हरसिद्धि विधानसभा सीटः यहां देखें प्रत्याशी, वोटर्स, जातिगत आंकड़े और इस सीट का पूरा डेटा

Harsidhi Vidhan Sabha constituency: हरसिद्धि विधानसभा सीट पर मुस्लिम वोटरों का दबदबा है. रविदास और कोइरी वोटर भी निर्णायक भूमिका में हैं.

  • TV9 Hindi
  • Publish Date - 11:59 am, Sat, 17 October 20
हरसिद्धि विधानसभा सीट पर मुस्लिम वोटरों का दबदबा है. रविदास और कोइरी वोटर भी निर्णायक भूमिका में हैं.

बिहार एक बार फिर अपना मुख्यमंत्री चुनने के लिए तैयार है. राज्य में चुनावी बयार बह रही है और दूसरे चरण की विधानसभा सीटों पर अपनी किस्मत आजमा रहे सभी सियासी दलों के उम्मीदवारों ने अपनी जीत के लिए पूरा जोर लगा दिया है. राज्य की सुरक्षित हरसिद्धि विधानसभा सीट पर बीजेपी (BJP) और आरजेडी (RJD) के बीच टक्कर है. बीजेपी ने यहां से कृष्णानंद पासवान को अपना उम्मीदवार बनाया है. वहीं, आरजेडी के टिकट पर कुमार नागेंद्र राम बिहारी महागठबंधन के प्रत्याशी हैं.

सीट का इतिहास

पूर्वी चंपारण जिले की हरसिद्धि विधानसभा सीट पर वर्तमान में आरजेडी का कब्जा है. 2015 के विधानसभा चुनाव में आरजेडी और जेडीयू महागठबंधन के उम्मीदवार राजेंद्र कुमार ने भाजपा के कृष्णा नंदन पासवान को 10 हजार से अधिक वोटों से हराया था. पासवान 2010 में भाजपा के टिकट पर जीते थे. तब उन्होंने राजद के सतीश पासवान को हराया था.

पिछले दो दशक में जेडीयू एक भी चुनाव हरसिद्धि विधानसभा से नहीं जीत पाई है. वहीं, एलजेपी कांग्रेस के बाद दूसरी ऐसी पार्टी है, जिसने दो बार इस विधानसभा सीट से चुनाव जीता है. पहली बार 2005 फरवरी के विधानसभा चुनाव में एलजेपी के अवधेश प्रसाद कुशवाहा ने जेडीयू के महेश्‍वर सिंह को हराया था.

अब तक इस सीट पर हुए 16 चुनावों में सात बार कांग्रेस, दो बार लोजपा और एक-एक बार राजद, भाजपा, समता पार्टी, जनता दल, जनता पार्टी, कांग्रेस (ओ) और सीपीआई ने यहां से जीत हासिल की. सबसे अधिक इस सीट पर सात बार जीत दर्ज करने वाली कांग्रेस को यहां 1990 में आखिरी बार जीत मिली थी. इसके बाद से यह सीट भाजपा समेत क्षेत्रिय दलों के खाते में जाती रही है.

जातीय समीकरण

हरसिद्धि विधानसभा सीट पर मुस्लिम वोटरों का दबदबा है. रविदास और कोइरी वोटर भी निर्णायक भूमिका में हैं. इस सीट पर सबसे ज्यादा 71.1% वोटिंग 2000 के चुनाव में हुई थी. 2015 में यहां 63.6% वोट पड़े थे, जो 2010 की तुलना में करीब 10% ज्यादा थे.

कुल वोटरः 2.57 लाख

पुरुष वोटरः 1.37 लाख (53.3%)
महिला वोटरः 1.20 लाख (46.6%)
ट्रांसजेंडर वोटरः 2 (0.007%)