शाहपुर विधानसभा सीट: यहां देखें प्रत्याशी, वोटर्स, जातिगत आंकड़े और इस सीट का पूरा डेटा

Shahpur Vidhan Sabha constituency: शाहपुर विधानसभा सीट पर सबसे अधिक दबदबा यादवों का है. उनकी संख्या 20 प्रतिशत के आसपास है. ब्राह्मणों की संख्या भी यहां निर्णायक स्थिति में हैं.

  • TV9 Hindi
  • Publish Date - 7:53 am, Wed, 14 October 20
शाहपुर विधानसभा सीट पर सबसे अधिक दबदबा यादवों का है. उनकी संख्या 20 प्रतिशत के आसपास है.

दियारांचल के नाम से विख्यात शाहपुर विधानसभा क्षेत्र में बदले हुए समीकरण में आरजेडी ( RJD) को सीट बचाने की बड़ी चुनौती होगी. बीजेपी (BJP) ने यहां से दो बार क्षेत्र का प्रतिनिधित्व कर चुकीं मुन्नी देवी को एक बार फिर से मैदान में उतारा है, जबकि आरजेडी ने अपने विधायक राहुल तिवारी पर ही भरोसा किया है. इस सीट पर इस बार आरजेडी और बीजेपी के बीच कड़ी टक्कर होने की संभावना बनती दिख रही है. महागठबंधन के घटक आरजेडी के प्रत्याशी राहुल तिवारी और एनडीए की भाजपा प्रत्याशी मुन्नी देवी को चुनावी दंगल में उतरे निर्दलीय प्रत्याशियों से भीतरघात होने का भय सताने लगा है. पिछले चुनाव में भाजपा प्रत्याशी रहे विशेश्वर ओझा की पत्नी भी निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में चुनावी दंगल में उतरी हैं.

सीट का इतिहास
बिहार की शाहपुर विधानसभा सीट भोजपुर जिले में है. आगामी विधानसभा चुनाव में यहां 28 अक्टूबर को मतदान होगा. इस सीट से RJD के राहुल तिवारी मौजूदा विधायक हैं. राहुल तिवारी ने 2015 में यहां से BJP के उम्मीदवार विश्वेश्वर ओझा को हराया था. राहुल तिवारी ने 14,570 वोटों से BJP उम्मीदवार को मात दी थी. इस सीट पर इससे पहले BJP का कब्जा था.

अक्टूबर 2005 और 2010 में BJP की मुन्नी देवी यहां से जीती थी. इससे पहले फरवरी 2005 और 2000 के विधानसभा चुनाव में यहां से RJD के शिवानंद तिवारी लगातार दो बार जीते थे. यहां हुए कुल चुनावों में अब तक 3-3 बार RJD और कांग्रेस, 2-2 बार BJP, संयुक्त सोशलिस्ट पार्टी और प्रजा सोशलिस्ट पार्टी और 1-1 बार जनता दल, जनता पार्टी (जेपी) और जनता पार्टी की जीत हुई है.

जातीय समीकरण
इस सीट पर सबसे अधिक दबदबा यादवों का है. उनकी संख्या 20 प्रतिशत है. ब्राह्मणों की संख्या भी यहां निर्णायक स्थिति में हैं. पिछले चुनाव में महिलाओं का वोटिंग प्रतिशत पुरुषों से ज्यादा था. 2015 में यहां 49.5 प्रतिशत वोटिंग हुई थी जबकि 2010 में यहां 46.5 प्रतिशत वोट डाले गए थे.

कुल वोटरः 3.11 लाख
पुरुष वोटरः 1.75 लाख (56.2%)
महिला वोटरः 1.36 लाख (43.7%)
ट्रांसजेंडर वोटरः 9 (0.001%)