हार के बाद भी विराट के लिए क्यों खास है 2014 का एडीलेड टेस्ट

विराट की कप्तानी में अब तक भारत ने 55 टेस्ट मैच खेले हैं. जिसमें से 33 में उसे जीत मिली है. ऑस्ट्रेलिया के पिछले दौरे में भारत ने उसे उसी के हर में हराकर इतिहास भी रचा था.
Virat Kohli, हार के बाद भी विराट के लिए क्यों खास है 2014 का एडीलेड टेस्ट

भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने 2014 के ऑस्ट्रेलिया दौरे में एडीलेट टेस्ट को याद किया है. उस टेस्ट मैच में भारतीय टीम जीत के काफी करीब पहुंची थी. उसी साल विराट कोहली ने भारतीय टीम की कमान को संभाली थी. एडीलेड टेस्ट को लेकर विराट कोहली ने लिखा- “सबकुछ संभव है अगर हम उसमें अपना दिमाग में बिठा लें. उसे करने की ठान लें. जो लक्ष्य शुरू में बहुत मुश्किल लगता है उसे करने की ठान लें. लेकिन हम लगभग वहां पहुंच गए थे. वो मैच टेस्ट टीम के तौर पर हमारे सफर में हमेशा बहुत खास रहेगा.”

भारतीय टीम एडीलेड टेस्ट मैच में सिर्फ 48 रनों से हार गई थी। विराट कोहली ने ये भी कहा कि “टेस्ट क्रिकेट में आज हम जिस मुकाम पर हैं उसमें एडीलेड टेस्ट बहुत खास है. वो मैच दोनों ही टीमों के लिए जबरदस्त था. दर्शकों के लिए भी. हम जीत की दहलीज तक पहुंचकर भी उसे छू नहीं पाए. लेकिन हमें सीखने को बहुत कुछ मिला.”

क्या हुआ था 2014 एडीलेट टेस्ट मैच में

एडीलेड टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया था. पहली पारी में ऑस्ट्रेलिया ने 7 विकेट पर 517 के स्कोर पर डिक्लेयर किया था. इस बड़े स्कोर में डेविड वॉर्नर, माइकल क्लार्क और स्टीव स्मिथ का शतक शामिल था. माइकल क्लार्क तब ऑस्ट्रेलिया के कप्तान हुआ करते थे. जवाब में भारतीय टीम ने 444 रन बनाए थे. इसमें विराट कोहली का शतक शामिल था.

विराट कोहली के अलावा भारत की तरफ से 3 अर्धशतक लगे थे. जो मुरली विजय, चेतेश्वर पुजारा और अजिंक्य रहाणे ने बनाए थे. इसके बाद ऑस्ट्रेलिया ने दूसरी पारी 290 रन पर पांच विकेट के स्कोर पर डिक्लेयर की थी. डेविड वॉर्नर ने दूसरी पारी में भी शतक लगाया था. इस तरह भारत के सामने जीत के लिए 364 रनों का लक्ष्य था.

भारत की तरफ से दूसरी पारी में भी विराट कोहली ने शतक लगाया था. उनके अलावा मुरली विजय ने भी शानदार 99 रन बनाए थे. लेकिन इन दोनों बल्लेबाजों के अलावा टीम इंडिया के बाकी बल्लेबाजों ने जल्दी जल्दी विकेट गंवाए थे. विराट कोहली के क्रीज पर रहते-रहते टीम का स्कोर तीन सौ के पार पहुंच गया था, लेकिन उनके आउट होने के बाद भारतीय टीम के हाथ से मैच फिसल गया.

विराट की कप्तानी में टीम बनी नंबर-वन

बाद में टीम इंडिया विराट कोहली की कप्तानी में नबंर वन की पायदान पर भी पहुंची. विराट की कप्तानी में अब तक भारत ने 55 टेस्ट मैच खेले हैं. जिसमें से 33 में उसे जीत मिली है. ऑस्ट्रेलिया के पिछले दौरे में भारत ने उसे उसी के हर में हराकर इतिहास भी रचा था.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

Related Posts