Bihar election 2020: NDA ने रखा तीन चौथाई बहुमत पाने का लक्ष्य

बिहार (Bihar) BJP प्रदेश अध्यक्ष ने कहा, “जन विरोधी हरकतों की वजह से समाज के हर तबके की नजर से गिर चुका विपक्ष (opposition) अब अपने अस्तित्व को बचाने के लिए जल बिन मछली की तरह तड़प रहा है. विपक्ष को अब अपना पद बचाने तक के लिए संख्या नहीं मिल पाएगी.”

  • IANS
  • Publish Date - 11:52 pm, Fri, 25 September 20

चुनाव आयोग ने बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar assembly elections) की तारीखों का शुक्रवार को ऐलान कर दिया है, तो वहीं BJP ने भी कार्यकर्ताओं के सामने अपना टारगेट सेट कर दिया. BJP ने इस चुनाव में तीन चौथाई बहुमत पाने का लक्ष्य रखा है. बिहार में कुल 243 सीटों के चुनाव तीन चरणों में होने हैं. 28 अक्टूबर, 3 नवंबर और 7 नवंबर को मतदान होंगे और 10 नवंबर को नतीजे घोषित किए जाएंगे.

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव और बिहार प्रभारी भूपेंद्र यादव (Bhupendra Yadav) ने चुनाव कार्यक्रम घोषित होने का स्वागत किया. उन्होंने अपने एक बयान में कहा, “बिहार में चुनाव को लेकर चुनाव आयोग की घोषणा का हम स्वागत करते हैं. बिहार में इस बार भी लोकसभा चुनाव वाले परिणाम दोहराए जाएंगे. विधानसभा के लिए इस चुनाव में भी NDA तीन चौथाई बहुमत से जीत दर्ज करने जा रही है.”

ये भी पढ़ें : Bihar election 2020: नीतीश से जनता नाराज, लेकिन NDA पहली पसंद- सर्वे

‘समाज के हर तबके की नजर से गिर चुका है विपक्ष’

उधर, बिहार BJP प्रदेश अध्यक्ष डॉ. संजय जायसवाल (Sanjay Jaiswal) ने चुनाव कार्यक्रम घोषित होने के बाद विपक्ष पर निशाना साधा है. उन्होंने अपने बयान में कहा, “चुनाव आयोग की घोषणा से चिंता उन्हें है जिन्हें जनता ने रिजेक्ट करने का मूड बना लिया है. जन विरोधी हरकतों की वजह से समाज के हर तबके की नजर से गिर चुका विपक्ष अब अपने अस्तित्व को बचाने के लिए जल बिन मछली की तरह तड़प रहा है. विपक्ष को अब अपना पद बचाने तक के लिए संख्या नहीं मिल पाएगी.”

‘BJP चुनाव के लिए पूरी तरह तैयार है’

प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल ने चुनाव को लेकर पार्टी के पूरी तरह तैयार होने का हवाला देते हुए कहा, “चुनाव आयोग (Election Commission) की ओर से लोकतंत्र के महायज्ञ के लिए आज की गई घोषणा का हम स्वागत करते हैं. चुनाव आयोग ने तीन चरणों में बिहार विधानसभा चुनाव कराने की घोषणा की है. BJP इसके लिए पूरी तरह तैयार है और पार्टी के देवता समान कार्यकर्ता पार्टी की रीति-नीति के तहत मैदान में डट चुके हैं.” (IANS)

ये भी पढ़ें : Bihar election 2020: किस चरण में कहां पड़ेंगे वोट, जानें आपके जिले में कब है मतदान