बलिया गोलीकांड: विधायक सुरेंद्र सिंह के बदले सुर, कहा- FIR के लिए नहीं जाऊंगा थाने

बीजेपी विधायक सुरेंद्र सिंह (Surendra Singh) ने कहा, “पहले पक्ष की जिस तरह से प्राथमिकी दर्ज की गई, वैसे ही दूसरे पक्ष की भी प्राथमिकी दर्ज होनी चाहिए. अगर ऐसा नहीं हुआ तो आमरण अनशन पर बैठूंगा, सत्याग्रह करूंगा और जीवन का अंत कर दूंगा.”

  • उमेश पाठक
  • Publish Date - 1:01 pm, Sat, 17 October 20

बलिया गोलीकांड ( (Ballia Firing)) मामले में आरोपी धीरेंद्र के पक्ष में खड़े भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह के सुर बदल गए हैं. अब तक आरोपी पक्ष की तरफ से एफआईआर दर्ज कराने के लिए अनशन करने की बात कहने वाले सुरेंद्र के बयान बदले हुए नजर आ रहे हैं. उनका कहना है कि आरोपी के परिवार के सदस्यों को भी चोट आई है. उनका भी मेडिकल हुआ है. मैंने अधिकारियों को अवगत करा दिया है. उन्होंने कहा कि मैं पीड़ित परिवार के भी साथ हूं. जो जैसा दोषी हो, उसको वैसी सजा मिले. मैं अब एफआईआर के लिए थाने नहीं जाऊंगा लेकिन उचित कार्यवाही की जाए.

वहीं, गोलीकांड के मुख्य आरोपी धीरेंद्र प्रताप सिंह की तरफ से बलिया न्यायालय में सरेंडर एप्लिकेशन डाली गई है. इससे पहले बलिया गोलीकांड मामले के आरोपी के परिजनो से मिलकर बीजेपी विधायक सुरेंद्र सिंह (BJP MLa Surendra Singh) रोने लगे. शनिवार को सुरेंद्र जिला चिकित्सालय पहुंचे थे. गोलीकांड में घायल आरोपी धीरेंद्र (Dhirendra) के परिजनों का मेडिकल कराने वो अस्पताल आए थे.

बीजेपी विधायक ने कहा कि पहले पक्ष की जिस तरह से प्राथमिकी दर्ज की गई, वैसे ही दूसरे पक्ष की भी प्राथमिकी दर्ज होनी चाहिए. अगर ऐसा नहीं हुआ तो आमरण अनशन पर बैठूंगा, सत्याग्रह करूंगा और जीवन का अंत कर दूंगा.

विधायक के सामने रोने लगे आरोपी के परिजन.

योगी सरकार की कानून-व्यवस्था पर उठे सवाल

गौरतलब है कि बलिया जिले के दुर्जनपुर गांव में हुए गोलीकांड ने योगी सरकार की ना सिर्फ कानून-व्यवस्था बल्कि पुलिस मशीनरी पर भी सवाल खड़े किए हैं. एसडीएम, सीओ और पुलिस की मौजूदगी में जिस तरह से बेखौफ अपराधी खुलेआम दिनदहाड़े गोलियां बरसाते रहे उससे इलाके में खौफ है.

बलिया गोलीकांड: पीड़ित परिवार बोला-अनसुनी की जा रही मांग, दोषियों को हो सख्त सजा

मृतक जयप्रकाश पाल के परिवार का रो-रोकर बुरा हाल है. परिवार के पास महज चौदह बिस्वा खेत हैं, वो भेड़ पालकर परिवार का खर्चा चलाता था. परिवार में पत्नी के अलावा दो बेटी और छह बेटे हैं. बेटे अभिषेक पाल का कहना है कि परिवार कैसे चलेगा, योगी सरकार उनको पचास लाख मुआवजा, एक सदस्य को नौकरी और उनकी मां को पेंशन दे. साथ ही दोषियों पर सख्त कार्यवाही की जाए.

फरार आरोपियों पर 50 हजार का इनाम

बता दें कि बलिया गोलीकांड के मामले के आरोपी धीरेंद्र सिंह समेत सभी फरार आरोपियों पर 50 हजार रुपए का इनाम घोषित किया गया है. सभी आरोपियों पर गैंगस्टर एक्ट और रासुका के तहत कार्रवाई होगी.

वहीं आरोपी धीरेंद्र सिंह के समर्थक आज रेवती थाने में एफआईआर दर्ज कराने जाएंगे. उनके साथ विधायक सुरेंद्र सिंह भी थाने जाएंगे. सुरेंद्र सिंह ने कहा कि अगर एक सप्ताह के अंदर दूसरे पक्ष का मुकदमा नहीं लिखा गया तो रेवती थाने पर एक सप्ताह बाद हजारों लोगों की संख्या के साथ घेराव करेंगे.

मुख्य आरोपी का वीडियो वायरल

गोलीकांड के मुख्‍य आरोपित भाजपा नेता के भाई समेत दो को पुलिस ने शुक्रवार को गिरफ्तार किया, जबकि मुख्य आरोपी अभी भी पुलिस की गिरफ्त से दूर है. पांच अन्‍य लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है. इस बीच मुख्‍य आरोपी का एक वीडियो वायरल हुआ है, जिसमें उसने खुद को निर्दोष बताते हुए प्रशासन पर गंभीर आरोप लगाए हैं.

बलिया गोलीकांड: आज FIR कराएंगे फरार मुख्य आरोपी के समर्थक, BJP विधायक सुरेंद्र सिंह जाएंगे साथ!