क्या पाकिस्तान मैनचेस्टर में इंग्लैंड के खिलाफ 19 साल पुराना इतिहास बदल पाएगा?

पाकिस्तान टीम (Pakistan team) पिछले 19 साल से मैनचेस्टर में जीत के लिए तरस रही है. लेकिन अब तक वो जीत नहीं पाई. इंग्लैंड और पाकिस्तान (Eng vs Pak) के बीच ओल्ड ट्रैफर्ड के मैनचेस्टर मैदान पर अब तक कुल 6 टेस्ट मैच खेले गए.
eng vs pak test serise, क्या पाकिस्तान मैनचेस्टर में इंग्लैंड के खिलाफ 19 साल पुराना इतिहास बदल पाएगा?

पाकिस्तान (Pakistan) और इंग्लैंड (England) के बीच टेस्ट सीरीज का इंतजार खत्म होने में अब सिर्फ एक दिन का वक्त बाकी है. कोरोना काल में पाकिस्तान टीम अपनी पहली सीरीज खेलेगी.

वहीं मेजबान इंग्लैंड टीम वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट और आयरलैंड के खिलाफ वनडे सीरीज खेल कर जीत हासिल कर चुकी है. इंग्लैंड टीम शानदार लय में दिख रही है.

अब पाकिस्तान के सामने इंग्लैंड के खिलाफ तीन मैच की सीरीज में जीत हासिल करने की चुनौती दिख रही है. पहला टेस्ट मैच मैनचेस्टर (Manchester) में 5 अगस्त से शुरू होगा.

मैनचेस्टर में जीत के लिए तरस रहा है पाकिस्तान

पाकिस्तान टीम (Pakistan team) पिछले एक महीने से इंग्लैंड (England) में मौजूद है. उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ मैदान पर उतरने से पहले प्रैक्टिस की. पाकिस्तानी खिलाड़ी कंडिशन्स से वाकिफ हो चुके हैं. अब इंतजार है तो 5 अगस्त का, जब मैनचेस्टर के इंग्लैंड और पाकिस्तान (Eng vs Pak) आमने-सामने होंगे.

पाकिस्तान टीम पिछले 19 साल से मैनचेस्टर में जीत के लिए तरस रही है. लेकिन अब तक वो जीत नहीं पाई. इंग्लैंड और पाकिस्तान के बीच ओल्ड ट्रैफर्ड के मैनचेस्टर मैदान पर अब तक कुल 6 टेस्ट मैच खेले गए. पाकिस्तान को दो मैच में हार झेलनी पड़ी, तो 2001 में उसे मैनचेस्टर में पहली जीत नसीब हुई. इसके अलावा तीन टेस्ट मैच ड्रॉ हुए थे.

दो स्पिनर्स के साथ उतर सकता है पाकिस्तान

पाकिस्तान टीम कोरोना काल मे अपनी पहली सीरीज खेलने जा रही है. आईसीसी ने नियमों में जो बदलाव किए हैं, वो पाकिस्तान पहली बार अपनाकर मैदान पर उतरेगी. पाकिस्तानी गेंदबाजों के लिए सलाइवा बैन काफी मुश्किल साबित हो सकता है.

जबकि इंग्लैंड को इन नियमो का अनुभव हो चुका है. ऐसे में कोच मिस्बाह उल हक ने पहले टेस्ट में दो स्पिनर्स खिलाने की बात कही है. मिस्बाह ने कहा, ‘पहले टेस्ट में दो स्पिनर्स को खिलाने के फैसले से पहले हम आज और कल पिच और कंडिशन्स पर नजर बनाए रखेंगे. संभव है कि ऐसा हो और ये हमारे लिए अच्छा संकेत होगा. पिच और कंडिशन्स इस वक्त हमें मदद करती हुई दिख रही हैं. लेकिन जीतने के लिए जरूरी है कि आप अपनी रणनीति के अनुसार काम करें’.

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ झेलनी पड़ी थी शर्मनाक हार 

पाकिस्तान टीम के लिए इंग्लैंड दौरा बहुत अहम है. सिर्फ पाकिस्तान टीम के लिए ही नहीं बल्कि कप्तान अजहर अली और हेड कोच मिस्बाह उल हक के लिए भी ये दौरा बहुत खास है. क्योंकि पिछले विदेशी दौरे पर पाकिस्तान टीम को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ शर्मनाक हार झेलनी पड़ी थी. ऐसे में अगर इंग्लैंड दौरे पर पाकिस्तान टीम प्रदर्शन नहीं कर पाई तो फिर सवाल कोच और कप्तान पर उठना लाजमी होंगे.

Related Posts