‘चोटिल केदार जाधव की जगह ऋषभ पंत को मिले WORLD CUP टीम में मौका’

पूर्व भारतीय क्रिकेटर रॉजर बिन्नी का मानना है कि वर्ल्ड कप में भारतीय खिलाड़ियों के लिए सबसे बड़ी चुनौती फिट रहने की होगी.

नई दिल्ली. IPL 2019 के दौरान चेन्नई सुपर किंग्स से खेलने वाले भारतीय वर्ल्ड कप टीम के सदस्य केदार जाधव चोटिल हो गए थे. ऐसे में उनके वर्ल्ड कप में खेलने पर भी संशय बना हुआ है. इसपर पूर्व भारतीय ऑलराउंडर रॉजर बिन्नी ने कहा है कि अगर केदार जाधव समय पर फिट नहीं हो पाते हैं तो उनकी जगह ऋषभ पंत को वर्ल्ड कप टीम में शामिल किया जाना चाहिए.

ये भी पढ़ें: विश्वकप टीम में क्यों हुआ दिनेश कार्तिक का चयन, कप्तान विराट कोहली ने बताई वजह, देखें VIDEO

केदार जाधव ने इस IPL सीजन में 14 मैच खेले थे. अनफिट होने के चलते जाधव ने प्लेऑफ का एक भी मुकाबला नहीं खेला था. खबर आ रही है कि जाधव उतनी तेजी से रिकवर नहीं कर पा रहे हैं जितनी तेजी से उनके रिकवर करने की उम्मीद थी. टीम इंडिया के फिजियो पैट्रिक फरहत ऑस्ट्रेलिया से भारत लौट आए हैं और उन्होंने मुंबई में कैंप लगा लिया है. अब सारी नजरें फरहत पर हैं कि जाधव समय पर रिकवर कर पाते हैं या नहीं. ऐसा माना जा रहा है कि वह पहले मैच से पहले नहीं तो दूसरे मैच तक फिट हो जाएंगे. अब टीम प्रबंधन के सामने बड़ा प्रशन ये है कि क्या ऐसा चांस लिया जाना चाहिए.

ये भी पढ़ें:  प्रैक्टिस में लेट आने वाले क्रिकेटर्स को यह सजा देते थे MS धोनी, कोच ने किया खुलासा

पूर्व क्रिकेटर रॉजर बिन्नी का मानना है कि वर्ल्ड कप में भारतीय खिलाड़ियों के लिए सबसे बड़ी चुनौती फिट रहने की होगी. उनका कहना है कि वर्ल्ड कप से पहले भारतीय टीम को कम से कम मैच खेलने चाहिए. भारतीय टीम का ध्यान मैच फिट बने रहने पर होना चाहिए. टेस्ट मैचों से पहले प्रैक्टिस मैचों की जरुरत होती है, लेकिन ODI के लिए पहले से मैच खेलने की उतनी जरुरत नहीं.

ये भी पढ़ें: WORLD CUP के लिए हो चुका है सभी 10 टीमों का ऐलान, देखें फुल SQUAD

उन्होंने ऋषभ पंत को चोटिल जाधव की जगह टीम में शामिल किए जाने पर कहा, “जैसा कि मैंने कहा फिटनेस भारतीय टीम की सफलता के लिए जरुरी होगी. मैंने नोटिस किया है कि केदार जाधव पर कुछ संशय बना हुआ है. अगर वो फिट नहीं होते हैं तो, मैं ऋषभ पंत को टीम में शामिल होते देखना चाहूंगा. वो एक ऐसे खिलाड़ी हैं जो विपक्षी गेंदबाजों पर हावी हो सकते हैं और आपको मुकाबले जिता सकते हैं. पंत 10 ओवर में या आधे घंटे के भीतर मैच का रुख बदल सकते हैं. बड़े टाइटल जीतने के लिए आपको ऐसे खिलाड़ी की आवश्यकता होती है. वह कभी-कभी गलत शॉट का चुनाव करते हैं. लेकिन एक बल्लेबाज कैसे सीखता है? ज्यादा से ज्यादा मैच खेलकर और टीम में जगह पाकर. वो लम्बी रेस के घोड़े हैं.”

तीन भारतीय खिलाड़ियों को स्टैंडबाई पर रखा गया है- गेंदबाज नवदीप सैनी, विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत और बल्लेबाज अम्बाती रायडू. किसी खिलाड़ी के चोटिल होने पर इनमे से किसी को जगह मिलेगी.