सौरव गांगुली ने बताया क्या होगी 2020 में टीम इंडिया के लिए बड़ी चुनौती ?

सौरव गांगुली ने साथ ही आईसीसी इवेंट्स में भारतीय टीम के सेमीफाइनल से आगे ना बढ़ पाने पर भी अपनी बात सामने रखी थी.

टेस्ट क्रिकेट में भारतीय टीम की बादशाहत बनी हुई है. आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप में भारत सबसे आगे है. आईसीसी की टेस्ट रैंकिंग में भारतीय टीम नंबर वन बनी हुई है. टीम इंडिया अपने हर विरोधी पर हावी है. फिर भी बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली को लगता है कि 2020 में भारत को सबसे बड़ी चुनौती ऑस्ट्रेलिया से मिलेगी.

सौरव गांगुली ने हाल ही में एक टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू में कहा कि भारत ने 2018 में ऑस्ट्रेलिया को ऑस्ट्रेलिया में हराया. मैं उम्मीद करता हूं कि टीम इंडिया साउथ अफ्रीका और इंग्लैंड दौरे पर भी जीत हासिल करे. ये एक बड़ा चैलेंज होने वाला है और मैं जानता हूं कि विराट कोहली ने अपने और टीम के लिए जो मापदंड स्थापित किए हैं, वो भी ये जानते होंगें कि 2018 में जिस ऑस्ट्रेलिया को टीम इंडिया ने हराया वो इस पीढ़ी की श्रेष्ठ ऑस्ट्रेलिया टीम नहीं थी. भारत को अगले साल अक्टूबर में ऑस्ट्रेलिया का दौरा करना है. जो कि बहुत ज्यादा दूर नहीं है. वो ऑस्ट्रेलिया टीम काफी अलग होगी.

सौरव गांगुली ने साथ ही आईसीसी इवेंट्स में भारतीय टीम के सेमीफाइनल से आगे ना बढ़ पाने पर भी अपनी बात सामने रखी थी. गांगुली ने कहा कि इस विश्व कप में भारतीय टीम अच्छा खेली लेकिन न्यूजीलैंड के खिलाफ हार गई. इस विषय पर गौर करना होगा. हम कप्तान विराट कोहली, कोच रवि शास्त्री और खिलाड़ियों से बात करेंगे. बड़े मुकाबलों में हो रही इस परेशानी से बाहर निकलना होगा. चाहे ये मानसिक बाधा हो या फिर कुछ और. मैं अभी उम्मीद करता हूं टीम इंडिया इंग्लैंड और साउथ अफ्रीका में टेस्ट मैच जीतें, और एक बेहतर टीम साबित बनें.

सौरव गांगुली चाहते हैं कि भारत 2020 के ऑस्ट्रेलिया दौरे पर मेजबान को मात दे. सौरव गांगुली ने कहा कि भारत के पास शानदार तेज गेंदबाज हैं, स्पिनर्स हैं, विराट कोहली एक चैंपियन खिलाड़ी हैं. अजिंक्य रहाणे पिछले 3-4 महीने से शानदार फॉर्म में हैं. रोहित शर्मा से भी वो काफी उम्मीद करते हैं. भारतीय टीम का टॉप ऑर्डर अगर फॉर्म में होगा तो वो ऑस्ट्रेलिया को हरा सकते हैं.

2018 दौरे पर भारतीय टीम ने 2-1 से ऑस्ट्रेलिया को उसके घर में टेस्ट सीरीज में हराया था. भारतीय इतिहास में पहली बार ये कारनामा विराट कोहली की कप्तानी में हुआ था. उस सीरीज में ऑस्ट्रेलिया टीम में ना डेविड वॉर्नर थे और ना ही स्टीव स्मिथ. एक साल के बॉल टेम्परिंग विवाद की वजह से स्टीव स्मिथ और वॉर्नर ऑस्ट्रेलिया टीम से बाहर थे. स्मिथ की दमदार वापसी और वॉर्नर की मौजूदा फॉर्म के बाद ऑस्ट्रेलिया टीम कहर बरपा रही है. साथ ही साढ़े 15 करोड़ में आईपीएल में आरसीबी की ओर से खरीदे गए ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज पैट कमिंस भी घातक गेंदबाजी कर रहे हैं.

वहीं भारतीय टीम अब तक आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप में अपराजित है. भारत ने अब तक खेले अपने सभी 7 टेस्ट मैच में जीत हासिल की है. आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप की प्वाइंट्स टेबल में टीम इंडिया 360 अंक के साथ बाकि सभी विरोधियों से काफी आगे है.

जिसमें भारत ने 5 टेस्ट घर में खेले हैं और 2 टेस्ट वेस्टइंडीज में खेले थे. ऑस्ट्रेलिया इस तालिका में 256 अंक के साथ दूसरे नम्बर पर है. ऑस्ट्रेलिया ने वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का आगाज एशेज सीरीज से किया था. जिसमें स्टीव स्मिथ की दमदार वापसी के दम पर ऑस्ट्रेलिया 2-2 से इंग्लैंड के खिलाफ एशेज सीरीज ड्रॉ कराने में सफल रही. ऑस्ट्रेलिया ने अब तक वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप में कुल 9 टेस्ट में से 6 में जीत दर्ज की, 2 में हाल झेली और 1 टेस्ट ड्रॉ रहा.

इस वक्त में भारत और ऑस्ट्रेलिया दोनों टीम के पास मैच विनर शामिल हैं. विराट कोहली अपनी टीम को जीत दिलाने के लिए फ्रंट से लीड करते हैं. टिम पेन भी ऑस्ट्रेलिया को मजबूती दे रहे हैं. दोनों ही टीम इस वक्त हर मोर्चे पर मजबूत दिख रही है. जिसके बाद अगले साल ऑस्ट्रेलिया में भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच होने वाली टेस्ट सीरीज को लेकर अभी से चर्चा हो रही है.