कोरोना से ठीक होने के बाद नियमों कि धज्जियां उड़ा, बिना मास्क पहने मंदिर में नाचते नजर आए विधायक

मधु श्रीवास्तव अगस्त के आखिर में कोरोना से संक्रमित हुए थे और एक हफ्ते के लिए हॉस्पिटल में भर्ती भी हुए थे. श्रीवास्तव के संक्रमित पाए जाने के कुछ समय पहले ही उनके सहायक की कोरोना से मौत हो गई थी.

भड़कीली और विवादित बयानबाजी के लिए पहचाने जाने वाले गुजरात के बीजेपी विधायक मधु श्रीवास्तव एक बार फिर विवादों में घिर गए हैं. श्रीवास्तव हाल ही में कोरोना से संक्रमित होने के बाद ठीक हुए हैं. ठीक होने के बाद उन्हें वडोदरा के गजरावड़ी में स्थित एक मंदिर में भीड़ के सामने नाचते और भजन गाते हुए देखा गया. इस दौरान न ही उन्होंने मास्क पहना और न ही सोशल डिस्टेंसिंग की परवाह की.

श्रीवास्तव का एक वीडियो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है. इस वीडियो में विधायक कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए बनाए गए तमाम नियमों की धज्जियां उड़ाते हुए बिना मास्क पहने नजर आ रहे हैं. इस दौरान उनके काफी नजदीक खड़े, उनके समर्थक उन्हें प्रोत्साहित करते हुए भी दिखाई दे रहे हैं. वीडियो में देखा जा सकता है कि दो संगीतकारों के अलावा मंदिर में मौजूद किसी शख्स ने मास्क नहीं पहना है.

“मंदिर के अंदर मास्क अनिवार्य नहीं”

विधायक मधु श्रीवास्तव ने रविवार को इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत में कहा, “मंदिर में डांस करने वाला मेरा वो वीडियो सही है. मैं ऐसा हर शनिवार को करता हूं. मैं पिछले 45 वर्षों से वहां जा रहा हूं और मैं कल भी गया था. इसमें कुछ भी नया नहीं है. मैंने किसी भी गाइडलाइन का उल्लंघन नहीं किया है क्योंकि सरकार ने लोगों के इकट्ठा होने को मंजूरी दे दी है. इससे संबंधित सर्कुलर भी है. वहां थोड़े ही लोग थे.”

उन्होंने आगे कहा कि वो मंदिर उन्हीं का है और मंदिर के अंदर मास्क अनिवार्य नहीं है. श्रीवास्तव ने कहा, “ये मंदिर मेरा है. मंदिर के अंदर मास्क की कोई जरूरत नहीं है. मैं खुद भजन गाता हूं और मैं पिछले कई वर्षों से ऐसा करता आया हूं. हालांकि इस मामले पर पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने टिप्पणी करने से मना कर दिया.

मालूम हो कि मधु श्रीवास्तव अगस्त के आखिर में कोरोना से संक्रमित हुए थे और एक हफ्ते के लिए हॉस्पिटल में भर्ती भी हुए थे. श्रीवास्तव के संक्रमित पाए जाने के कुछ समय पहले ही उनके सहायक की कोरोना से मौत हो गई थी.

Related Posts