मखदुमपुर विधानसभा सीट : यहां देखें प्रत्याशी, वोटर्स, जातिगत आंकड़े और इस सीट का पूरा डेटा

Makhdumpur Vidhan Sabha constituency: RJD के कृष्णनंदन प्रसाद वर्मा यहां से अक्टूबर 2005 में जीतकर विधायक बने थे. फरवरी 2005 में LJP के रामआश्रय प्रसाद सिंह ने यहां से जीत हासिल की थी. इससे पहले 1995 और 2000 में बागी कुमार वर्मा यहां से जीते थे.

बिहार की मखदुमपुर विधानसभा सीट जहानाबाद जिले में आती है. यहां पहले चरण में 28 अक्टूबर को मतदान होंगे. वर्तमान समय में यहां से RJD के सुबेदार दास विधायक हैं. 2015 में उन्होंने यहां से हम (सेक्युलर) के जीतन राम मांझी को हराया था. सूबेदार दास ने जीतन राम मांझी को 26,777 वोटों से मात दी थी. जीतन राम मांझी 2010 में यहां से JDU के टिकट पर जीते थे.

RJD के कृष्णनंदन प्रसाद वर्मा यहां से अक्टूबर 2005 में जीतकर विधायक बने थे. फरवरी 2005 में LJP के रामआश्रय प्रसाद सिंह ने यहां से जीत हासिल की थी. इससे पहले 1995 और 2000 में बागी कुमार वर्मा यहां से जीते थे. दोनों बार उन्होंने अलग-अलग दलों के टिकट पर जीत हासिल की थी. 1995 में जनता दल और 2000 में RJD के टिकट पर उन्होंने जीत दर्ज की थी. इस सीट पर हुए कुल 16 चुनावों में 7 बार कांग्रेस, 3 बार RJD और 1-1 बार JDU, LJP, जनता दल, जनता पार्टी, संयुक्त सोशलिस्ट पार्टी और निर्दलीय उम्मीदवार जीत चुके हैं.

ये भी पढ़ें: घोसी विधानसभा सीट: यहां देखें प्रत्याशी, वोटर्स, जातिगत आंकड़े और इस सीट का पूरा डेटा

वैसे तो इस विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस, एलजेपी, जेडीयू और आरजेडी के प्रत्याशी चुनाव जीतते रहे हैं लेकिन मुख्य मुकाबला आरजेडी और एनडीए के बीच ही होता है. हम पार्टी एक बार फिर से जेडीयू के साथ एनडीए में शामिल है वहीं आरजेडी के मौजूदा प्रत्याशी सूबेदार दास को अपनी ही पार्टी में विरोध का सामना करना पड़ रहा है. हम ने यहां से देवेंद्र मांझी को उम्मीदवार बनाया है जो जीतन राम मांझी के दामाद हैं. अभी हाल में एलजेपी प्रत्याशी रानी कुमारी का नामांकन रद्द हो गया जिसके बाद उनके समर्थकों ने हंगामा किया. नामांकन रद्द करने को लेकर मखदुमपुर सीट से एलजेपी प्रत्याशी रानी कुमारी ने जिला प्रशासन पर पक्षपात करने का आरोप लगाते हुए कहा कि साजिश के तहत उनका नामांकन रद्द किया गया है.

जातीय समीकरण
इस सीट पर यादव, भूमिहार और कोइरी मतदाताओं का दबदबा रहता है. अभी तक 1995 विधानसभा चुनाव में यहां सबसे अधिक 77.46 प्रतिशत वोट डाले गए थे.
कुल वोटरः 2.38 लाख
पुरुष वोटरः1.25लाख (52.65%)
महिला वोटरः 1.16लाख (47.34%)
ट्रांसजेंडर वोटरः (0.001%)

 

Related Posts