2021 में भी Tokyo Olympic के पक्ष में नहीं हैं वहां रहने वाले लोग, जानिए क्या है वजह

लोगों की राय में या तो टोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympic) को और टाला जाना चाहिए या इसे रद्द कर देना चाहिए. जापान के दो समाचार पत्रों ने इस सर्वे को प्रकाशित भी किया है.
Tokyo People not in favor of Olympics, 2021 में भी Tokyo Olympic के पक्ष में नहीं हैं वहां रहने वाले लोग, जानिए क्या है वजह

टोक्यो में रहने वाले आधे से ज़्यादा लोगों को 2021 में ओलंपिक (Tokyo Olympics 2021) खेलों की मेज़बानी का फ़ैसला ग़लत लगता है. लोगों की राय में या तो टोक्यो ओलंपिक को और टाला जाना चाहिए या इसे रद्द कर देना चाहिए. जापान के दो समाचार पत्रों ने इस सर्वे को प्रकाशित भी किया है. जिसमें 51.7 फ़ीसदी लोगों ने ओलंपिक खेलों को स्थगित करने या टाले जाने के पक्ष में वोट दिया है.

इसके अलावा 46.3 फ़ीसदी लोग चाहते हैं कि ओलंपिक खेलों का आयोजन किया जाए. जिन 51.7 फ़ीसदी लोगों ने ओलंपिक न कराए जाने की इच्छा ज़ाहिर की है, उसमें 27.7 फ़ीसदी लोग ऐसे हैं जो चाहते हैं कि टोक्यो ओलम्पिक को इस बार रद्द कर दिया जाना चाहिए. जबकि 24 फ़ीसदी लोग ऐसे हैं जो चाहते हैं इन खेलों को अभी और टाला जाना ज़रूरी है.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

ओलंपिक खेलों के चाहने वालों के लिए झटका

दुनिया भर में ओलंपिक खेलों के आयोजन का बेसब्री से इंतज़ार कर रहे लोगों के लिए ये सर्वे आंख खोल देने वाला है. दरअसल, हाल ही में मेडिकल एक्सपर्ट्स ने ये कहा था कि एक साल की देरी के बाद भी स्थितियां ओलंपिक खेलों के आयोजन के लिए सुरक्षित नहीं होगी. यह सर्वे इसके बाद ही कराया गया था.

आपको याद दिला दें कि टोक्यो ओलंपिक का आयोजन इस साल 24 जुलाई से होना था. लेकिन कोरोना (Coronavirus) के संक्रमण की वजह से इसे एक साल के लिए इंटरनेशनल ओलंपिक कमेटी ने टाल दिया था. इंटरनेशनल ओलंपिक कमेटी से पहले ही जापान के प्रधानमंत्री ने भी खेलों के टाले जाने के संकेत दे दिए थे. हालांकि ये भी सच है कि कोरोना के शुरुआती दिनों में जापान ने कहा था कि ओलम्पिक खेलों को टालने का कोई प्रश्न नहीं है. लेकिन लगातार बढ़ते संक्रमण ने उन्हें फ़ैसला बदलने पर मजबूर कर दिया.

आसान नहीं होगी हज़ारों एथलीट्स की मेज़बानी

इस बात में कोई दो राय नहीं कि कोरोना की वजह से पैदा हुए हालात के बाद हज़ारों एथलीट्स की मेज़बानी आयोजकों के लिए बेहद चुनौती भरी रहेगी. टोक्यो ओलंपिक में 200 से ज़्यादा देशों के तक़रीबन 12,000 एथलीट्स के शामिल होने की संभावना है. हज़ारों एथलीटों के रहने, खाने और स्टेडियम तक आने-जाने की व्यवस्था करना आसान नहीं होगा.

इंटरनेशनल ओलंपिक कमिटी ने टोक्यो ओलंपिक की नई तारीख़ अगले साल 23 जुलाई से 8 अगस्त तय की थी. आपको बताते चलें कि जापान में अब तक 18,000 से ज़्यादा लोगों को कोरोना संक्रमित पाया गया है. इसमें से क़रीब एक हज़ार लोगों की मौत हो चुकी है. अकेले टोक्यों में संक्रमित लोगो की तादाद 6 हज़ार से ज़्यादा है. जिसमें 300 से ज़्यादा लोगों की मौत भी हो चुकी है.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

Related Posts