आखिरी बार उठी अंपायर इयान गूल्ड की उंगली, भारत-श्रीलंका मुकाबले के बाद लिया संन्यास

इंग्लैंड के लिए वर्ल्ड कप में विकेटकीपिंग कर चुके इयान गूल्ड ने अंपायरिंग से की संन्यास की घोषणा.

ICC ने शनिवार को ये जानकारी दी कि, भारत और श्रीलंका के बीच शनिवार हो हुए मुकाबले के बाद अंपायर इयान गूल्ड अंपायरिंग से संन्यास ले लेंगे. इंग्लैंड के  गूल्ड ने अपने करियर में 74 टेस्ट, 140 वनडे और 37 T20 मैच में अंपायरिंग की है.

गूल्ड ने अपने करियर में 4 ICC विश्व कप में अंपायरिंग की है. उन्होंने 2011 वर्ल्ड कप में भारत-पाकिस्तान के बीच मोहाली में हुए सेमीफाइनल मुकाबले में भी अंपायरिंग की थी. अपने खेलने के समय में गूल्ड एक अच्छे विकेटकीपर के रूप में पहचान रखते थे. उन्होंने 1983 में ODI क्रिकेट में डेब्यू किया और इसी साल में उन्होंने संन्यास भी ले लिया. उन्होंने कुल 18 ODI मुकाबले खेले. इसके बाद वो मिडिलसेक्स काउंटी के कोच बने. 1983 वर्ल्ड कप में वो इंग्लैंड टीम के विकेटकीपर थे. उन्होंने कुल मिलकर 600 लिस्ट ए और फर्स्ट क्लास मैच खेले हैं.

गूल्ड ने ससेक्स और मिडिलसेक्स के साथ क्रिकेट खेलने के साथ ही न्यूजीलैंड में भी क्रिकेट खेला. लेकिन वह अंपायरिंग ही थी जिसने उन्हें अधिक पहचान दिलाई. 61 साल के अंपायर गूल्ड ने T20 अंतर्राष्ट्रीय में 13 साल पहले इंग्लैंड और श्रीलंका के बीच खेले गए मुकाबले से अपना डेब्यू किया था. इसके पांच साल बाद उन्होंने ODI में भी डेब्यू इन्ही दोनों टीमों के बीच हुए मैच से किया था. इसी साल उन्होंने अपने पहले वर्ल्ड कप में अंपायरिंग की. उनको ICC के इलीट अंपायर पैनेल में इससे दो साल पहले जगह मिली थी. उन्होंने साउथ अफ्रीका में हुए 2009 चैंपियंस ट्राफी के फाइनल में अंपायरिंग की थी.

ये भी पढ़ें: IND vs SL: मैच के दौरान “Justice For Kashmir” का बैनर लहराते हुए उड़ा विमान

ये भी पढ़ें: World Cup: दक्षिण अफ्रीका ने ऑस्ट्रेलिया को हराया, सेमीफाइनल मुकाबले हुए तय