लालटेन में ना ‘तेज’ है और ना ‘प्रताप’, बिहार चुनाव विकास बनाम जेल की लड़ाई: BJP

संबित पात्रा (Sambit Patra) ने बिना लालू प्रसाद यादव का नाम लिए कहा कि वह जेल कोई राजनीतिक कारणों से नहीं गए, बल्कि अपनी करतूतों से गए हैं. उन्होंने RJD और कांग्रेस (Congress) पर निशाना साधते हुए कहा कि विपक्ष के परिवार में संपत्ति बंटवारे की लड़ाई चल रही है.

भारतीय जनता पार्टी (BJP) के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा (Sambit Patra) ने शुक्रवार को राष्ट्रीय जनता दल (RJD) पर तंज कसते हुए कहा कि अब लालटेन में ना ‘तेज’ है और न ही ‘प्रताप’ है, केवल अब नाम बचा है. उन्होंने कहा कि बिहार में होने वाला चुनाव नीतीश बनाम ‘कोई नहीं’ (Nitish vs None) है. चुनाव में एक ओर तो नीतीश कुमार हैं लेकिन दूसरी ओर कौन है? यह देश में चर्चा का विषय बना है. बता दें कि RJD का चुनाव चिह्न ‘लालटेन’ है.

पात्रा ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि बिहार में चुनाव का माहौल बन रहा है. उन्होंने कहा, “इस चुनाव में मुकाबला नीतीश बनाम कोई नहीं है. यह भी कह सकते हैं इस चुनाव में विकास बनाम जेल की लड़ाई है.”

‘लालू अपनी करतूतों की वजह से गए जेल’

उन्होंने कहा कि एक ओर नीतीश कुमार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) हैं तो दूसरी तरफ का महत्वपूर्ण नेता जेल में है. उन्होंने बिना लालू प्रसाद यादव का नाम लिए कहा कि वह जेल कोई राजनीतिक कारणों से नहीं गए, बल्कि अपनी करतूतों से गए हैं. संबित पात्रा ने RJD और कांग्रेस (Congress) पर निशाना साधते हुए कहा कि विपक्ष के परिवार में संपत्ति बंटवारे की लड़ाई चल रही है. एक जगह भाई-भाई में लड़ाई है जबकि दिल्ली में भाई-बहन के बीच में लड़ाई चल रही है.

‘रघुवंश के पत्र से पता चलता है उनका दुख’

उन्होंने समाजवादी नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह (Raghuvansh Prasad Singh) को लेकर भी RJD पर सियासी हमला बोला. उन्होंने कहा कि रघुवंश प्रसाद सिंह का निधन बहुत दुखद है. उन्होंने अपने जीवन के आखिरी दिनों में जिस तरह पत्र लिखा था, उससे उनकी वेदना पता चलती है. रघुवंश सिंह को सर्वमान्य नेता बताते हुए कहा कि उन्हें ‘समुद्र में एक लोटा पानी’ बताया गया. उन्होंने दावा करते हुए कहा कि अब उसी एक लोटा पानी से RJD का राजनीतिक तर्पण होगा.

पात्रा ने की बिहार में हुए विकास कार्यों की चर्चा

BJP नेता ने बिहार और केंद्र सरकार की विकास योजनाओं की चर्चा करते हुए कहा कि बिहार में 15 सालों में बहुत कुछ बदल गया है. उन्होंने कहा कि राज्य में सभी विभागों के बजट के आकार में वृद्धि हुई है. बिहार में 72 लाख किसानों को किसान सम्मान निधि (Kisan Samman Nidhi) के तहत 6 हजार हर साल मिल रहे हैं. उन्होंने कहा कि बिहार में अब चारों ओर बिजली पहुंच गई और लालटेन की जरूरत नहीं है.

पात्रा ने कहा कि बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election) विकास बनाम युवराजों के बीच की लड़ाई है. इस बार का चुनाव ऐतिहासिक होगा और NDA की सरकार बनेगी.

Related Posts