विराट के बल्ले और गेंदबाजों के हल्ले के आगे पस्त बांग्लादेश

कोलकाता टेस्ट के पहले 4 दिन के करीब 70 हजार टिकट पहले ही बिक चुके हैं. जिसकी एक वजह विराट भी हैं. विराट के फैंस दुनिया भर में हैं. उनकी बढ़ती लोकप्रियता का क्रेडिट उनकी शानदार बल्लेबाजी है. जो लगातार देखने को मिल रही है.

कोलकाता टेस्ट के दूसरे दिन भारतीय टीम ने 347 रन पर 9 विकेट खोकर पारी घोषित की. इस दौरान विराट ने कप्तानी पारी खेलते हुए शतक लगाया. बांग्लादेश के खिलाफ भारत ने 241 रन की बढ़त ली. जिसके बाद कप्तान विराट के भरोसे पर लगातार खरे उतर रहे भारतीय गेंदबाज एक बार फिर बांग्लादेश के बल्लेबाजी का काल बनकर सामने आए. पहली पारी में 5 विकेट लेने वाले तेज गेंदबाज ईशांत ने दूसरी पारी में भी अपना कहर जारी रखा और दूसरी पारी के पहले ओवर में बांग्लादेश को बिना खाता खोले पहला झटका शदमन इस्लाम के रूप में दे दिया.

इससे पहले कि मेहमान टीम संभलती ईशांत ने तीसरे ओवर में ही मोमिनुल हक को पवेलियन रवाना कर दिया. उस वक्त बांग्लादेश का स्कोर 2 रन पर 2 विकेट था. ईशांत ने दूसरे दिन का खेल खत्म होने तक अपने खाते में 4 विकेट जोड़ लिए. ईशांत के अलावा उमेश ने भी 2 विकेट लिए. दूसरे दिन का खेल खत्म होने तक बांग्लादेश का स्कोर 152/6 है. भारत के पास अभी 89 रन की बढ़त है. भारतीय गेंदबाजों की शानदार फॉर्म को देखते हुए लग रहा है कि बांग्लादेश के आखिरी चार विकेट गिराने के लिए टीम इंडिया को तीसरे दिन ज्यादा वक्त नहीं लगेगा.

गुलाबी गेंद से खेले जा रहे कोलकाता टेस्ट में विराट कोहली ने अपने फैंस की इच्छा पूरी की. ईडन गार्डन्स में विराट कोहली एक बार फिर अपने शतकवीर किरदार में दिखाई दिए. बांग्लादेश के खिलाफ कोलकाता टेस्ट मैच में भारतीय कप्तान क्रीज पर ऐसे जमे कि विरोधी गेंदबाज बस हाथ मलते दिखाई दिए. गुलाबी गेंद विराट के बल्ले पर ऐसी सेट हुई कि वो उस पर कभी स्ट्रेट ड्राइव लगाते तो कभी कवर ड्राइव.

रिकॉर्ड तोड़ विराट का करिश्मा

बांग्लादेश के खिलाफ इंदौर टेस्ट में जीरो पर पवेलियन लौटने वाले विराट कोहली को कोलकाता टेस्ट का बेसब्री से इंतजार था. भारत के पहले डे-नाइट टेस्ट में जहां गुलाबी गेंद सभी के लिए सस्पेंस बनी हुई थी. उसे पहली बार में ही विराट पढ़ गए. विराट ने इस ऐतिहासिक टेस्ट में बांग्लादेश के खिलाफ 136 रन की शतकीय पारी खेली. जिसमें उन्होंने 18 चौके लगाए. ये विराट के टेस्ट करियर का 27वां शतक है. इसके साथ विराट पिंक बॉल से शतक जड़ने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी भी बन गए हैं. इस शतक के साथ विराट ने बतौर कप्तान शतक जमाने के मामले में पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान रिकी पॉन्टिंग को भी पीछे छोड़ दिया है.

बतौर कप्तान विराट का ये 20वां टेस्ट शतक है. इस लिस्ट में साउथ अफ्रीका के पूर्व क्रिकेटर ग्रीम स्मिथ टॉप पर हैं. जिन्होंने बतौर कप्तान 109 टेस्ट मैचों में 25 शतक लगाए थे. सिर्फ इतना ही नहीं. विराट 5000 टेस्ट रन बनाने वाले इकलौते भारतीय और पहले एशियाई कप्तान भी बने. विराट ने बतौर कप्तान अपने टेस्ट करियर की 86वीं पारी में ही ये मुकाम हासिल किया है.

विराट कोहली विश्व क्रिकेट में परफेक्शन का दूसरा नाम बन चुके हैं. क्रिकेट का कोई भी स्वरूप हो विराट का बल्ला इस फर्क को परिपक्व तरीके से भांपता भी है और फिर रनों की बरसात भी करता है. टेस्ट क्रिकेट में घटती दर्शकों की भीड़ को फिर से स्टेडियम में लाने वाले खिलाड़ियों में विराट कोहली का नाम शान से लिया जाता है.

कोलकाता टेस्ट के पहले 4 दिन के करीब 70 हजार टिकट पहले ही बिक चुके हैं. जिसकी एक वजह विराट भी हैं. विराट के फैंस दुनिया भर में हैं. उनकी बढ़ती लोकप्रियता का क्रेडिट उनकी शानदार बल्लेबाजी है. जो लगातार देखने को मिल रही है. अब कोलकाता टेस्ट में भारत पूरी तरह बांग्लादेश पर हावी है. पहले भारतीय गेंदबाजों ने अपना जलवा दिखाया. उसके बाद विराट ने कप्तानी पारी खेलकर बांग्लादेश की कमर तोड़ी. कुल मिलाकर दुनिया भर की टीमों के लिए संदेश बहुत साफ है- इस वक्त टेस्ट क्रिकेट में भारतीय टीम का कोई मुकाबला नहीं.

ये भी पढ़ें: आखिर बढ़ने की जगह घट क्यों रही है नसीम शाह की उम्र, शोएब अख्तर ने किया बड़ा खुलासा