कोरोनावायरस वैक्सीन Tracker: रशिया के टीके ‘स्पूतनिक’ को भारत ला सकती है कैडिला कंपनी

दुनियाभर में अब तक कोरोनावायरस से 30,059,896 लोग संक्रमित हो चुके हैं. वहीं कोविड-19 की वजह से जान गंवाने वालों की संख्या 943,515 है. कोरोनावायरस और वैक्सीन (Corona Vaccine) से जुड़ी हर खबर के लिए पढ़ें लाइव अपडेट्स…

  • TV9 Hindi
  • Publish Date - 6:31 am, Fri, 18 September 20
Corona Vaccine
सांकेतिक तस्वीर

कोरोनावायरस के मामले भारत समेत दुनियाभर में बढ़ते जा रहे हैं. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक भारत में कोरोना मरीजों की संख्या 52 लाख के पार पहुंच गई है. वहीं इस बीच कोरोना वैक्सीन को खोजने का काम भी तेजी से चल रहा है. यहां आपको कोरोनावायरस और कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine News) से जुड़ी हर बड़ी और ताजा जानकारी मिलेगी.

बता दें कि देश में कोरोना के कुल मरीज 52,14,678 हो गए हैं. वहीं एक्टिव मामलों की संख्या 10,17,754 है. इसके साथ ही कोरोनावायरस से 41,12,552 लोग ठीक हो चुके हैं, जबकि 84,372 लोगों की इसके चलते जान गई है. देश में कोरोना का रिकवरी रेट रिकवरी रेट 78.52 फीसदी हो गया है. वहीं मृत्यु दर 1.63 फीसदी है.

जॉन्स हॉपकिंस यूनिवर्सिटी के आंकड़ों के मुताबिक दुनियाभर में अब तक कोरोनावायरस से 30,059,896 लोग संक्रमित हो चुके हैं. वहीं कोविड-19 की वजह से जान गंवाने वालों की संख्या 943,515 है. कोरोनावायरस और वैक्सीन से जुड़ी हर खबर के लिए पढ़ें लाइव अपडेट्स…

[svt-event title=”सब कुछ ठीक रहा तो अगले साल के मध्य तक आएगी वैक्सीन” date=”18/09/2020,4:49PM” class=”svt-cd-green” ] एम्स के सामुदायिक चिकित्सा विभाग के प्रमुख डॉ संजय राय ने कहा कि भारत में #COVID19 वैक्सीन के दूसरे चरण का ट्रायल बेहतर सैंपल साइज के साथ 600 से अधिक स्वयंसेवकों पर किया जा रहा है. सब कुछ योजना के मुताबिक रहा तो दुनिया में कहीं भी अगले साल के मध्य तक वैक्सीन आ जाएगी. [/svt-event]

[svt-event title=”कैडिला रूसी वैक्सीन को ला सकती है भारत” date=”18/09/2020,1:57PM” class=”svt-cd-green” ] कैडिला हेल्थकेयर और रशियन डायरेक्ट इन्वेस्टमेंट फंड (RDIF) के बीच बातचीत चल रही है. कैडिला हेल्थकेयर रूस की स्पूतनिक-V कोरोना वैक्सीन को भारत ला सकती है. इस खबर के बाद से कैडिला के शेयर प्राइज में 52 हफ्तों की सबसे बड़ी उछाल देखने को मिली है. [/svt-event]

[svt-event title=”तीसरे फेज के ट्रायल में ये 7 वैक्सीन” date=”18/09/2020,9:31AM” class=”svt-cd-green” ] दुनियाभर में फिलहाल 6 कोरोना वैक्सीन तीसरे फेज के ट्रायल में हैं. इसमें ऑक्सफर्ड, फाइजर, कैनसिनो बायोलॉजिकल, स्पूतनिक, जैनसीन फॉर्मासूटिकल, मॉडर्ना, वुहान इंस्टिट्यूट की वैक्सीन शामिल है. [/svt-event]

[svt-event title=”चीन में बन रही 11 कोरोना वैक्सीन” date=”18/09/2020,8:05AM” class=”svt-cd-green” ] चीन के विज्ञान और तकनीक मंत्री ने बताया कि चीन में 11 कोरोना वैक्सीन पर काम चल रहा है. सभी क्लीनिकल ट्रायल स्टेज पर हैं. इसमें से 4 तीसरे चरण के ट्रायल तक पहुंच गई हैं. [/svt-event]

[svt-event title=”मॉडर्ना और फाइजर ने आखिरकार बताया ब्लूप्रिंट” date=”18/09/2020,6:28AM” class=”svt-cd-green” ] लोगों के प्रेशर का सामना कर रही मॉडर्ना और फाइजर कंपनी ने आखिरकार कोरोना वैक्सीन को लेकर उनकी सीक्रेट ब्लूप्रिंट बता दिया है. दोनों कंपनी वैक्सीन की रेस में आगे हैं. दोनों कंपनियों पर वैक्सीन से जुड़ी बातें छिपाने के आरोप लग रहे थे. [/svt-event]

[svt-event title=”वैक्सीन तब तक आएगी, अक्टूबर में बताएगी फाइजर” date=”18/09/2020,6:26AM” class=”svt-cd-green” ] अमेरिकन कंपनी फाइजर ने कहा है कि उनकी कोरोना वैक्सीन कबतक आएगी इसकी सटीक जानकारी वह अक्टूबर में दे पाएंगे. [/svt-event]

[svt-event title=”सवालों के घेरे में रूसी कोरोना वैक्सीन” date=”18/09/2020,6:20AM” class=”svt-cd-green” ] रूस की कोरोना वैक्सीन फिर सवालों के घेरे में है. दरअसल तीसरे चरण के क्लीनिकल ट्रायल में जिन लोगों को स्पूतनिक-V’ वैक्सीन दी जा रही है, उनमें हर सात में से एक में दुष्प्रभाव यानी साइड इफेक्ट देखने को मिल रहे हैं. हालांकि रूसी सरकार ने इन लक्षणों को हल्का बताया है. [/svt-event]