शाहिद अफरीदी उम्र छिपाकर खेलते रहे क्रिकेट, आत्‍मकथा में बताई जन्‍मतिथि पर भी उठे सवाल

पाकिस्‍तानी क्रिकेटर शाहिद अफरीदी ने जो दावा किया है, उससे और कंफ्यूजन हो गई है.

नई दिल्‍ली: शाहिद अफरीदी ने अपनी आत्मकथा ‘गेमचेंजर’ में एक बड़े झूठ को उजागर किया है जो वह अपने क्रिकेट करियर में अभी तक छुपाते हुए आए थे. अफरीदी ने अपनी आत्मकथा में कहा है कि आधिकारिक दस्तावेजों में उनकी गलत उम्र दर्ज है. ईएसपीएनक्रिकइंफो की रिपोर्ट के मुताबिक, अफरीदी ने अपनी आत्मकथा मे लिखा है कि वह 1975 में जन्मे थे ना कि 1980. पाकिस्तान के पूर्व कप्तान ने हालांकि अपनी जन्मतिथि का महीना और दिन नहीं बताया है, लेकिन इससे एक बात साबित हो गई है कि अफरीदी अभी तक झूठी उम्र के साथ क्रिकेट खेल रहे थे.

अफरीदी ने 1996 में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण किया था तब उनकी उम्र 16 साल की बताई गई थी. अफरीदी ने अपनी आत्मकथा में लिखा है, “रिकार्ड में मैं 19 साल का था ना कि 16 साल. मेरा जन्म 1975 में हुआ है. हां अधिकारियों ने मेरी उम्र गलत दर्ज की थी.”

अफरीदी ने इसी बयान के साथ स्थिति को और अस्पष्ट कर दिया है क्योंकि एक तरफ वह कह रहे हैं कि उनका जन्म 1975 में हुआ है. इस लिहाज से जब उन्होंने पदार्पण किया तब वह 20 या 21 साल के थे लेकिन वह खुद अपनी किताब में कह रहे हैं कि वह 19 साल के थे.

अब सवाल यह है कि अफरीदी ने अभी तक अपनी उम्र को लेकर चुप्पी क्यों साध रखी थी और अब जबकि उन्होंने अपनी असल उम्र का खुलासा खुद कर दिया है तो क्या आईसीसी इस सम्बंध में कोई फैसला लेगा? अफरीदी ने 2016 टी-20 विश्व कप के बाद संन्यास ले लिया था. वह हालांकि कुछ टी-20 लीगों में खेलते आ रहे हैं.

ये भी पढ़ें

दोस्‍त से मुकाबला जीतने को सोती हुई महिला से किया रेप, क्रिकेटर को 5 साल जेल

क्रिकेटर जेम्स फॉकनर को क्यों कहना पड़ा कि वो ‘गे’ नहीं हैं