टीम इंडिया ने कैसे उड़ाई रिकी पॉन्टिंग की नींद?

टीम इंडिया ने इसी साल जनवरी में ऑस्ट्रेलिया की टीम को उनके ही घर पर टेस्ट सीरीज हराकर इतिहास रच दिया था. इस सीरीज में भारतीय बॉलिंग अटैक का कोई मुकाबला नहीं था. जसप्रीत बुमराह ने इस सीरीज में सबसे ज्यादा 21 विकेट हासिल किए. मोहम्मद शमी ने 16 विकेट अपने नाम किए थे.

मिचेल स्टार्क बनाम जसप्रीत बुमराह, पैट कमिंस बनाम उमेश यादव और हेजलवुड बनाम मोहम्मद शमी. ये टक्कर वाकई इस वक्त क्रिकेट की सबसे बड़ी टक्कर है. एक तरफ भारतीय गेंदबाज हैं जिनका लोहा पूरी दुनिया मान चुकी है, तो दूसरी ओर ऑस्ट्रेलिया के गेंदबाज हैं जिनका खौफ दशकों से क्रिकेट में रहा है. अब जाकर कंगारुओं को किसी टीम के गेंदबाजों ने ऐसी टक्कर दी है कि क्रिकेट में नई बहस शुरू हो गई है.

दुनिया की सबसे खतरनाक बॉलिंग अटैक किसकी है ?
ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिकी पॉन्टिंग ऑस्ट्रेलिया पेस अटैक को अब भी सबसे खतरनाक मानते हैं. जाहिर है कोई अपने अंगूर खट्टे नहीं कहना चाहेगा लेकिन रिकी पॉन्टिंग का ये भी मानते हैं कि भारतीय गेंदबाज अब किसी से कम नहीं हैं.

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिकी पॉन्टिंग ने कहा कि- भारतीय पेस अटैक अद्भुत है लेकिन मुझसे पूछें कि भारत और ऑस्ट्रेलिया में किसके पास बेहतर बॉलिंग अटैक है तो मैं ऑस्ट्रेलिया कहूंगा. भारत के पास बुमराह और शमी जैसे बेहतरीन गेंदबाज हैं. इनके अलावा उमेश यादव और ईशांत शर्मा की मौजूदगी से ये पेस अटैक और शानदार हो जाता है. इसमें अश्विन और जडेजा की मौजूदगी से बॉलिंग अटैक और अच्छी हो जाती है.

पॉन्टिंग के मुताबिक ऑस्ट्रेलिया पेस अटैक इसलिए ज्यादा खतरनाक है क्योंकि उसमें मिचेल स्टार्क की मौजूदगी से एक लेफ्ट आर्म तेज गेंदबाज का विकल्प है. बहरहाल पॉन्टिंग के दावों में कितनी सच्चाई है आंकड़ों से लिहाज से खंगालते हैं.

ICC टेस्ट चैम्पियनशिप में भारत और ऑस्ट्रेलिया के गेंदबाजों में कांटे की टक्कर है. टॉप 10 गेंदबाजों में से 5 भारत के हैं. जबकि तीन ऑस्ट्रेलिया के हैं. दो गेंदबाज इंग्लैंड के हैं. इस फेहरिस्त में सबसे ऊपर ऑस्ट्रेलिया के पैट कमिंस हैं जिन्होंने सात मैच में 37 विकेट लिए हैं. दूसरे नंबर पर हैं भारत के मोहम्मद शमी जिनके नाम सात मैच में 31 विकेट हैं. गौर करने वाली बात है कि शमी की गेंदबाजी औसत पैट कमिंस से कहीं बेहतर है. ईशांत शर्मा 25 विकेट के साथ पांचवें और उमेश 23 विकेट के साथ छठे नंबर पर हैं.

टीम इंडिया ने इसी साल जनवरी में ऑस्ट्रेलिया की टीम को उनके ही घर पर टेस्ट सीरीज हराकर इतिहास रच दिया था. इस सीरीज में भारतीय बॉलिंग अटैक का कोई मुकाबला नहीं था. जसप्रीत बुमराह ने इस सीरीज में सबसे ज्यादा 21 विकेट हासिल किए. मोहम्मद शमी ने 16 विकेट अपने नाम किए थे. वहीं ऑस्ट्रेलिया की पेस अटैक कमिंस को 14, हेजलवुड और स्टार्क को 13-13 विकेट मिले थे.

भारतीय बल्लेबाजों ने भी ऑस्ट्रेलिया के बॉलिंग अटैक की धज्जियां उड़ा दी थी. सीरीज में सिर्फ भारतीय बल्लेबाजों ने शतक लगाए थे. पुजारा ने चार मैच में तीन शतक जड़े. ऋषभ पंत और विराट कोहली ने भी 1-1 शतक लगाया था.

इन आंकड़ों से साबित होता है कि भारतीय टीम चाहे बल्लेबाजी हो या गेंदबाजी सभी में अव्वल हैं. पॉन्टिंग को ये आंकड़े जरूर देखने चाहिए. वैसे पॉन्टिंग माने या ना माने लेकिन दुनिया यही मानती है कि टीम इंडिया इस वक्त दुनिया की सबसे जबरदस्त टीम है. इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वॉन भी कह चुके हैं कि ऑस्ट्रेलिया में ऑस्ट्रेलिया को अगर कोई हरा सकता है तो वो टीम इंडिया है.

आपको बता दें कि टीम इंडिया 2021 में ऑस्ट्रेलिया दौरे पर जाएगी. इस दौरे को लेकर अभी से ही क्रिकेट फैंस उत्साहित हैं. इस जबरदस्त भिड़ंत को देखने के लिए क्रिकेट पंडित भी अपनी भविष्यवाणियों के जोड़ तोड़ में लग रहे हैं. एक ओर आईसीसी रैंकिंग हो या विश्व टेस्ट चैंपियनशिप हर ओर भारतीय टीम का डंका बज रहा है. तो दूसरी ओर भी डेविड वॉर्नर और स्टीव स्मिथ के कमबैक के बाद कंगारुओं की ताकत भी बढ़ गई है. असली मुकाबला होगा दोनों ही टीम के घातक गेंदबाजों के बीच। जिसका हर क्रिकेट प्रेमी गवाह बनना चाहता है.