Ramayana के इस किरदार से ली विस्फोटक बल्लेबाजी की प्रेरणा, सहवाग ने ट्वीट कर खोला राज

भगवान राम (Lord Rama) ने अपने शांति दूत के रूप में अंगद को लंका भेजा था, लेकिन रावण ने समझौता करने से मना कर उन पर तंज कसा था. तब अंगद (Angad) ने रावण की पूरी सभा को चुनौती दी थी कि अगर कोई भी मेरे पैर को महज हिला भर दे तो श्रीराम लौट जाएंगे.
Sehwag gave a big statement, Ramayana के इस किरदार से ली विस्फोटक बल्लेबाजी की प्रेरणा, सहवाग ने ट्वीट कर खोला राज

भारतीय क्रिकेट टीम (Indian cricket team) के पूर्व ओपनर वीरेंद्र सहवाग ने खुलासा किया है कि उन्होंने रामायण (Ramayana) के अंगद से अपनी विस्फोटक बल्लेबाजी की प्रेरणा ली थी. सहवाग (Virender Sehwag) ने अंगद के पैर जमाने की दो तस्वीरों को ट्विटर पर शेयर किया है, जिसके कैप्शन में लिखा ” जहां से मैंने अपनी बल्लेबाजी की प्रेरणा ली. पैर हिलाना मुश्किल ही नहीं, नामुमकिन है. अंगदजी रॉक्स.”

देखिये #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

सहवाग भी अपने क्रिकेट करियर में बहुत ही कम फुटवर्क का इस्तेमाल करते थे और खड़-खड़े ही गेंद को सीमा रेखा के पार पहुंचा देते थे.

पौराणिक कथा के अनुसार, अंगद वानरों के राजा बाली के पुत्र और उनकी सेना का हिस्सा थे. उन्होंने माता सीताजी को लंका से निकालने के लिए भगवान राम की मदद की थी.

भगवान राम ने युद्ध संधि के लिए अपने शांति दूत के रूप में अंगद को लंका भेजा था, लेकिन रावण ने समझौता करने से मना कर दिया था तो अंगद ने रावण की पूरी सभा को चुनौती दी थी कि यदि कोई भी राक्षस मेरे पैर को हिला देगा तो श्रीराम हार मानकर पूरी सेना सहित लंका से वापस चले जाएंगे. रावण की पूरी सभी में से कोई भी अंगद का पैर हिला नहीं पाया था.

देश में लागू लॉकडाउन के बीच दूरदर्शन पर रामानंद सागर की बनाई गई धारावाहिक रामायण ने एक बार फिर से धूम मचाई हुई है. इस धारावाहिक से देश भर की कई पीढ़ियों की यादें जुड़ी हुई हैं.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

Related Posts