Bihar election 2020: नीतीश से जनता नाराज, लेकिन NDA पहली पसंद- सर्वे

Bihar election poll date: बिहार विधानसभा चुनाव की तारीखों का एलान हो गया है. ऐसे में ओपिनियन पोल में NDA की सरकार बनती दिख रही है, लेकिन उत्तर देने वालों में से 56.7 प्रतिशत लोगों ने कहा है कि वे नीतीश कुमार सरकार से नाराज हैं और बदलाव चाहते हैं.

बिहार विधानसभा चुनाव
बिहार विधानसभा चुनाव

बिहार विधानसभा चुनाव में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) दो तिहाई बहुमत के साथ आरामदायक स्थिति में नजर आ रहा है, जबकि मतदाता नीतीश कुमार (Nitish Kumar) से नाराज हैं और आधे से ज्यादा लोग सरकार में बदलाव चाहते हैं. IANS सीवोटर बिहार ओपीनियन पोल सर्वे से ये जानकारी मिली है. ये विरोधाभाष 2020 के बिहार जनादेश को परिभाषित करेगा. बिहार (Bihar) का एक वर्ग नीतीश कुमार से नाराज है और सरकार में बदलाव चाहता है, लेकिन जैसा कि ओपीनियन पोल में दिख रहा है कि लोग JDU, BJP और अन्य की गठबंधन वाले NDA सरकार को दो तिहाई बहुमत से जिताएंगे.

बिहार में NDA है पहली पसंद!

पोल के अनुसार, बिहार की 243 विधानसभा सीट में से NDA को 141-161 सीट मिलने का अनुमान है. वहीं RJD, कांग्रेस और अन्य के गठबंधन वाले UPA को 64-84 सीट और अन्य को 13-23 सीट मिलने का अनुमान है. 2015 में JDU और BJP ने अलग-अलग चुनाव लड़ा था और JDU, RJD और कांग्रेस के साथ अन्य के महागठबंधन का हिस्सा था. 2017 में, नीतीश ने NDA सरकार बनाने के लिए BJP के साथ हाथ मिला लिया था.

Bihar election 2020: किस चरण में कहां पड़ेंगे वोट, जानें आपके जिले में कब है मतदान

NDA को 93 सीट पर बढ़त मिलने की संभावना है, जबकि UPA को 104 सीटों पर हार का सामना करना पड़ेगा. NDA का अनुमानित वोट शेयर 44.8 प्रतिशत है, जबकि UPA का वोट शेयर 33.4 प्रतिशत है. NDA बिहार के सभी क्षेत्रों में खासकर के पूर्वी बिहार (16), मगध-भोजपुर (41), मिथलांचल (29), उत्तर बिहार (49) और सीमांचल (16) में सीटों के मामले में बढ़त हासिल कर रहा है.

सर्वे का सैंपल साइज 25,789 है और ये सर्वे 1 सितंबर से 25 सितंबर के बीच किया गया है. सर्वे सभी 243 विधानसभा क्षेत्रों में किया गया है. राज्य स्तर पर इसका मार्जिन ऑफ एरर प्लस/माइनस तीन प्रतिशत और क्षेत्रीय स्तर पर प्लस/माइनस पांच प्रतिशत है.

56.7 फीसदी लोग नीतीश कुमार से नाराज

हालांकि सत्ता विरोधी लहर भी बहुत ज्यादा है, उत्तर देने वालों में से 56.7 प्रतिशत ने कहा कि वे नीतीश कुमार सरकार से नाराज हैं और बदलाव चाहते हैं. 29.8 प्रतिशत ने कहा कि वे नाराज हैं लेकिन बदलाव नहीं चाहते. वहीं 13.5 प्रतिशत लोगों ने कहा कि वे नाराज नहीं हैं.

वहीं मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की ओवरऑल परफॉर्मेस की बात करें तो, 45.3 प्रतिशत लोगों ने उनके प्रदर्शन को खराब बताया, 27.2 प्रतिशत ने इसे औसत तो 27.6 प्रतिशत ने इसे अच्छा प्रदर्शन बताया. हालांकि लोग नीतीश कुमार से नाराज हैं, लेकिन वह इसके बावजूद सबसे पंसदीदा मुख्यमंत्री बने हुए हैं.

30.9 प्रतिशत के साथ नीतीश किसी भी मुख्यमंत्री पद के संभावित उम्मीदवार से आगे हैं. RJD के तेजस्वी यादव को 15.4 प्रतिशत, तो सुशील कुमार मोदी को 9.2 प्रतिशत लोग मुख्यमंत्री के रूप में देखना चाहते हैं. वहीं मुख्यमंत्री की अप्रूवल रेटिंग अच्छी नहीं है, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को हाई अप्रूवल रेटिंग हासिल है. 48.8 प्रतिशत लोगों ने कहा कि प्रधानमंत्री का प्रदर्शन अच्छा है. वहीं 21.9 प्रतिशत ने उनके प्रदर्शन को औसत और 29.2 प्रतिशत ने इसे खराब बताया.

Bihar Election 2020: ऑनलाइन भी होगा नामांकन, मतदान का समय बढ़ा

Related Posts