राहुल द्रविड़ की ईमानदारी पर BCCI की मुहर, कॉन्फ्लिक्‍ट ऑफ इंटरेस्ट केस में क्‍लीन चिट

राहुल दव्रिड़ ने उसी अंदाज में आरोपों का सामना किया जैसे पिच पर आग उगलती गेंदों का करते थे. BCCI के एथिक्स ऑफिसर जस्टिस (रिटायर्ड) डीके जैन ने दव्रिड़ को क्‍लीन चिट दे दी है.

एक खिलाड़ी जो करीब दो दशक तक टीम इंडिया की ‘दीवार’ रहा हो. जिसकी ईमानदारी और विनम्रता की लोग तारीफ करते नहीं थकते. जिस क्रिकेटर को गाली देने के बाद विरोधी टीम के खिलाड़ी को भी पछतावा होता है. उस क्रिकेटर पर कॉन्फ्लिक्‍ट ऑफ इंटरेस्ट (हितों के टकराव) के आरोप लगे. मगर वो डिगा नहीं. उसी अंदाज में आरोपों का सामना किया जैसे पिच पर आग उगलती गेंदों का करते थे. वो खिलाड़ी है राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid). दव्रिड़ पाक साफ निकले हैं, उनके दामन पर कोई दाग नहीं है. वो हमेशा की तरह बेदाग हैं. BCCI के एथिक्स ऑफिसर जस्टिस (रिटायर्ड) डीके जैन (DK Jain) ने दव्रिड़ को क्‍लीन चिट दे दी है.

जैन ने मुताबिक उन्हें पूर्व भारतीय कप्तान के खिलाफ कोई मामला नजर नहीं आया. द्रविड़ को 12 नवंबर को जैन के सामने पेश होना था. द्रविड़ राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी (NCA) के चीफ हैं.

क्‍या था मामला?

मध्य प्रदेश क्रिकेट संघ (MPCA) के आजीवन सदस्य संजीव गुप्ता ने शिकायत की थी. गुप्ता का कहना था कि द्रविड़ NCA के डायरेक्‍टर हैं. साथ ही साथ वह IPL फ्रेंजाइजी चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) का मालिकाना हक रखने वाली इंडिया सीमेंट्स ग्रुप में वाइज प्रेस‍िडेंट भी हैं. फिर एथिक्स ऑफिसर ने द्रविड़ को कॉन्फ्लिक्‍ट ऑफ इंटरेस्ट के मामले में नोटिस दिया. द्रविड़ ने कहा था कि उन्होंने इंडिया सीमेंट्स के अपने पद से लंबी छुट्टी ले रखी है.

प्रशासकों की समिति (CoA) के अध्यक्ष विनोद राय ने कहा था कि द्रविड़ का छुट्टी पर रहना उन्हें किसी प्रकार के कॉन्फ्लिक्‍ट ऑफ इंटरेस्ट से दूर करता है. BCCI चीफ सौरव गांगुली ने भी द्रविड़ पर लगे आरोपों पर नाराजगी जताई थी. उन्‍होंने ट्वीट किया था, “कॉन्फ्लिक्‍ट ऑफ इंटरेस्ट भारतीय क्रिकेट में एक नया फैशन बन गया है. यह खबरों में रहने का तरीका है.”

ये भी पढ़ें

‘अगली बार ध्यान रखूंगा कैमरा कहां लगा है’, रोहित शर्मा को क्‍यों कहनी पड़ी ये बात?