T20 World Cup 2014: जब विराट के बल्ले ने मचाई थी धूम, दक्षिण अफ्रीका को हरा फाइनल में की थी एंट्री

2014 टी20 विश्व कप में भारतीय टीम का सेमीफाइनल मैच साउथ अफ्रीका के खिलाफ 4 अप्रैल को ढाका में खेला गया था. इस मैच में साउथ अफ्रीका ने ने टॉस जीत कर 20 ओवर में 4 विकेट के नुकसान पर 172 रन का स्कोर खड़ा किया था.
t20 world cup 2014, T20 World Cup 2014: जब विराट के बल्ले ने मचाई थी धूम, दक्षिण अफ्रीका को हरा फाइनल में की थी एंट्री

क्रिकेट आंकड़ों का खेल है. यहां इतिहास बनता है, नए कीर्तिमान स्थापित होते हैं. कोई जीत का जश्न मनाता है तो कोई हार से सीखता है. हर मुकाबला खुद को बेहतर करने का मौका देता है. आज 4 अप्रैल है. आज से ठीक 6 साल पहले भारत और साउथ अफ्रीका के बीच टी20 विश्व कप का सेमीफाइनल मैच खेला गया था. इस मैच में भारतीय टीम ने शानदार जीत हासिल कर फाइनल में एंट्री की थी. विराट कोहली ने भारतीय टीम की दमदार जीत में अहम भूमिका निभाई थी.

साउथ अफ्रीका ने दिया था 173 रन का लक्ष्य

2014 टी20 विश्व कप में भारतीय टीम का सेमीफाइनल मैच साउथ अफ्रीका के खिलाफ ढाका में था. इस मैच में प्रोटियाज ने टॉस जीत कर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया था. 20 ओवर में साउथ अफ्रीका ने 4 विकेट के नुकसान पर 172 रन का स्कोर खड़ा किया.

इसमें फॉफ डु प्लेसिस ने 58 रन की शानदार पारी खेली थी. साथ ही जेपी ड्यूमनी ने नाबाद 45 रन की पारी खेलकर साउथ अफ्रीका को सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचाया था. भारत के सामने 173 रन का लक्ष्य था. ये लक्ष्य बड़ा नहीं था. लेकिन टी-20 विश्व कप के सेमीफाइनल मैच का दबाव जरूर टीम पर था.

इस टारगेट को पूरा करने के जरूरी था कि टीम इंडिया के ओपनर अच्छी शुरूआत दें. रोहित शर्मा और अजिंक्य रहाणे के बीच साझेदारी बढ़ ही रही थी कि चौथे ओवर में रोहित शर्मा हैं ब्यूरेन हेंड्रिक्स का शिकार हो गए और 24 रन बनाकर आउट हो गए. रोहित के आउट होने के बाद मैदान पर उतरे विराट कोहली.

देखिए #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

विराट के बल्ले ने मचाई थी धूम

2014 टी-20 विश्व कप में विराट कोहली अच्छी फॉर्म में थे. वो ज्यादातर मौकों पर अपना रोल निभा कर नाबाद लौट रहे थे. सेमीफाइनल मैच में वो चौथे ओवर में ही बल्लेबाजी करने विकेट पर पहुंच चुके थे. विराट पर टीम को रोहित शर्मा के रूप में लगे झटके से उबारने की जिम्मेदारी थी. अपनी जिम्मेदारी को विराट ने बखूबी निभाया भी.

विराट कोहली और अजिंक्य रहाणे ने पारी को आगे बढ़ाया. दोनों के बीच 38 रन की साझेदारी हुई. इसके बाद रहाणे भी पवेलियन लौट गए. 77 रन के स्कोर पर भारत के दोनों सलामी बल्लेबाज आउट हो चुके थे. अब विकेट विराट और 2011 विश्व कप के हीरो युवराज सिंह मौजूद थे.

विराट ने हाथ खोलने शुरू कर दिए थे. दूसरी ओर से युवराज भी विराट का पूरा साथ दे रहे थे. दोनों ने तेजी से रन बटोरने शुरू कर दिए थे. तीसरे विकेट के लिए विराट और युवराज के बीच 56 रन की साझेदारी हुई. युवी के आउट होने के बाद भी विराट क्रीज पर डटे रहे.

इसके बाद रैना ने तूफानी शॉट्स खेलने शूरू किए. रैना ने 10 गेंद पर 21 रन की ताबड़तोड़ पारी खेली. इसमें 3 चौके और एक छक्का शामिल था. रैना के आउट होने के बाद भी विराट क्रीज पर जमे रहे. इसके बाद धोनी मैदान पर आए. लेकिन उन्हें सिर्फ 1 ही गेंद खेलने को मिली जिसपर वो कोई रन नहीं बना पाए.

19वें ओवर की पहली गेंद पर विराट ने चौका लगाकर भारतीय टीम को जीत दिलाई थी. विराट कोहली ने 164 की स्ट्राइक रेट से बल्लेबाजी करते हुए नाबाद 72 रन की शानदार पारी खेलकर टीम इंडिया को टी20 विश्व कप के फाइनल में पहुंचाया था.

इसी के साथ प्रोटियाज का फाइनल में पहुंचने का सपना भी विराट के बल्ले ने तोड़ दिया था. शानदार बल्लेबाजी के लिए विराट को मैन ऑफ द मैच के खिताब से सम्मानित भी किया गया था. सेमीफाइनल मैच में भारतीय टीम ने साउथ अफ्रीका को 6 विकेट से हराकर फाइनल में जगह बनाई थी. भारत ने 5 गेंद रहते ही जीत हासिल की थी. 2007 टी20 विश्व कप के बाद पहली बार भारतीय टीम 2014 टी-20 विश्व कप के फाइनल में पहुंची थी.

देखिए NewsTop9 टीवी 9 भारतवर्ष पर रोज सुबह शाम 7 बजे

Related Posts