ऑस्ट्रेलिया दौरे पर विराट फिर से लहराएं जीत का परचम – सौरव गांगुली

सौरव गांगुली ने कहा, 'ये एक मुश्किल सीरीज होगी. ये 2018 की तरह नहीं होगी जब भारत ने ऑस्ट्रेलिया का दौरा किया था. इस बार ऑस्ट्रेलिया की टीम काफी मजबूत है लेकिन हमारी टीम भी बहुत अच्छी है. हमारी बल्लेबाजी और गेंदबाजी दोनों बेहतर हैं.'
Sourav Ganguly on Virat Kohli, ऑस्ट्रेलिया दौरे पर विराट फिर से लहराएं जीत का परचम – सौरव गांगुली

कोरोनावायरस महामारी की वजह से भारतीय क्रिकेट टीम पिछले चार महीने से घर में है. अभी कुछ वक्त और टीम इंडिया को घर में ही रहना होगा. इसके बाद भारतीय टीम साल के आखिर में ऑस्ट्रेलिया का दौरा करेगी. जहां भारत को मेजबान ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट, वनडे और टी20 सीरीज खेलनी है.

इस दौरे को लेकर पिछले काफी वक्त से चर्चाएं चल रही है. अब BCCI अध्यक्ष और पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली ने भी इस दौरे पर टीम से अपनी उम्मीदें जाहिर की हैं. गांगुली ने कहा कि वो चाहते हैं भारतीय टीम फिर से ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज अपने नाम करे. इसके लिए उन्होंने विराट कोहली से भी बात की है.

कोहली से विराट प्रदर्शन की उम्मीद

टीम इंडिया बेशक अपने घर में है. लेकिन खिलाड़ी अपनी फिटनेस पर लगातार काम कर रहे हैं. खासकर कप्तान कोहली के वर्कआउट वीडियो आए दिन सोशल मीडिया पर सुर्खियां बटोरते दिखाई देते हैं. सौरव गांगुली ऑस्ट्रोलिया दौरे को लेकर कोहली से उनकी स्तर के प्रदर्शन की उम्मीद कर रहे हैं.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

गांगुली ने कहा, ‘मैंने विराट से भी कहा है कि वो ऑस्ट्रेलिया में जीत दोहराएं. क्योंकि वो विराट कोहली हैं. उनका स्तर काफी ऊंचा है. जब वो मैदान पर जाते हैं. जब वो टीम के साथ मैदान पर उतरते हैं तो मैं उन्हें देखता हूं. मैं नहीं चाहता कि आप ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सिर्फ बेहतर ही खेले. मैं चाहता हूं कि आप वहां जीत हासिल करें. मेरे लिए यही बात है. क्योंकि आपने अपना स्तर खुद ऊंचा उठाया है. किसी और ने नहीं. इसलिए आपको उपने स्तर पर खरा उतरना होगा.’

उन्होंने आगे कहा, ‘मैंने विराट से बात की थी और कहा था कि आपको अपनी फिटनेस कायम रखनी है. आपने 6 महीने क्रिकेट नहीं खेला. ऐसे में आप नहीं चाहेंगे कि आपके तेज गेंदबाज आएं और चोटिल हो जाएं. वो ट्रेनिंग कर रहे हैं. लेकिन ट्रेनिंग करना और क्रिकेट खेलना दोनों अलग चीजें हैं. आपको ये सुनिश्चित करना है कि आपके बेस्ट गेंदबाज दौरे के लिए पूरी तरह से फिट हो. चाहे वो बुमराह, शमी, ईशांत या फिर हार्दिक पांड्या हों. उन्हें ऑस्ट्रेलिया पहुंचने से पहले अपनी मैच फिटनेस बरकरार रखनी होगी.’

इस बार होगी कड़ी चुनौती

भारत ने 2018 दौरे पर ऑस्ट्रेलिया को उसी के घर में 2-1 टेस्ट सीरीज में हराकर इतिहास रचा था. हालांकि उस वक्त ऑस्ट्रेलिया की टीम में डेविड वॉर्नर और स्टीव स्मिथ नहीं थे. क्योंकि बॉल टेंपरिंग विवाद की वजह से उनपर प्रतिबंध लगा हुआ था. लेकिन अब ऑस्ट्रेलिया मजबूत दिख रहा है. सौरव गांगुली ने कहा, ‘ये एक मुश्किल सीरीज होगी. ये 2018 की तरह नहीं होगी जब भारत ने ऑस्ट्रेलिया का दौरा किया था. इस बार ऑस्ट्रेलिया की टीम काफी मजबूत है लेकिन हमारी टीम भी बहुत अच्छी है. हमारी बल्लेबाजी और गेंदबाजी दोनों बेहतर हैं.’

Related Posts