युवराज सिंह को आज भी टेस्ट में ज्यादा मौका ना मिल पाने का मलाल है

युवराज सिंह (Yuvraj Singh) टीम इंडिया के एक शानदार ऑलराउंडर रहे. लेकिन उनका दायरा लिमिटेड क्रिकेट तक सीमित रहा. ऐसा नहीं है कि उन्हें टेस्ट में मौका नहीं मिला. लेकिन आज भी युवराज को टेस्ट क्रिकेट में ज्यादा मौके ना मिल पाने का मलाल है.
Yuvraj Singh on test cricket, युवराज सिंह को आज भी टेस्ट में ज्यादा मौका ना मिल पाने का मलाल है

टीम इंडिया के सिक्सर किंग बेशक क्रिकेट से संन्यास ले चुके हैं. लेकिन आज भी वो अपने क्रिकेटिंग करियर को काफी याद करते हैं. युवी टीम इंडिया के लिए एक मैच विनर साबित हुए. उन्होंने भारत को कई बड़ी जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई.

युवी के योगदान की सबसे बड़ी मिसाल था 2011 विश्व कप, जब कैंसर से लड़ते हुए भी युवराज ने हार नहीं मानी. विश्व कप 2011 भारत ने जीता और इस जीत के हीरो रहे युवराज सिंह (Yuvraj Singh). लेकिन इन सबके बावजूद एक टीस अब भी युवराज के मन में है. वो है टेस्ट क्रिकेट (Test Cricket) में ज्यादा मौके ना मिल पाने का दुख.

गांगुली के संन्यास के बाद मिले टेस्ट में मौके

युवराज सिंह टीम इंडिया के एक शानदार ऑलराउंडर रहे. लेकिन उनका दायरा लिमिटेड क्रिकेट तक सीमित रहा. ऐसा नहीं है कि उन्हें टेस्ट में मौका नहीं मिला. लेकिन आज भी युवराज को टेस्ट क्रिकेट में ज्यादा मौके ना मिल पाने का मलाल है.

युवराज ने कहा, ‘जब मैं पीछे मुड़कर देखता हूं तो मुझे लगता है कि मुझे टेस्ट क्रिकेट खेलने के और मौकों की जरूरत थी. उस वक्त सचिन, राहुल, वीरेंद्र, वीवीएस, सौरव जैसे स्टार खिलाड़ियों के बीच जगह पाना बेहद मुश्किल था. मिडिल ऑर्डर में जगह पाना मुश्किल था.

इसके अलावा आज की पीढ़ी की तुलना में जिन्हें दस से ज्यादा टेस्ट मैच खेलने को मिलते हैं, हमें एक या दो मौके ही मिलते थे. मेरा मौका तब आया जब सौरव ने संन्यास लिया. लेकिन दुर्भाग्य से तब मुझे कैंसर हो गया था और मेरी जिंदगी ने अलग ही मोड़ ले लिया था’.

युवराज सिंह का क्रिकेट करियर

साल 2000 में युवराज सिंह ने अपने इंटरनेशनल क्रिकेट करियर का आगाज किया था. उन्होंने 40 टेस्ट मैच में 1900 रन बनाए. इसमें तीन शतक और 11 अर्धशतक शामिल हैं. इसके अलावा वनडे क्रिकेट में युवी ने 304 वनडे मैच खेले. इसमें उन्होंने 14 शतक और 52 अर्धशतक लगाते हुए 8701 रन बनाए. साथ ही 111 विकेट भी लिए. जबकि 58 टी20 मैच में युवराज ने 1177 रन बनाए हैं इसमें आठ अर्धशतक लगाए हैं और 28 विकेट भी लिए हैं.

Yuvraj Singh on test cricket, युवराज सिंह को आज भी टेस्ट में ज्यादा मौका ना मिल पाने का मलाल है
File Pic-Yuvraj Singh

पिछले साल ही युवराज ने क्रिकेट को अलविदा कर दिया था. उन्होंने अपने क्रिकेट करियर में टीम इंडिया को कई बड़ी जीत दिलाई. 6 गेंद पर 6 छक्के लगाने वाले युवराज को सिक्सर किंग का तमगा दिया गया था. साथ ही 2011 विश्व कप की जीत में युवराज ने अहम किरदार निभाया था. उन्हें उनके शानदार ऑलराउंड प्रदर्शन के लिए मैन ऑफ द टूर्नामेंट के खिताब से नवाजा गया था.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

Related Posts