विराट कोहली को कप्तान बनाने के तरीके पर भड़के सुनील गावस्कर, मांजरेकर ने दिया ये जवाब

गावस्कर ने एक अखबार में लिखे कॉलम में सेलेक्शन पर गंभीर सवाल उठाए हैं. उन्होंने वर्ल्ड कप फाइनल में नहीं पहुंचने का जिक्र किया और इस आधार पर कोहली के परफॉरमेंस पर सवाल उठाए

अपने जमाने के धाकड़ बल्लेबाज सुनील गावस्कर (Sunil Gavaskar) ने विराट कोहली (Virat Kohli ) को बतौर कप्तान एक्सटेंशन देने के तरीके पर सवाल उठाए हैं. गावस्कर का कहना है कि सेलेक्टर्स की बैठक पहले कप्तान चुनने के लिए होनी चाहिए लेकिन यहां तो पहले से ही तय मान लिया गया कि कोहली ही कप्तान होंगे.

सेलेक्शन कमेटी को लेमडक बताते हुए गावस्कर जम कर बरसे. उन्होंने कहा कि एक तरफ केदार जाधव और दिनेश कार्तिक जैसे बैट्समैन परफॉरमेंस के आधार पर टीम से अंदर – बाहर होते रहते हैं. दूसरी ओर विराट कोहली से परफॉरमेंस पूछने वाला कोई नहीं है. इसके जवाब में संजय मांजरेकर ने ट्वीट कर दिया. मांजरेकर ने कहा कि वो सम्मान के साथ गावस्कर की बात से इत्तेफाक नहीं रखते हैं.

मांजरेकर ने विराट कोहली के निजी बैटिंग परफॉरमेंस के बदले ये गिनाया कि वर्ल्ड कप में टीम इंडिया सिर्फ दो मैच हारी. उन्होंने लिखा कि सात मैचों में जीत कोई कमतर परफॉरमेंस नहीं है.

गावस्कर ने एक अखबार में लिखे कॉलम में सेलेक्शन पर गंभीर सवाल उठाए हैं. उन्होंने वर्ल्ड कप फाइनल में नहीं पहुंचने का जिक्र किया और इस आधार पर कोहली के परफॉरमेंस पर सवाल उठाए. वो कहते हैं, कोहली को सिर्फ वर्ल्ड कप तक के लिए कप्तान बनाया गया था. इसके बाद सेलेक्टर्स कम से कम पांच मिनट की बैठक कर दोबारा उन्हें कप्तान बनाने की घोषणा कर ही सकते थे.

एमएसके प्रसाद की अगुआई में सेलेक्शन कमेटी ने वेस्टइंडीज दौरे के लिए कोहली को ही कप्तान बनाया है. वो तीनों फॉरमेट में टीम इंडिया को लीड करेंगे.