खुद के साथ श्रीलंका को भी ले डूबी साउथ अफ्रीका, सेमीफाइनल की रेस हुई और दिलचस्प

इस हार से हालांकि श्रीलंका की सेमीफाइनल में जाने की उम्मीदें खत्म नहीं हुई हैं. पर अब उसे दूसरी टीमों के रिजल्ट पर निर्भर होना होगा.

लंदन. पहले ही सेमीफाइनल की रेस से बाहर हो गई. दक्षिण अफ्रीका ने शुक्रवार को रिवरसाइड मैदान पर खेले गए आईसीसी विश्व कप-2019 के मैच में श्रीलंका को एकतरफा अंदाज में नौ विकेटों से मात दे दी. दक्षिण अफ्रीका ने पहले बल्लेबाजी करने उतरी श्रीलंका को बड़ा स्कोर नहीं करने दिया और 49.3 ओवरों में 203 रनों पर ढेर कर दिया. इस आसान से लक्ष्य को दक्षिण अफ्रीका ने 37.2 ओवरों में एक विकेट खोकर हासिल कर लिया. श्रीलंका की इस हार के साथ सेमीफाइनल में पहुंचने की उम्मीदों को बड़ा झटका लगा है. हालांकि वह अभी भी सेमीफाइनल में पहुंच सकती है, लेकिन इसके लिए उसे दूसरी टीमों के रिजल्ट पर निर्भर करना होगा.

दूसरों पर निर्भर श्रीलंका की किस्मत 

इस हार से हालांकि श्रीलंका की सेमीफाइनल में जाने की उम्मीदें खत्म नहीं हुई हैं. उसके अभी सात मैचों में दो जीत तीन हार और दो रद्द मैचों के बाद छह अंक हैं. उसे अभी दो मैच और खेलने हैं. इन दो मैचों में अगर उसे जीत मिलती है तो उसके 10 अंक होंगे लेकिन उसे पाकिस्तान, बांग्लादेश और इंग्लैंड के मैचों के परिणाम पर भी निर्भर रहना होगा.

दक्षिण अफ्रीका की दूसरी जीत

श्रीलंका को जो एक विकेट मिला वो उसे लसिथ मलिंगा ने दिलाया. मलिंगा ने 31 के कुल स्कोर पर क्विंटन डी कॉक (15) का विकेट लिया, लेकिन इसके बाद कप्ताान फाफ डु प्लेसिस और हाशिम अमला ने आसानी से बल्लेबाजी की और विकेट पर पैर जमाए.  इन दोनों ने दूसरे विकेट के लिए 175 रनों की साझेदारी कर अपनी टीम को इस विश्व कप में दूसरी जीत दिलाई. दक्षिण अफ्रीका के आठ मैचों में दो जीत और पांच हार के बाद पांच अंक हैं और वह आठवें स्थान पर ही है.

ये भी पढ़ें: मोहम्‍मद शमी की किस्‍मत कैसे बदल गई? वर्ल्‍ड कप में हैट्रिक लेने वाले क्रिकेटर ने बताया

दक्षिण अफ्रीका की जीत के हीरो प्रीटोरियस रहे 

इससे पहले, टॉस जीतकर गेंदबाजी चुनने वाली दक्षिण अफ्रीका के गेंदबाज ड्वायन प्रीटोरियस और क्रिस मौरिस ने श्रीलंका को बड़ा स्कोर नहीं करने दिया. अपना दूसरा विश्व कप मैच खेल रहे प्रीटोरियस ने 10 ओवरों में दो मेडेन फेंके और सिर्फ 25 रन खर्च करते हुए तीन विकेट लिए. इसके लिए उन्हें मैन ऑफ द मैच भी चुना गया. क्रिस मौरिस के हिस्से भी तीन विकेट लिए. मौरिस ने 9.3 ओवरों में 46 रन खर्च किए. कागिसो रबाडा ने 10 ओवरों में दो मेडेन के साथ 36 रन देकर दो सफलताएं अर्जित कीं. जे पी ड्यूमिनी ने एक विकेट लिया.

श्रीलंका की बल्लेबाजी विफल 

श्रीलंका के विकेटों के पतन की शुरुआत रबाडा ने की. इस गेंदबाज ने पहली ही गेंद पर श्रीलंकाई कप्तान दिमुथ करुणारत्ने को बोल्ड कर दिया. कुशल परेरा और अविश्क फर्नाडो ने 30-30 रन बनाए और दूसरे विकेट के लिए 67 रनों की साझेदारी की टीम को पटरी पर ला दिया लेकिन जैसे ही यह साझेदारी टूटी श्रीलंका फिर खड़ी नहीं हो पाई.  इस साझेदारी को प्रीटोरियस ने तोड़ा. उन्होंने अपना पहला शिकार फर्नाडो को बनाया और पांच रन बाद वह कुशल को भी आउट कर गए. यहां से श्रीलंका मुसीबत में पड़ गई.

अनुभवी एंजेलो मैथ्यूज का बल्ला टीम को बचाने में फिर नाकाम रहा. मैथ्यूज की 11 रनों की पारी का अंत मौरिस ने 100 के कुल स्कोर पर किया. 23 रन बना चुके कुशल मेंडिंस को प्रीटोरियस ने अपना तीसरा शिकार बनाया और श्रीलंका का स्कोर पांच विकेट के नुकसान पर 111 रन कर दिया. धनंजय डी सिल्वा (24), जीवन मेंडिस (18), थिसारा परेरा (21), इसुरु उदाना (17) ज्यादा कुछ नहीं कर पाए. मौरिस ने लसिथ मलिंगा (4) का विकेट ले श्रीलंका की पारी को समेट दिया.

ये भी पढ़ें: सामने आई टीम इंडिया की नई जर्सी की तस्वीर, इंग्लैंड के खिलाफ पहनकर उतरेगी मैदान में

सेमीफाइनल में रेस 

सबसे पहले बात करते हैं पॉइंट्स टेबल में टॉप पर चल रही टीम ऑस्ट्रेलिया की. ऑस्ट्रेलिया के 7 मैचों में जीत के साथ 12 अंक हैं और वह सेमीफाइनल में पहुंच चुकी है. दूसरे नंबर पर टीम इंडिया के 6 मैचों में 5 जीत के साथ 11 अंक है और सेमीफाइनल में पहुंचने के लिए उसे 3 मैचों में एक जीत चाहिए. न्यूजीलैंड के भी 7 मैचों में 5 जीत के साथ 11 अंक हैं. उसको सेमीफाइनल में पहुंचने के लिए बचे हुए दो मैचों में से एक में जीत दर्ज करनी है. ऑस्ट्रेलिया के साथ इंडिया और न्यूजीलैंड लगभग सेमीफाइनल में पहुंच चुकी हैं. पर चौथी टीम की रेस बड़ी दिलचस्प है.

इंग्लैंड, बांग्लादेश, पाकिस्तान और श्रीलंका चौथे SF स्पॉट के लिए जद्दोजहद करेंगे. इन चारों टीमों ने 7 मुकाबले खेले हैं और इनके 2 मुकाबले बचे हैं. इतने ही मैचों में इंग्लैंड के 8 अंक हैं और उसके बचे हुए मैच मजबूत इंडिया और न्यूजीलैंड के खिलाफ हैं. पाकिस्तान के 7 अंक हैं और उसके बचे हुए मैच कमजोर अफगानिस्तान और बांग्लादेश के खिलाफ है. बांग्लादेश के भी 7 अंक हैं और उसके बचे हुए मैच पाकिस्तान और इंडिया के खिलाफ हैं. चौथी दावेदार श्रीलंका के 6 अंक हैं और उसके बचे हुए मैच इंडिया और वेस्टइंडीज के खिलाफ हैं. इंग्लैंड अगर अपने दोनों मैच जीत जाती है तो उसको सेमीफाइनल में पहुंचने से कोई नहीं रोक सकता. ऐसा में पाकिस्तान, बांग्लादेश और श्रीलंका चाहेगी कि न्यूजीलैंड या इंडिया इंग्लैंड को हरा दे.