झारखंड: ट्यूशन पढ़ने गई बच्ची की गैंगरेप के बाद गला घोटकर हत्या, झाड़ियों में मिली लाश

घटनास्थल पर अपराधी पहले से ही घात लगाए बैठे थे, बच्ची को आते देख अपराधियों (Culprits) ने उसकी सइकिल रोकी और जबरन उसे झाड़ियों में ले गए, जहां उन्होंने बच्ची के साथ सामूहिक दुष्कर्म (Gangrape) की वारदात को अंजाम दिया.

Uttar-pradesh-rape
झारखंड: ट्यूशन पढ़ने गई बच्ची की गैंगरेप के बाद गला घोटकर हत्या, झाड़ियों में मिली लाश

झारखंड के दुमका से एक नाबालिक बच्ची से सामूहिक दुष्कर्म और हत्या का मामला सामने आया है. रामगढ़ के ठाडी के पास दिनदहाड़े एक 12 साल की नाबालिक आदिवासी बच्ची के साथ गैंगरेप के बाद उसकी गला दबाकर हत्या कर दी गई. यह घटना तब हुई जब बच्ची ट्यूशन पढ़ने के लिए घर से निकली थी.

जानकारी के मुताबिक, छात्रा ट्यूशन पढ़ने के लिए अपने गांव से धर्मपुर सिंदुरिया के लिए निकली थी, जहां से, वो करीब 9.30 बजे अपने घर की ओर वापस लौट रही थी, घटनास्थल पर अपराधी पहले से ही घात लगाए बैठे थे, बच्ची को आते देख अपराधियों ने उसकी सइकिल रोकी और जबरन उसे झाड़ियों में ले गए, जहां उन्होंने बच्ची के साथ सामूहिक दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया और पकड़े जाने के डर उसकी गला घोटकर हत्या कर दी, इसके बाद दरिंदों ने लड़की के शव को वहीं पलास की झाड़ी में फेंक दिया.

झाड़ियों में मिला बच्ची का शव

परिजनों के मुताबिक, बच्ची हर रोज की तरह सुबह 7.30 बजे ट्यूशन के लिए निकली थी, मगर जब वो अपने समय (10 बजे) तक वापस घर नहीं लौटी, तब बच्ची के पिता अपनी बेटी को ढूंढ़ने के लिए निकले, इसी दौरान ठाडी गांव के काली मंदिर के पास उन्हें बेटी की साइकिल जमीन पर पड़ी मिली, थोड़ा और खोजने के बाद झाड़ियों के बीच उन्हें अपनी बच्ची का शव मिला, इसके बाद परिजनों ने घटना की जानकारी रामगढ़ पुलिस को दी. पुलिस को शक है कि बच्ची के साथ पहले सामूहिक दुष्कर्म किया गया है और फिर हत्या कर दी गई. शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है और पुलिस अपराधियों की तलाश में जुट गई है.

ये भी पढ़ें: जम्मू-कश्मीर: आतंकवादी के सरेंडर का वीडियो वायरल, सेना ने कहा- ‘कुछ नहीं होगा बेटा’

मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने दुमका में बारह साल की बच्ची के साथ सामूहिक दुष्कर्म के बाद हत्या के मामले को गंभीरता से लेते हुए पुलिस महानिदेशक को सख्त कार्रवाई के आदेश दिए हैं, साथ ही सभी जिला प्रशासन एवं जिला पुलिस को ऐसे घृणित मामलों की जाँच कर फास्ट ट्रैक कोर्ट के माध्यम से दोषियों को सख्त से सख्त सजा दिलाने के निर्देश दिए हैं.

घटना पर सियासत गर्म

इस घटना को लेकर अब राजनीति तेज हो गई है, भाजपा के प्रवक्ता प्रतुल शाहदेव ने हेमंत सोरेन सरकार की कड़ी आलोचना करते हुए कहा है, ‘जिस प्रकार एक नाबालिग आदिवासी छात्रा की कथित सामूहिक बलात्कार के बाद निर्मम हत्या की गयी है, ये सरकार के असली चेहरे को जनता के सामने उजागर कर रहा है’.

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने हाथरस घटना की तरफ इशारा करते हुए कहा, ‘झारखंड में हाथरस की तरह कार्रवाई नहीं होगी’. उन्होंने कहा, ‘मैं भाजपा को बताना चाहता हूं कि यह हमारा झारखंड है, उत्तरप्रदेश नहीं. यहां हाथरस की तरह रात के अंधेरे में पेट्रोल छिड़क अपनी नाकामी छिपाने की साजिश नहीं होगी. पत्रकारों समेत सरकार की नाकामी के खिलाफ आवाज उठाने वालों को भी यहां प्रताड़ित नहीं किया जाएगा.

ये भी पढ़ें: केरल: कड़े कोरोना नियमों के साथ 7 महीने बाद खुला सबरीमाला मंदिर, नए पुजारी की नियुक्ति

Related Posts