेदवेदेव को मात अपने करियर का 19वां ग्रैंड स्लैम खिताब जीता.

नडाल ने मेदवेदेव को 7-5, 6-3, 5-7, 4-6, 6-4 से मात दे अपना चौथा अमेरिकी ओपन खिताब जीता. इस मैच को जीतने के लिए नडाल को चार घंटे 49 मिनट का समय लगा. नडाल ने अपने प्रतिद्वंद्वी को हर एक अंक के लिए तरसाया और रूसी खिलाड़ी के आक्रमक रवैये को अपने अनुभव से ठंडा किया.

मेदवेदेव ने दो सेट और एक ब्रेकडाउन कर मैच को काफी रोमांचक बना दिया था. 33 साल के नडाल ने हालांकि अपने सामने आई हर बाधा को पार कर जीत हासिल की. अब नडाल स्विट्जरलैंड के रोजर फेडरर के पुरुष वर्ग में सबसे ज्यादा ग्रैंड स्लैम जीतने के रिकार्ड की बराबरी करने से सिर्फ एक कदम दूर हैं. फेडरर के नाम अभी तक 20 ग्रैंड स्लैम खिताब हैं. इसी के साथ उन्होंने अपने और नोवाक जोकोविक के बीच के ग्रैंड स्लैम खिताब के अंतर को तीन तक पहुंचा दिया है.

मैच के बाद पुरस्कार वितरण समारोह में मेदवेदेव ने नडाल से कहा, “आप जिस तरह से खेलते हैं वो मजाक जैसा लगता है, आपके खिलाफ खेलना बेहद मुश्किल है. मैं दर्शकों के कारण काफी कड़ी प्रतिस्पर्धा दे पा रहा था.” 23 साल के इस युवा ने कहा, “तीसरे सेट में मैं पहले से ही यह सोच रहा था कि मैं जब बोलूंगा तो क्या कहूंगा. मैं लड़ रहा था और हार नहीं मान रहा था, लेकिन दुर्भाग्यवश मैं अपने रास्ते पर बना नहीं रह पाया.”

मैच के बाद नडाल ने रूस के युवा खिलाड़ी का तारीफ की है और कहा है कि उनके सामने इस तरह के मौके और भी आएंगे. मैच के बाद नडाल ने कहा, “मेरे लिए यह जीत काफी जरूरी थी. खासकर तब जब यह मैच मुश्किल होता जा रहा था. मैं मुश्किल समय में धैर्य बनाए रखने में कामयाब रहा. यह बेहतरीन मैच था. मैं काफी भावुक हूं.”

उन्होंने कहा, “यह शानदार फाइनल था. डेनिल सिर्फ 23 साल के हैं और जिस तरह से वो खेल रहे थे और अपनी लय में बदलाव कर रहे थे वो शानदार है.” उन्होंने कहा, “उनके सामने इस तरह के कई मौके आएंगे.”

वहीं बेल्जियम की इलिसे मेर्टेस और बेलारूस की अर्याना साबालेंका ने महिला युगल वर्ग का खिताब अपने नाम कर लिया है. इस जोड़ी ने विक्टोरिया एजारेंका और एश्ले बार्टी को मात दे खिताबी जीत हासिल की है. चौथी सीड मेर्टेस-साबालेंका की जोड़ी ने आठवीं सीड एजारेंका-बार्टी की जोड़ी को सीधे सेटों में 7-5, 7-5 से मात दी.

डब्ल्यूटीए की वेबसाइट ने मेर्टेस के हवाले से लिखा, “मुझे लगता है कि सीजन की शुरुआत से हमने फैसला किया था कि हम साथ खेलेंगे. हमने यह नहीं सोचा था कि हम इतना कुछ हासिल कर पाएंगे. मैं इसके लिए बेहद खुश हूं और मुझे लगता है कि हम युगल जोड़ी के तौर पर आगे बढ़ रहे हैं.”

ब्रिटेन के जैमी मरे और उनकी अमेरिकी महिला जोड़ीदार बेथेनी मैटेक सैंड्स ने चीन के हाओ चिंग और मिशेल वीनस की जोड़ी को 6-2, 6-3 से हरा मिश्रित युगल वर्ग का खिताब जीता है.