फिर बढ़ सकती हैं उमर अकमल की मुश्किलें, बैन कम किए जाने के फैसले के खिलाफ अपील करेगा PCB

उमर अकमल (Umar Akmal) पर पाकिस्तान सुपर लीग में कथित सट्टेबाजों से हुई मुलाक़ात को एंटी करप्शन यूनिट को न बताने का आरोप था.
Umar Akmal Ban, फिर बढ़ सकती हैं उमर अकमल की मुश्किलें, बैन कम किए जाने के फैसले के खिलाफ अपील करेगा PCB

उमर अकमल (Umar Akmal) के लिए एक बार फिर मुश्किलें बढ़ सकती हैं. पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (Pakistan Cricket Board) ने उमर अकमल पर लगे बैन को कम करने के फैसले के खिलाफ स्विस कोर्ट ऑफ आर्बिट्रेशन फॉर स्पोर्ट्स में अपील कर दी है. पाकिस्तान (Pakistan) क्रिकेट बोर्ड की तरफ से कहा गया है कि उमर अकमल जैसा अनुभवी खिलाड़ी जब किसी भष्ट्राचार के मामले में बैन किया जाए तो ये बोर्ड के लिए गर्व की बात नहीं है लेकिन एक सम्मानित और विश्वसनीय संस्था के तौर पर हम सभी स्टेकहोल्डर्स को साफ संदेश देना चाहते हैं कि नियम तोड़ने वालों के खिलाफ किसी तरह की ‘सिंपैथी’ नहीं है.

उमर अकमल का मामला पाकिस्तान क्रिकेट में इन दिनों लगातार चर्चा में है. पिछले दिनों उनके बैन के कम किए जाने के बाद दानिश कनेरिया ने पीसीबी को सवालों के कटघरे में खड़ा किया था.

दानिश कनेरिया ने पीसीबी की नीयत पर उठाए थे सवाल

इससे पहले पाकिस्तान के पूर्व स्पिनर दानिश कनेरिया ने पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड को जमकर लताड़ लगाई थी. उन्होंने सवाल किया था कि पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड की ज़ीरो टॉलरेंस पॉलिसी कहां गई, अगर उमर अकमल का बैन 3 साल से घटाकर 18 महीने का कर दिया गया? इसके अलावा मोहम्मद आमिर, मोहम्मद आसिफ़ और सलमान बट्ट को भी वापसी का मौक़ा मिला था फिर मुझे क्यों छोड़ दिया गया? दानिश कनेरिया ने कहा था कि- “जब सभी खिलाड़ियों को रियायत मिलती है तो मुझे क्यों नहीं? PCB ने कहा कि मैं अपने हिंदू होने की बात करता हूँ लेकिन मैंने ये भेदभाव की बात इसलिए की थी क्योंकि वो बिलकुल साफ़ दिखाई दे रहा है. उन्होंने ये भी कहा था कि उनके बाद कोई भी हिंदू खिलाड़ी पाकिस्तान की टीम से नहीं खेला. “मैं ये मानने को तैयार नहीं हूं एक भी हिंदू खिलाड़ी इस लायक़ नहीं था कि उसे पाकिस्तान की टीम में खेलने का मौक़ा मिलता और उसके बाद मेरे ऊपर ‘रिलिजन कार्ड’ खेलने का आरोप लगाते हैं”.

अकमल ने पीएसएल में कथित सट्टेबाज़ों से मुलाक़ात की जानकारी छुपाई थी

उमर अकमल पर पाकिस्तान सुपर लीग में कथित सट्टेबाजों से हुई मुलाक़ात को एंटी करप्शन यूनिट को न बताने का आरोप था. इसकी जांच प्रक्रिया में सहयोग न देने की वजह से अकमल पर तीन साल का बैन लगा दिया गया था. इस बैन के बाद उमर अकमल के बड़े भाई और पाकिस्तानी क्रिकेटर कामरान अकमल समेत कई खिलाड़ियों ने ये कहा था कि उमर अकमल के ख़िलाफ़ सजा कुछ ज़्यादा ही सख़्त है. उमर अकमल ने इस सजा के ख़िलाफ़ बाद में अपील की थी. इस अपील पर सुनवाई के बाद स्वतंत्र न्यायाधीश फ़क़ीर मोहम्मद खोखर ने मंगलवार को अकमल का बैन 3 साल से घटाकर 18 महीने का कर दिया था. जिसके खिलाफ अब पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड अपील करेगा.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

Related Posts