Bihar election 2020: सीएम नीतीश ने गिनाए ‘सात निश्चय’, इन पर करेंगे काम

सीएम नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने कहा, ''सात निश्चय पर हमने पहले काम किया अब "सात निश्चय-2" पर काम किया जाएगा. जिस पर हमने योजना बना ली है. पुराने 'सात निश्चय' के कोई भी काम पेंडिंग नहीं हैं.

आज से प्रचार का आगाज़ (File Photo)

बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar election 2020) की आज घोषणा हो चुकी है. इस बीच सीएम नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने शाम को प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, ‘हम चुनाव आयोग की घोषणा का स्वागत करते हैं. समय पर चुनाव हो जाएगा. दशहरा औऱ दीपावली के बीच चुनाव हो जाएगा, इसका हम स्वागत करते हैं.’

उन्होंने कहा, ‘हमारा मानना है कि जनता मालिक है. जनता ने हमारा काम देखा है और हमें भरोसा है कि आगे भी काम करने का मौका जनता देगी. हर क्षेत्र में हमने कार्य किया है. सात निश्चय का भी क्रियान्वयन हमने किया. हर जिले में शैक्षणिक संस्थानों का हमने निर्माण करवाया.’

पुराने ‘सात निश्चय’ में कोई भी निश्चय पेंडिंग नहीं- सीएम

उन्होंने कहा, ‘सात निश्चय के अंतर्गत कई काम हुए हैं व कई काम चल रहे हैं. कॉलेज, स्कूल, अस्पताल का निर्माण भी हो रहा है. सात निश्चय में कोई भी निश्चय पेंडिंग नहीं है, सब पर काम हो रहा है. हमने हमेशा जनता के भले के लिए काम किया है फिर से अवसर मिलेगा तो फिर काम किया जाएगा. शिक्षा, स्वास्थ्य, आधारभूत संरचना, बिहार के हर वर्ग व हर क्षेत्र में विकास हुआ है.’

सीएम नीतीश कुमार ने कहा, ”नौजवानों को स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना, कौशल योजना के तहत मदद की. महिलाओं को आगे बढ़ाया. जितनी महिलाएं बिहार में पुलिस में जाती हैं शायद ही कहीं और इतनी संख्या में जाती हों. सात निश्चय पर हमने पहले काम किया अब ‘सात निश्चय-2’ पर काम किया जाएगा. जिस पर हमने योजना बना ली है.”

ये भी पढ़ें- Bihar election 2020: बिहार चुनाव को कोरोना से बचाने के लिए चुनाव आयोग ने किए कई उपाय

ये हैं नए सात निश्चय

पहला- ‘सक्षम बिहार, स्वावलंबी बिहार’ बनाने के लिए पहला निश्चय ”युवा शक्ति, बिहार की प्रगति” है. नई टेक्नोलॉजी के अनुसार युवाओं को इस तरह से ट्रेनिंग देंगे जिससे कि उनको रोजगार मिले, संस्थानों की गुणवत्ता बढ़ाएंगे, हर जिले में मेगा स्किल सेंटर, हर प्रमंडल में टूल रूम, स्किल एवं उद्यमिता हेतु नया विभाग बनाएंगे. उद्यमिता विकास के लिए भी सहयोग करेंगे और 50% इंवेस्टमेंट या 3 लाख तक की मदद करेंगे.

दूसरा निश्चय है ‘सशक्त महिला सक्षम महिला’ महिला उद्यमिता के लिए विशेष सहायता दी जाएगी. उच्च शिक्षा के लिए प्रेरित करने हेतु इंटर पास करने पर 25 हजार रुपए व ग्रेजुएट होने पर 50 हजार रुपए की सहायता देंगे.

तीसरा निश्चय है ‘हर खेत में सिंचाई के लिए पानी’

चौथा निश्चय है ‘स्वच्छ गांव, समृद्ध गांव’ हम हर गांव में सोलर स्ट्रीट लाइट लगाएंगे. कूड़े का प्रबंधन करेंगे. पिछले सात निश्चय में जो कार्य हुए उनका भी रखरखाव करेंगे.

पांचवा निश्चय है ‘स्वच्छ शहर, विकसित शहर’ ठोस अपशिष्ट प्रबंधन के लिए काम करेंगे. वृद्धजन के लिए आश्रय स्थल बनाएंगे. शहरी गरीबों हेतु बहुमंजिला आवास का निर्माण कराएंगे. विद्युत शवदाह गृह का भी निर्माण करेंगे.

छठवां निश्चय है – ‘सुलभ संपर्कता’ हर गांव को सड़क के माध्यम से जोड़ दिया गया है. शहरों के आसपास बायपास व फ्लाईओवर का निर्माण कराएंगे.

सातवां निश्चय है ‘सबके लिए स्वास्थ्य सुविधा’ मनुष्य हो या पशु सभी के लिए बेहतर स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी.

सीएम नीतीश कुमार ने कहा, ”हर घर बिजली, हर घर नल का जल, पक्की गलियों का निर्माण किया है. सात निश्चय के अलावा हमने अन्य योजनाएं भी चलाईं, उन पर काम हो रहा है. सड़कों का निर्माण किया है, पटना तक बिहार के किसी भी क्षेत्र से 6 घंटे में पहुंचने के लिए मार्ग की सुविधा को सुनिश्चित किया.”

ये भी पढ़ें- Bihar election 2020: नीतीश से जनता नाराज, लेकिन NDA पहली पसंद- सर्वे

Related Posts