27 साल पहले शेन वॉर्न ने फेंकी थी ‘बॉल ऑफ सेंचुरी’, आखिर क्‍या है इसके पीछे की मिस्‍ट्री? Detail में

फिरकी गेंदबाजी के जादूगर कहे जाने वाले महान ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी (Australian Player) शेन वार्न (shane warne) ने आज ही के दिन 27 साल पहले क्रिकेट के मैदान पर इंग्लैंड के खिलाफ वह करिश्मा किया था.
Shane Warne ball of the century, 27 साल पहले शेन वॉर्न ने फेंकी थी ‘बॉल ऑफ सेंचुरी’, आखिर क्‍या है इसके पीछे की मिस्‍ट्री? Detail में

4 जून 1993 को 24 साल के शेन वार्न (Shane Warne) ऑस्ट्रेलिया की टीम (Australia Team) के साथ ऐशेज सीरीज़ (Ashes series) खेलने के लिए इंग्लैंड गए थे. उस वक़्त उन्हें सिर्फ़ एक-डेढ़ साल का अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट का तजुर्बा था. उनका सामना कर रहे थे माइक गेटिंग. इंग्लैंड के महान बल्लेबाज़. माइक गेटिंग को तब अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट का 15 साल का तजुर्बा था.

60 से ज़्यादा टेस्ट मैच वो खेल चुके थे. कई शतक लगा चुके थे. शेन वॉर्न ने अपने रन-अप से आकर वो गेंद फेंकी गेंद लेग स्टंप के बाहर टप्पा खाई. माइक गेटिंग गेंद को छोड़ने के मूड में थे. लेकिन गेंद ने टप्पा खाने के बाद ‘टर्न’ लिया और माइक गेटिंग के विकेट की गिल्लियां उड़ा दी थी.

कुछ सेकंड्स के लिए गेटिंग वहीं खड़े रह गए. उन्हें समझ ही नहीं आया कि वो गेंद इतना टर्न कैसे हुई. ये शेन वॉर्न का करिश्मा था. उनकी स्पिन का करिश्मा था. और वही गेंद ‘बॉल ऑफ़ द सेंचुरी’ कहलाई. आज उसी शानदार गेंद को फेंके जाने के 27 साल पूरे हो गए.

देखिये #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

शेन वॉर्न की वो गेंद एक लेग ब्रेक थी

एशेज़ सीरीज़ का वो मैच मैनचेस्टर के ओल्ड ट्रैफर्ड मैदान में खेला जा रहा था. शेन वॉर्न इंग्लैंड के ख़िलाफ़ टेस्ट सीरीज़ में अपना पहला ओवर करने आए थे. वो गेंद जिस पर गेटिंग आउट हुए एक लेग ब्रेक थी. इससे पहले कि गेटिंग कुछ समझते विकेट-कीपर इयन हिली सेलिब्रेशन के लिए आगे बढ़ चुके थे. उस वक़्त माइक गेटिंग का स्कोर सिर्फ़ चार रन था.

बाद में शेन वॉर्न विश्व क्रिकेट के सबसे महान गेंदबाज़ों में शुमार हुए. उन्होंने एशेज़ सीरीज़ में अपने करियर में 195 विकेट लिए. इसमें से 129 विकेट उन्होंने इंग्लैंड की पिचों पर लिए थे. जो अपने आप में एक रिकॉर्ड है.

इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच एशेज़ सीरीज़ से बड़ी कोई सीरीज़ नहीं. इस सीरीज़ को विश्व क्रिकेट की सबसे सम्मानित चैंपियनशिप में माना जाता है. और ऐसी सम्मानित ट्रॉफ़ी में शेन वॉर्न के ये शानदार रिकॉर्ड्स उन्हें एक महान गेंदबाज़ की श्रेणी में लाते हैं.

शेन वॉर्न के नाम है अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में 1000 से ज़्यादा विकेट

शेन वॉर्न ने ऑस्ट्रेलिया के लिए तक़रीबन 15 साल क्रिकेट खेली. उन्होंने 145 टेस्ट मैच और 191 वनडे मैच खेले. टेस्ट क्रिकेट में उनके नाम 708 विकेट है और वनडे क्रिकेट में उन्होंने 293 विकेट लिए है. एक ही टेस्ट मैच में 10 विकेट या उससे ज़्यादा लेने का कारनामा शेन वार्न ने अपने टेस्ट करियर में 10 बार किया.

टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज़्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज़ों की फ़ेहरिस्त में शेन वॉर्न दूसरे नंबर पर थे. उनसे आगे थे श्रीलंका के मुथैया मुरलीधरन. जिन्होंने 800 टेस्ट विकेट लिए हैं. इस लिस्ट में तीसरे नंबर पर हैं भारत के अनिल कुंबले. जिनके खाते में 619 विकेट हैं.

देखिए NewsTop9 टीवी 9 भारतवर्ष पर रोज सुबह शाम 7 बजे

Related Posts