Bihar election 2020: रालोसपा को झटका, प्रदेश अध्यक्ष भूदेव चौधरी RJD में शामिल

बिहार विधानसभा चुनाव की तारीखों (Bihar election poll date) के ऐलान के बाद नेताओं के एक से दूसरे दल में जाने का दौर शुरू हो गया है. सोमवार को भूदेव चौधरी (Bhudev chaudhary) के RJD में शामिल होने से उपेंद्र कुशवाहा (Upendra Kushwaha) को बड़ा झटका लगा.

Bhudev Chaudhary with Tejaswi Yadav

बिहार में विधानसभा चुनावों की तारीखों (Bihar election poll date) का ऐलान हो चुका है. ऐसे में चुनावी माहौल पूरी तरह से गर्माया हुआ है. राजनीतिक दलों में नेताओं के आवागमन का दौर भी शुरू हो गया है. सोमवार को राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष भूदेव चौधरी (Bhudev Chaudhary) ने RJD का दामन थाम लिया.

उपेंद्र कुशवाहा को झटका देते हुए भूदेव चौधरी RJD में शामिल हो गए. सोमवार को उन्हें तेजस्वी यादव की उपस्थिति में राष्ट्रीय जनता दल की सदस्यता दिलाई गई. बता दें कि भूदेव चौधरी रालोसपा के प्रदेश अध्यक्ष थे.

यह भी पढ़ें : Bihar Election 2020: पूर्व DGP गुप्तेश्वर पांडे की राजनीति में एंट्री, JDU में हुए शामिल

भूदेव चौधरी को रालोसपा के कद्दावर नेताओं में से एक माना जाता था. पिछले साल अक्टूबर महीने में रालोसपा की प्रदेश कमेटी की घोषणा के समय पूर्व सांसद भूदेव चौधरी को फिर प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया था. पार्टी से भूदेव चौधरी का जाना रालोसपा और उपेंद्र कुशवाहा के लिए एक बड़ा झटका माना जा रहा है.

इन्होंने भी थामा नए दलों का साथ

इससे पहले रविवार शाम को बिहार के पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे की राजनीति में आधिकारिक एंट्री हो गई. उन्होंने जनता दल यूनाइटेड (JDU) का हाथ थाम लिया. रविवार को उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के आवास पर JDU की सदस्यता ग्रहण की. शनिवार को पांडे ने बिहार सीएम से मीटिंग भी की थी.

इससे पहले पूर्व सांसद आनंद मोहन सिंह की पत्नी लवली आनंद ने अपने बेटे चेतन आनंद संग आरजेडी का दामन थाम लिया. उन्होंने पार्टी के वरिष्ठ नेताओं की मौजूदगी में पार्टी की सदस्यता ग्रहण की. बता दें कि लवली आनंद 10वीं लोकसभा की पूर्व सदस्य रही हैं और भारत के स्वतंत्रता सेनानी रामेश्वर प्रसाद सिंह की पोती हैं.

पार्टी की सदस्यता ग्रहण करने के बाद उन्होंने जमकर नीतीश सरकार पर निशाना साधा. इससे पहले लोकसभा चुनावों में लवली आनंद ने एनडीए के लिए प्रचार किया था.

जनता दल यूनाइटेड से निष्कासित कैबिनेट मंत्री श्याम रजक एक दिन बाद ही RJD में शामिल हो गए थे. पार्टी से निकलते ही उन्होंने तेजस्वी यादव की मौजूदगी में आरजेडी की सदस्यता ग्रहण की थी. एनडीए के गठबंधन घटक की दूसरी पार्टी लोक जनशक्ति पार्टी ने इस अलगाव को दुर्भाग्यपूर्ण बताया था.

दूसरी ओर विधानसभा चुनाव से पहले 70 दिनों के अंदर 12 बड़े नेता आरजेडी छोड़ जेडीयू का दामन थाम चुके हैं. इन नेताओं ने कहा था कि पार्टी के शीर्ष नेतृत्व से सामंजस्य नहीं बैठ रहा है. बता दें कि आरजेडी की कमान अब तेजस्वी यादव के हाथों में है.

तीन चरण में होगा बिहार विधानसभा चुनाव

बिहार विधानसभा चुनाव कुल तीन चरणों में होंगे. पहले चरण में 16 जिलों के 71 विधानसभा क्षेत्रों में चुनाव होंगे. दूसरे चरण में कुल 17 जिलों के 94 विधानसभा क्षेत्रों में मतदान होंगे. तीसरे चरण में 15 जिलों के 78 विधानसभा क्षेत्रों में मतदान होंगे. पहले चरण के लिए 28 अक्टूबर, दूसरे चरण के लिए तीन नवंबर और तीसरे चरण के लिए 7 नवंबर को मतदान होगा. वोटों की गिनती 10 नवंबर को होगी.

पहले चरण के मतदान में करीब 31,000 बूथ पर वोट डाले जाएंगे, दूसरे चरण में 42,000 बूथ पर और तीसरे चरण में साढ़े 33 हजार बूथ पर वोट डाले जाएंगे.

यह भी पढ़ें : Bihar Election 2020: लवली आनंद ने थामा राजद का दामन, बोलीं- तेजस्वी को बनाना है सीएम

Related Posts