Bihar election 2020: बिहार में बनेगी BJP की सरकार और साथ होगी LJP! पढ़ें, चिराग की क्या है रणनीति

Chirag paswan strategy in Bihar election: चिराग ने कहा कि उन्हें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर पूरा भरोसा है और उन्हें पूरी उम्मीद है कि बिहार में बीजेपी और एलजेपी की सरकार बनेगी. एनडीए से बाहर होकर विधानसभा चुनाव लड़ रहे चिराग पासवान ने कहा कि बिहार में अगला मुख्यमंत्री बीजेपी का होगा और एलजेपी उस सरकार का हिस्सा होगी.

चिराग पासवान (ANI)

बिहार विधानसभा चुनाव में लोक जनशक्ति पार्टी (एलजेपी) अध्यक्ष चिराग पासवान पूरी तरह अपने दम पर लड़ने के तैयार हैं लेकिन उनकी एक खास रणनीति है. ये रणनीति है भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के साथ रहते हुए नीतीश कुमार की पार्टी जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) को अलग-थलग रखने की. चिराग पासवान ने शनिवार को साफ कर दिया कि चुनाव के दरम्यान केंद्रीय मंत्री या बीजेपी के सीनियर नेता उनके बारे में जो कुछ बोलें, इसका उनपर फर्क नहीं पड़ता. चिराग ने कहा कि वे बीजेपी के साथ हमेशा से खड़े हैं. नीतीश कुमार के बारे में उन्होंने कहा कि वे जेडीयू की सरकार बिहार में नहीं देखना चाहते हैं क्योंकि मुख्यमंत्री ने अब तक सिर्फ जाति आधारित राजनीति की है, कथित सोशल इंजीनियरिंग के नाम पर लोगों को बांटने का काम किया है.

बिहार में बीजेपी-एलजेपी की सरकार
एलजेपी प्रमुख चिराग पासवान ने शनिवार को समाचार एजेंसी एएनआई से विस्तार से बात की. चिराग ने कहा कि उन्हें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर पूरा भरोसा है और उन्हें पूरी उम्मीद है कि बिहार में बीजेपी और एलजेपी की सरकार बनेगी. एनडीए से बाहर होकर विधानसभा चुनाव लड़ रहे चिराग पासवान ने कहा कि बिहार में अगला मुख्यमंत्री बीजेपी का होगा और एलजेपी उस सरकार का हिस्सा होगी. पासवान ने कहा कि उनका मकसद मुख्यमंत्री बनना नहीं है बल्कि वे बिहार के सम्मान और गर्व के लिए काम करना चाहते हैं. चिराग ने कहा कि बीजेपी नेताओं को एलजेपी को वोटकटवा पार्टी नहीं बोलना चाहिए.

चिराग ने कहा कि बीजेपी नीतीश कुमार की जबान बोल रही है और उसके नेता गठबंधन धर्म के तहत अपने बयान दे रहे हैं लेकिन उन्हें समझना चाहिए कि वे उसी रामविलास पासवान की पार्टी के बारे में बोल रहे हैं जिन्हें कुछ दिन पहले उन्होंने श्रद्धांजलि दी है. ऐसा भ्रम फैलाया जा रहा है कि आज रामविलास पासवान जिंदा होते तो एनडीए गठबंधन से एलजेपी अलग नहीं होती. चिराग ने कहा, अगर मेरे दिमाग में बिहार पर राज करना रहता तो लोकसभा में एलजेपी की जीत को देखते हुए उनके लिए लाल कालीन बिछाई जाती. लेकिन उनकी राजनीति बिहार पर राज करना नहीं बल्कि बिहारी अस्मिता के लिए है.

ये भी पढ़ें: Bihar election 2020: कौन हैं जाले सीट से कांग्रेस उम्मीदवार मस्कूर उस्मानी, जिनके ‘जिन्ना प्रेम’ को लेकर मचा बवाल

नीतीश नहीं, ‘कुर्सी कुमार’ कहिए
नीतीश कुमार के खिलाफ चिराग पासवान का हमला जारी है. चिराग ने कहा कि हाल में उनके पिता रामविलास पासवान ने कहा था कि अगर मौजूदा मुख्यमंत्री आगे भी अपने पद पर बने रहते हैं तो वे अपने बेटे (चिराग) को कभी माफ नहीं करेंगे क्योंकि नीतीश कुमार की वापसी से बिहार फिर 5-10 साल पीछे चला जाएगा. चिराग ने कहा, नीतीश कुमार ने अब तक जाति आधारित राजनीति कर समाज को सिर्फ बांटने का काम किया है. सोशल इंजीनियरिंग के नाम पर लोगों को बांटा गया है. मुख्यमंत्री को बिहार में औद्योगिकरण, शिक्षा और स्वास्थ्य विकास से कुछ लेना देना नहीं है. नीतीश कुमार को बीजेपी नेतृत्व में भरोसा भी नहीं है. उन्हें बिना किसी वजह कुर्सी कुमार नहीं कहा जाता. 2010 के बाद नीतीश कुमार ने विकास पर कभी ध्यान ही नहीं दिया. चिराग ने दावा किया कि नीतीश कुमार अगली बार बिहार के मुख्यमंत्री नहीं बनेंगे. चिराग पासवान ने नीतीश कुमार से ट्रिपल तलाक और अनुच्छेद 370 हटाने पर उनकी राय जाननी चाही.

ये भी पढ़ें: Bihar election 2020: जिस कृषि कानून पर घिरे जेडीयू और BJP, उसी मुद्दे को तेजस्वी ने बनाया चुनावी हथियार

पीएम मोदी के हनुमान हैं चिराग
बीजेपी ने साफ कर दिया है कि चिराग पासवान एनडीए का हिस्सा नहीं हैं, इसलिए चुनावी पोस्टर में पीएम मोदी की तस्वीर का इस्तेमाल नहीं करेंगे. इस पर चिराग ने अपनी राय रखी और कहा कि उन्हें नरेंद्र मोदी की तस्वीर लगाने की जरूरत नहीं है क्योंकि पीएम मोदी उनके दिल में बसते हैं. चिराग ने कहा, दरअसल मुझे पीएम मोदी की तस्वीर लगाने की कोई जरूरत नहीं क्योंकि वे हमारे दिल में बसते हैं. मैं उनका हनुमान हूं और मैं अपना सीना चीरकर उनकी मौजूदगी दिखा सकता हूं. बीजेपी नेताओं के सवाल उठाने से पीएम मोदी के साथ उनके रिश्ते कतई प्रभावित नहीं होंगे. मैं यह साफ कर देना चाहता हूं कि 10 नवंबर को मैं बीजेपी नेता को मुख्यमंत्री बनाउंगा और एलजेपी उसका हिस्सा होगी. मैं किसी बीजेपी नेता के खिलाफ अपना उम्मीदवार नहीं उतारूंगा. चिराग ने कहा, पीएम मोदी की तस्वीर नीतीश कुमार को लगाने की जरूरत है. मैं कहां पार्टी के पोस्टर और मेनिफेस्टो में उनकी तस्वीर लगा रहा हूं. 2013 में नरेंद्र मोदी जब प्रधानमंत्री थे, तब नीतीश कुमार ने एनडीए को छोड़ दिया था.

 

Related Posts