रुन्‍नीसैदपुर विधानसभा सीट: यहां देखें प्रत्याशी, वोटर्स, जातिगत आंकड़े और इस सीट का पूरा डेटा

Runni Saidpur Vidhan Sabha constituency: सीतामढ़ी जिले की रुन्‍नीसैदपुर विधानसभा सीट एक समय कांग्रेस और उसके बाद जनता पार्टी के उम्मीदवारों के लिए सबसे सुरक्षित सीट मानी जाती थी. लेकिन अब इस सीट पर वर्तमान में आरजेडी (RJD) का कब्जा है.

सीतामढ़ी जिले की रुन्‍नीसैदपुर विधानसभा सीट एक समय कांग्रेस और उसके बाद जनता पार्टी के उम्मीदवारों के लिए सबसे सुरक्षित सीट मानी जाती थी. लेकिन अब इस सीट पर वर्तमान में आरजेडी (RJD) का कब्जा है.

बिहार एक बार फिर अपना मुख्यमंत्री चुनने के लिए तैयार है. राज्य में चुनावी बयार बह रही है और दूसरे चरण की विधानसभा सीटों पर अपनी किस्मत आजमा रहे सभी सियासी दलों के उम्मीदवारों ने अपनी जीत के लिए पूरा जोर लगा दिया है. राज्य की रून्नीसैदपुर विधानसभा सीट एनडीए गठबंधन से जेडीयू (JDU) के खाते में गई और उसने यहां से अपने वरीय नेता पंकज मिश्रा को टिकट देकर नया दाव लगाया है. वहीं, आरजेडी (RJD) के टिकट पर मंगीता देवी यहां से महागठबंधन की उम्मीदवार हैं. एलजेपी (LJP) ने इस सीट से गुड्डी देवी को अपना प्रत्याशी बनाया है.

सीट का इतिहास

सीतामढ़ी जिले की रुन्‍नीसैदपुर विधानसभा सीट एक समय कांग्रेस और उसके बाद जनता पार्टी के उम्मीदवारों के लिए सबसे सुरक्षित सीट मानी जाती थी. लेकिन अब इस सीट पर वर्तमान में आरजेडी का कब्जा है. 2015 के विधानसभा चुनाव में राजद की मंगीता देवी ने आरएलएसपी के पंकज कुमार मिश्रा को 14 हजार से अधिक वोटों से हराया था.मंगीता रुन्नीसैदपुर से 1995, 2000 और फरवरी 2005 में लगातार तीन बार विधायक रहे भोला राय की बहू हैं.

भोला राय 1995 में जनता दल, 2000 और 2005 में राजद के टिकट से जीते थे. अक्टूबर 2005 और 2010 में यहां से जदयू की गुड्डी देवी विधायक चुनी गई थीं. रुन्नीसैदपुर बिहार की उन सीटों में शामिल है जहां भाजपा का जीत खाता अभी तक नहीं खुल सका है. इस सीट से चार बार कांग्रेस, तीन बार राजद, दो-दो बार जदयू, जनता दल, जनता पार्टी और निर्दलीय एक-एक बार कांग्रेस (ओ) और संयुक्त सोशलिस्ट पार्टी के उम्मीदवारों ने जीत हासिल की है.

जातीय समीकरण
इस सीट पर ब्राह्मण और मुस्लिम वोट सबसे ज्यादा हैं. जबकि, राजपूत और यादव मतदाता भी निर्णायक भूमिका में हैं. रुन्नीसैदपुर विधानसभा सीट पर सबसे ज्यादा 72.5% वोटिंग 1969 के चुनाव में हुई थी. उसके बाद 71.1% वोटिंग 1990 के चुनाव में हुई.

कुल वोटरः 2.75 लाख

पुरुष वोटरः 1.47 लाख (53.4%)
महिला वोटरः 1.28 लाख (46.5%)
ट्रांसजेंडर वोटरः 7 (0.002%)

Related Posts