Bihar election 2020: एनडीए विरोधी दलों के गठबंधन में शामिल होंगे प्रकाश अंबेडकर

प्रकाश अंबेडकर (Prakash Ambedkar) ने मीडिया से बातचीत में कहा कि वंचित बहुजन अघाड़ी (VBA) एनडीए (NDA) के खिलाफ लड़ेगी, इसलिए उन्होंने बिहार में एंटी-एनडीए फ्रंट में औपचारिक रूप से शामिल होने का फैसला किया है.

  • TV9 Hindi
  • Publish Date - 8:58 am, Tue, 29 September 20
बिहार विधानसभा चुनाव में एनडीए को हराने के लिए वंचित बहुजन अघाड़ी के प्रमुख प्रकाश अंबेडकर भी मैदान में उतर आए हैं

बिहार विधानसभा (Bihar Assembly Election) चुनाव में एनडीए को हराने के लिए वंचित बहुजन अघाड़ी (VBA) के प्रमुख प्रकाश अंबेडकर भी मैदान में उतर आए हैं. वंचित बहुजन अघाड़ी (VBA) के अध्यक्ष प्रकाश अंबेडकर ने सोमवार को घोषणा की कि वे बिहार विधानसभा चुनाव में एनडीए (NDA) के खिलाफ लड़ने के लिए समान विचारधारा वाले धर्मनिरपेक्ष दलों से हाथ मिलाएंगे.

प्रकाश अंबेडकर ने मीडिया से बातचीत में कहा कि वंचित बहुजन अघाड़ी (VBA) एनडीए (NDA) के खिलाफ लड़ेगी,  इसलिए उन्होंने बिहार में एंटी-एनडीए फ्रंट में औपचारिक रूप से शामिल होने का फैसला किया है. उन्होंने कहा कि इसका उद्देश्य एनडीए (NDA) को हराना है.

ये भी पढ़ें- Bihar Election 2020: युवाओं को रिझाने में लगीं पार्टियां, जानें बिहार में किस उम्र के वोटर सबसे ज्यादा

मुसलमानों-आदिवासियों के बीच पैठ बनाएंगे प्रकाश अंबेडकर

इसके साथ ही प्रकाश अंबेडकर ने कहा कि वंचित बहुजन अघाड़ी (VBA) बिहार में सामाजिक और आर्थिक रूप से सताए गए पिछड़े, मुसलमानों और आदिवासियों के बीच पैठ बनाने की कोशिश करेगी. उन्होंने कहा कि एक तरफ बीजेपी जैसी पार्टियां हैं, जो आरक्षण के खिलाफ है, और संविधान को कमजोर कर रही है. दूसरी ओर, हमारे पास पिछड़े वर्गों के गरीबों का एक बड़ा वर्ग है जो पहचान के लिए लड़ रहे हैं, अब वंचित बहुजन अघाड़ी (VBA) उनकी आवाज बनेगा.

 एंटी-एनडीए फ्रंट में शामिल होंगे प्रकाश अंबेडकर

वंचित बहुजन अघाड़ी (VBA) के प्रमुख प्रकाश अंबेडकर ने कहा कि बिहार में एनडीए को हराने के लिए एक विस्तृत रणनीति पर काम किया जा रहा है. उनके पास दो विकल्प हैं, पहला आरजेडी (RJD) में शामिल होंना, जो धर्मनिरपेक्ष मोर्चे का प्रतिनिधित्व करता है, और दूसरा एनडीए का एक और विरोधी दल उभर रहा है, जिसका नेतृत्व बीजेपी (BJP) के पूर्व नेता और केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा कर रहे हैं.

ये भी पढ़ें- Bihar election 2020: टिकट के लिए धरने पर बैठी महिला, कहा- ‘लालू ने दिया था आश्वासन’

कौन हैं प्रकाश अंबेडकर ?

प्रकाश अंबेडकर वंचित बहुजन अघाड़ी के अध्यक्ष होने के साथ ही संविधान निर्माता बाबा साहेब डॉ भीमराव अंबेडकर के पोते है. वह राजनेता होने के साथ ही सामाजिक कार्यकर्ता और वकील भी हैं. उन्होंने साल 2018 में वंचितच बहुजन अघाड़ी की स्थापना की, वह लोकसभा और राज्यसभा दोनों के सदस्य भी रह चुके हैं.

बतादें कि 2019 के लोकसभा चुनाव में भी प्रकाश अंबेडकर की पार्टी ने एआईएमआईएम (AIMIM)  प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी से गठबंधन किया था, हालांकि वह सिर्फ एक सीट ही जीत सके, लेकिन महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव आते ही दोनों का गठबंधन टूट गया. बिहार चुनाव से पहले अंबेडकर ने कहा है कि वह देश में नई राजनीति लाना चाहते है, इसकी शुरुआत उन्होंने महाराष्ट्र लोकसभा चुनाव से की , इसमें वह सफल भी हुए. प्रकाश अंबेडकर ने कहा कि जो महाराष्ट्र में नहीं हो सका, वो अब बिहार में हो सकता है.