आशीष नेहरा को याद आया पाकिस्तान के खिलाफ उनकी स्लेजिंग का एक पुराना किस्सा

आशीष नेहरा (Ashish Nehra) ने कहा कि – ‘इसमें कोई शक नहीं है शोएब अख्तर (Shoaib Akhtar) एक बहुत अच्छे दोस्त भी हैं. आज भी 3-4 महीनों में, हम एक-दूसरे को मैसेज करते हैं और ये सिलसिला चलता रहता है’.

When Shoaib Akhtar sledged Ashish Nehra, आशीष नेहरा को याद आया पाकिस्तान के खिलाफ उनकी स्लेजिंग का एक पुराना किस्सा
भारत और पाकिस्तान (India-Pakistan) के संबंध इन दिनों तनावपूर्ण हैं. पिछले करीब सात साल से दोनों देशों के बीच कोई बाइलेट्रल क्रिकेट सीरीज नहीं खेली गई. दोनों टीम सिर्फ ICC टूर्नामेंट या एशिया कप में ही आमने-सामने होती हैं, लेकिन आज भी दोनों देश के खिलाड़ियों को भारत-पाकिस्तान मैच (India-Pakistan Match) से जुड़े कई किस्से याद आते हैं. पूर्व भारतीय तेज गेंदबाज आशीष नेहरा (Ashish Nehra) को 16 साल पुराना एक किस्सा याद आया है, जब शोएब अख्तर (Shoaib Akhtar) ने उनके खिलाफ स्लेजिंग की थी.

16 साल पहले शोएब ने की नेहरा का किया था स्लेज

2004 चैंपियंस ट्रॉफी (Champions Trophy 2004) की बात है. इसमें भारत और पाकिस्तान (India-Pakistan) के बीच हुए मैच में शोएब अख्तर (Shoaib Akhtar) ने आशीष नेहरा (Ashish Nehra) को स्लेज किया था. नेहरा ने बताया कि – ‘हम आखिर में वो मैच हार गए. मैं आखिरी विकेट था और शोएब अख्तर (Shoaib Akhtar) ने मुझे एक शॉर्ट गेंद की थी. मैंने इसे पुल करने की कोशिश की और मिडविकेट पर कैच आउट हो गया. शाहिद अफरीदी ने कैच लिया और फिर अख्तर ने मुझे पंजाबी में कहा कि पुल मारने से पहले ये तो पता होना चाहिए कि आप किसका सामना कर रहे हैं’.

नेहरा और शोएब के बीच आज भी कायम हैं दोस्ती

भारत और पाकिस्तान (India-Pakistan) के रोमांचक मुकाबले हर किसी को उत्साहित करते हैं. सिर्फ फैंस ही नहीं बल्कि खिलाड़ियों पर भी भारत-पाक मैच को लेकर एक अलग दबाव होता है, लेकिन मैदान पर होने वाली जंग के बावजूद दोनों देशों के खिलाड़ियों में एक-दूसरे के लिए सम्मान और दोस्ती आज भी दिखाई देती है.
आशीष नेहरा ने कहा कि – ‘इसमें कोई शक नहीं है शोएब अख्तर एक बहुत अच्छे दोस्त भी हैं. जब भी हम इंग्लैंड में होते हैं, आज भी 3-4 महीनों में हम एक-दूसरे को मैसेज करते हैं और ये सिलसिला चलता रहता है’.
भारत और पाकिस्तान के बीच अब क्रिकेट मैच काफी कम होते हैं, लेकिन जब भी दोनों टीम मैदान पर होती हैं तो माहौल पूरी तरह से बदल जाता है. खिलाड़ियों पर दबाव होता है तो फैंस की सांसे भी हर गेंद के साथ ऊपर-नीचे होती रहती है.
भारत और पाकिस्तान (India-Pakistan) के बीच मुकाबलों में स्लेजिंग का भी एक इतिहास रहा है. जावेद मियांदाद से लेकर गौतम गंभीर और शाहिद अफरीदी के बीच हुई जुबानी जंग अब तक फैंस को याद है, लेकिन मैदानी जंग खत्म होने के बाद दोनों देशों के खिलाड़ी साथ में खूब मस्ती करते हुए भी दिखाई देते थे.

Related Posts