india vs west indies final, सीरीज जीतने के लिए टीम इंडिया को इन चुनौतियों से निपटना होगा
india vs west indies final, सीरीज जीतने के लिए टीम इंडिया को इन चुनौतियों से निपटना होगा

सीरीज जीतने के लिए टीम इंडिया को इन चुनौतियों से निपटना होगा

कप्तान विराट कोहली का पिछले दो मैच में नहीं चलना फिक्र बढ़ाने वाली है. कोहली, चेन्नई वनडे में 4 रन और विशाखापत्तनम वनडे में बिना खाता खोले आउट हो गए थे.
india vs west indies final, सीरीज जीतने के लिए टीम इंडिया को इन चुनौतियों से निपटना होगा

वेस्टइंडीज के खिलाफ हो रही वनडे सीरीज का फैसला, अब कटक में 22 दिसंबर को होने वाले तीसरे और आखिरी वनडे में होगा. पिछले मैच में टीम इंडिया ने धमाकेदार जीत के साथ वापसी करते हुए फिलहाल सीरीज 1-1 से बराबर कर ली है .

दूसरे मैच में टीम इंडिया के लिए नई चुनौती नहीं है, लेकिन चुनौती टॉप आर्डर और मिडिल आर्डर को अपने फॉर्म को बरकरार रखने की होगी. एक फिक्र कप्तान विराट कोहली के लगातार दो मैचों में फेल होने को लेकर भी है, क्योंकि अगर विराट का बल्ला चलता है, तो फिर जीत की गांरटी होती है.

वेस्टइंडीज के खिलाफ वनडे सीरीज के पहले दो मुकाबले में एक बात साफ हो गई है टीम इंडिया को अगर जीतना है तो उसके टॉप ऑर्डर का रन बनाना जरूरी है. टॉप ऑर्डर बल्लेबाजों में से किसी एक बल्लेबाज का बड़ा स्कोर करना बहुत जरूरी है.

पहले वनडे में रोहित शर्मा, के एल राहुल और कप्तान विराट कोहली सस्ते में आउट हो गए, इसके बाद मिडिल आर्डर जो कि बहुत दिनों बाद रंग में दिखा तो था लेकिन विपक्षी टीम के सामने वैसी चुनौती पेश नहीं कर पाया, जिसके दम पर गेंदबाज जीत दिला सकें.

india vs west indies final, सीरीज जीतने के लिए टीम इंडिया को इन चुनौतियों से निपटना होगा

चेन्नई में खेले पहले वन डे में टीम इंडिया वेस्टइंडीज को 288 रनों का लक्ष्य दिया था. नतीजा, टीम को हार मिली.

इसके उलट, विशाखापत्तनम वनडे में टीम इंडिया के दोनों ओपनर्स, रोहित शर्मा, और केएल राहुल ने न सिर्फ शतक लगाया, बल्कि 227 रनों की रिकॉर्ड साझेदारी की. मजबूत नींव पर टीम इंडिया ने 387 रनों का विशाल स्कोर बनाने में सफल हुई थी.

इतना विशाल स्कोर करने के बावजूद वेस्टइंडीज के बल्लेबाजों ने टीम इंडिया को कड़ी टक्कर दी थी. मौजूदा दौर की वनडे क्रिकेट में 300 से कम स्कोर सुरक्षित नहीं माना जाता है, ऐसे में टीम इंडिया को तीसरे वन डे में भी अपनी बल्लेबाजी की लय में बनाए रखनी होगी.

टीम के लिए राहत की बात ये है कि मिडिल आर्डर ने पिछले दोनों मैच में अच्छा किया है. श्रेयस अय्यर ने पिछले दोनों मैच में अर्धशतक लगाए हैं. जबकि पंत ने पहले मैच में 71 और दूसरे वनडे में ताबड़तोड़ 16 गेंद में 39 रनों की पारी खेली थी.

कोहली के बल्ले की खामोशी फिक्र बढ़ाने वाली
टीम इंडिया के लिए कप्तान विराट कोहली का पिछले दो मैच में नहीं चलना फिक्र बढ़ाने वाली है. कोहली, चेन्नई वनडे में 4 रन और विशाखापत्तनम वनडे में बिना खाता खोले आउट हो गए थे. विराट कोहली की बड़ी पारी टीम इंडिया की जीत की गारंटी होती है.

india vs west indies final, सीरीज जीतने के लिए टीम इंडिया को इन चुनौतियों से निपटना होगा

कोहली ने वनडे में जो पिछला दो शतक लगाया था, वो भी उन्होंने आज से 5 महीने पहले वेस्टइंडीज दौरे में लगाया था. उस दौरे में कोहली ने 120 और नाबाद 114 रनों की पारी खेली थी.

ये दोनों शतक कोहली ने 11 वनडे के बाद लगाए थे. कोहली का लंबे समय तक आउट ऑफ फॉर्म रहना टीम इंडिया के लिए घातक साबित हो सकता है.

वेस्टइंडीज के 3 बल्लेबाजों से सावधान
टीम इंडिया को वेस्टइंडीज के शिमरॉन हेटमायर, साई होप और निकोलस पूरन से सावधान रहना होगा, ये तीनों बल्लेबाज ऐसे हैं, जो फॉर्म में हैं और अगर ये चल निकले तो कोई भी लक्ष्य हासिल करने की काबिलियत रखते हैं.

पहले वनडे में शिमरॉन हेटमायर और साई होप ने शतक लगाकर अकेले वेस्टइंडीज को मैच जीता दिया था. चेन्नई में खेले गए पहले वनडे में हेटमायर ने 106 गेंद में 139 रन बनाए थे. जबकि साई होप ने 102 रन बनाकर नाबाद रहे थे.

विशाखापत्तनम वनडे में हेटमायर ‘अनलकी’ साबित हुए और 4 रन बनाकर रन आउट हो गए थे, लेकिन साई होप और निकोलस पूरन ने दिखा दिया था, कि वो 350 के स्कोर को भी हासिल कर सकते हैं, दूसरे वन डे में साई होप 78 रन और निकोलस पूरन ने 75 रन की पारी खेली थी.

india vs west indies final, सीरीज जीतने के लिए टीम इंडिया को इन चुनौतियों से निपटना होगा

भारत के पक्ष में कटक का रिकॉर्ड 
कटक में वेस्टइंडीज के खिलाफ भारत का रिकॉर्ड काफी अच्छा रहा है. कटक में दोनों टीमों के बीच अब तक 3 वनडे मैच खेले गए हैं, और तीनों ही मैच भारत ने जीता है. कटक में इन तीन मुकाबलों में भारत ने दो बार दूसरी बार बल्लेबाजी कर मैच जीता है.

टीम इंडिया ने विश्व कप के बाद पहली वनडे सीरीज वेस्टइंडीज में खेली थी, उसके बाद ये दूसरी वनडे सीरीज भी वेस्टइंडीज के खिलाफ हो रही है. वेस्टइंडीज को टीम इंडिया ने तो उसी के घर में हराया था.

टेस्ट की नंबर वन टीम टीम इंडिया को अगर वनडे में भी नंबर वन टीम बनना है तो ये सीरीज जीतनी ही होगी. फिलहाल टीम इंडिया वनडे में नंबर दो टीम है. संडे को सुपर जीत का इंतजार क्रिकेट फैंस को है.

ये भी पढ़ें-

IPL 2020: नीलामी में ऑस्ट्रेलिया का बोलबाला, पीयूष चावला सबसे महंगे भारतीय खिलाड़ी

आईपीएल 13 के लिए हुई नीलामी से जुड़े हर सवाल का जवाब मिलेगा यहां

india vs west indies final, सीरीज जीतने के लिए टीम इंडिया को इन चुनौतियों से निपटना होगा
india vs west indies final, सीरीज जीतने के लिए टीम इंडिया को इन चुनौतियों से निपटना होगा

Related Posts

india vs west indies final, सीरीज जीतने के लिए टीम इंडिया को इन चुनौतियों से निपटना होगा
india vs west indies final, सीरीज जीतने के लिए टीम इंडिया को इन चुनौतियों से निपटना होगा