“सचिन तेंदुलकर के सारे रिकॉर्ड तोड़ देंगे विराट कोहली, सिर्फ ये वाला बचा रह जाएगा”

सचिन ने वनडे में 44.83 के औसत से रन बनाए हैं, जब कि कोहली 239 वनडे की 60.31 के चमत्‍कारी औसत से रन बना रहे हैं.

विराट कोहली और सचिन तेंदुलकर की तुलना क्रिकेट प्रेमियों का पसंदीदा शगल है. क्रिकेट के अधिकतर रिकॉर्ड सचिन के नाम है, जिनपर धीरे-धीरे कोहली कब्‍जा करते जा रहे हैं. ऐसे में दोनों के साथ बल्‍लेबाजी करने वाली वीरेंद्र सहवाग ने कहा है कि विराट क्रिकेट का हर रिकॉर्ड तोड़ सकते हैं, पर सचिन का एक रिकॉर्ड है जो कोहली नहीं तोड़ पाएंगे.

सहवाग ने एक वेबसाइट से बातचीत में कहा, “इस समय विराट कोहली बेस्‍ट बैट्समैन हैं. जिस तरह वो शतक बना रहे हैं, रन बना रहे हैं, वो बेस्‍ट हैं. मुझे लगता है कि वह सचिन तेंदुलकर के ज्‍यादातर रिकॉर्ड्स तोड़ देंगे. उनका (सचिन) सिर्फ एक रिकॉर्ड जो कोई नहीं तोड़ सकता है, वो है 200 टेस्‍ट मैचों का रिकॉर्ड. मुझे नहीं लगता कि अब कोई 200 से ज्‍यादा टेस्‍ट मैच खेल सकता है.”

वनडे में तेंदुलकर के बेहद करीब हैं कोहली

विराट कोहली के नाम 43 वनडे सेंचुरी हैं और उन्‍हें तेंदुलकर का रिकॉर्ड तोड़ने के लिए सिर्फ 7 शतकों की जरूरत है. तेंदुलकर के नाम 463 वनडे मैचों में 49 शतक हैं. पूरे कॅरियर की बात करें तो सचिन ने वनडे में 44.83 के औसत से रन बनाए हैं, जब कि कोहली 239 वनडे की 60.31 के चमत्‍कारी औसत से रन बना रहे हैं.

टेस्‍ट्स में विराट ने 77 टेस्‍ट मैचों में 25 शतक लगाए हैं. सचिन तेंदुलकर के नाम 200 टेस्‍ट की 329 पारियों में 51 शतक दर्ज हैं. टेस्‍ट में बहुत से फैंस ऑस्‍ट्रेलियाई बल्‍लेबाज स्‍टीव स्मिथ को विराट से बेहतर बल्‍लेबाज बताते हैं. हालांकि सहवाग को लगता है कि कोहली ज्‍यादा दर्शनीय हैं.

सहवाग का मानना है कि पूर्व लेग स्पिनर अनिल कुंबले को टीम का मुख्य चयनकर्ता बनना चाहिए. सहवाग ने कहा, “कुंबले कप्तान बने थे तब वह मेरे रूम में आए और कहा ‘आप जैसे खेलते हो वैसे ही खेलो क्योंकि आप अगली दो सीरीज तक टीम से नहीं निकाले जाओगे. इससे मुझे बहुत आत्मविश्वास मिला. मुझे लगता है कि कुंबले मुख्य चयनकर्ता के पद के लिए सही उम्मीदवार होंगे.”

ये भी पढ़ें

नाम और नंबर वाली नई टेस्ट जर्सी पहनकर वेस्टइंडीज के खिलाफ उतरेगी टीम इंडिया, देखें तस्वीरें

टेस्‍ट सीरीज में विराट कोहली तोड़ देंगे MS धोनी, र‍िकी पोंटिंग के ये रिकॉर्ड्स?