‘रोहित शर्मा अपने नाम के आगे G लगा लो, हिंदुस्तान में तुमसे बड़ा बल्लेबाज कोई नहीं है’

शोएब अख्तर ने कहा कि उन्हें 2013 में ही रोहित शर्मा की असली क्षमता का एहसास हो चुका था. शोएब अख्तर ने कहा, 'तब बांग्लादेश में मैंने रोहित से कहा था कि वह अपने नाम के आगे G लगा ले और 'ग्रेट रोहित शर्मा' कर ले. क्योंकि हिंदुस्तान में तुमसे बड़ा बल्लेबाज कोई नहीं है.'
रोहित शर्मा शोएब अख्तर, ‘रोहित शर्मा अपने नाम के आगे G लगा लो, हिंदुस्तान में तुमसे बड़ा बल्लेबाज कोई नहीं है’

वनडे और टी-20 में टीम को मजबूत शुरुआत देने वाले रोहित शर्मा से सबको उम्मीदें थीं कि वो टेस्ट में भी कुछ कमाल दिखाएं. रोहित शर्मा को पहली बार पारी की शुरूआत करने भेजा गया. रोहित शर्मा ने ओपनिंग डेब्यू में ही 176 रन बता दिया कि वो टेस्ट में भी बेस्ट हैं. उनका खेल केवल भारतीय ही नहीं पाकिस्तान में भी लोग देख रहे थे. पाकिस्तान के रावलपिंडी एक्सप्रेस नाम से मशहूर शोएब अख्तर ने इस बात का खुलासा किया.

शोएब अख्तर ने कहा कि उन्हें 2013 में ही रोहित शर्मा की असली क्षमता का एहसास हो चुका था. शोएब अख्तर ने कहा, ‘तब बांग्लादेश में मैंने रोहित से कहा था कि वह अपने नाम के आगे G लगा ले और ‘ग्रेट रोहित शर्मा’ कर ले. क्योंकि हिंदुस्तान में तुमसे बड़ा बल्लेबाज कोई नहीं है.’

शोएब अख्तर ने रोहित को एक सलाह भी दी थी. उन्होंने अपने यू-ट्यूब चैनल पर कहा, ‘मैंने रोहित से कहा था कि वह आत्मविश्वास बढ़ाए और अपने अंदर वो जज्बा ले आए. शायद उन्हें इसे अमल में लाने में थोड़ा वक्त लगा, वनडे में तो उन्होंने खुद को साबित कर दिखाया. उनके पास टाइमिंग बहुत अच्छी है. शॉट्स पूरे हैं.’

शोएब अख्तर ने कहा, ‘रोहित को आलोचना से गुजरना पड़ा है कि 6-7 साल से खेल रहे हैं और उनके पास टेस्ट क्रिकेट वाली तकनीक नहीं है. असल में मसला ये नहीं है कि उनके पास तकनीक नहीं है, दिक्कत यह है कि वह टेस्ट मैच के प्लेयर बनने चले जाते हैं. वह टेस्ट मैच की तकनीक के अंदर अपने आप को बहुत ज्यादा फंसा लेते हैं.’

शोएब अख्तर ने कहा कि रोहित को सिर्फ वही करना चाहिए जो सहवाग करते थे. उन्होंने कहा, ‘सहवाग क्रीज पर उतरते ही अपने स्वाभाविक खेल पर आ जाते थे और गेंदबाजों की धुलाई शुरू कर देते थे. और आखिरकार रोहित शर्मा को अब यह बात समझ में आ गई कि उन्हें टेस्ट मैचों को भी वनडे की तरह खेलना है. वही वनडे वाला रोहित शर्मा टेस्ट मैच में खेले, तो रन कर जाएगा.’

32 साल के रोहित शर्मा ने कमाल कर दिखाया. साउथ अफ्रीका के खिलाफ विशाखापत्तनम में खेले जा रहे तीन टेस्ट मैचों की सीरीज के पहले टेस्ट में उन्होंने 176 रनों की जबर्दस्त पारी खेली. 244 गेंदों की पारी में उन्होंने 23 चौके और 6 छक्के लगाए. जिस वक्त वो 150 रन बना चुके थे तब लगा कि आज रोहित इतिहास रच के ही मैदान से वापस लौटेंगे लेकिन एक बॉल में वो मिस कर गए और दोहरा शतक लगाने से चूक गए.

Related Posts