मध्य प्रदेश में चांदी की 11 ईंटों के साथ कांग्रेस निकालेगी यात्रा, बताएगी राम मंदिर में पार्टी का योगदान

प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ (Kamal Nath) ने मंगलवार को ही ये ऐलान किया था कि एमपी कांग्रेस 11 चांदी की ईंटों को अयोध्या (Ayodhya) भेजेगी. ये 11 चांदी की ईंटें जनता और कांग्रेस कार्यकर्ताओं के सहयोग से इकट्ठा होंगी.

  • Makarand Kale
  • Publish Date - 8:33 am, Thu, 6 August 20

मध्य प्रदेश कांग्रेस (MP Congress) अयोध्या में बन रहे राम मंदिर (Ram Mandir in Ayodhya) के लिए 11 चांदी की ईंटें भेजेगी. इससे पहले कांग्रेस इन चांदी की 11 ईंटों को लेकर एक भव्य यात्रा निकालने जा रही है. मध्य प्रदेश के अलग अलग ज़िलों से होते हुए ये भव्य यात्रा अयोध्या (Ayodhya) जाएगी.

जगह-जगह होगा ईंटों का स्वागत कार्यक्रम

इतना ही नहीं जगह-जगह, रुक-रुक कर इस यात्रा के स्वागत कार्यक्रम भी किए जाएंगे. इन स्वागत कार्यक्रमों में सिर्फ कांग्रेस कार्यकर्ता ही नहीं बल्कि आम लोगों को भी शामिल किया जाएगा. कांग्रेस को उम्मीद है कि कांग्रेस का ये ट्रंप कार्ड वोटर्स को अपनी ओर खींचने में खासा मददगार साबित होगा.

कांग्रेस के दिग्गज नेता का कहना है कि अभी तक किसी तरह की रथयात्रा की सहमति नहीं बनी है लेकिन अगले कुछ दिनों में ये साफ हो जाएगा कि इस यात्रा की पूरी तस्वीर कैसी होगी.

कांग्रेस आने वाले उपचुनावों को देखते हुए एक बार फिर सॉफ्ट हिंदुत्व कार्ड खेलने के मूड में है. बीजेपी को कांग्रेस उन्हीं के हथियार से घायल करने का मूड बना रही है. सूत्रों के मुताबिक 11 चांदी की ईंटों की ये यात्रा खासकर उन इलाकों से होकर गुज़र सकती है, जहां जहां उपचुनाव प्रस्तावित हैं.

उपचुनाव वाली विधानसभाओं पर होगा फोकस!

कांग्रेस इसे लेकर रोडमैप तैयार कर रही है कि इन ईंटों को अयोध्या पहुंचाने के लिए कौनसा रुट सबसे मुफीद होगा, जिसमें ज़्यादा से ज़्यादा वो ज़िले और विधानसभाएं शुमार होंगी जहां पर उपचुनाव होने वाले हैं. कांग्रेस का थिंकटैक इस मंथन में जुटा है कि कैसे ज़्यादा से ज़्यादा कार्यकर्ताओं और आम जनता को इस यात्रा से जोड़ा जाए.

कमलनाथ ने कल किया था ये ऐलान

कांग्रेस के इस प्रोजेक्ट को लेकर के कमलनाथ भी खासे उत्साहित हैं, मध्य प्रदेश कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने मंगलवार को ही ये ऐलान किया था कि एमपी कांग्रेस 11 चांदी की ईंटों को अयोध्या भेजेगी. ये 11 चांदी की ईंटें जनता और कांग्रेस कार्यकर्ताओं के सहयोग से इकट्ठा होंगी.

26 विधानसभाओं में उपचुनाव

बीजेपी ने कांग्रेस अध्यक्ष के इस बयान को शिगूफा बताया था. अब अगर प्लान के मुताबिक सब कुछ सही रहा तो यही शिगूफा उपचुनावों के लिए कांग्रेस का ट्रंप कार्ड बनकर बीजेपी पर भारी पड़ सकता है.

मध्य प्रदेश में 26 विधानसभाओं में उपचुनाव होने हैं. पहले ये चुनाव सितंबर के आखिरी में होने थे लेकिन कोरोना संक्रमण को देखते हुए ये चुनाव आगे बढ़ाए जा रहे हैं. ऐसे में कांग्रेस के पास इस बीच में अपनी छवि सुधारने का काफी मौका है.

कमलनाथ के कंधों पर ये जिम्मेदारी

लिहाजा सॉफ्ट हिंदुत्व का ये कार्ड कांग्रेस ज़रुर खेलेगी क्योंकि बीजेपी ने हर चुनाव में कांग्रेस को प्रो मुस्लिम बताने की कोशिश की है. दिग्विजय सिंह के बयान भी बीजेपी के हमलों को वजन देते आए हैं, तो अब इस दाग से पार्टी को निजाद दिलाने की ज़िम्मेदारी भी कमलनाथ के कंधों पर है.

अगले एक हफ्ते में फाइनल हो जाएगा रोडमैप

11 चांदी की ईंटों की इस यात्रा के ज़रिए कांग्रेस अपनी छवि को तो बदलना ही चाहती है, साथ ही बीजेपी का मुकाबला उसी के हिंदुत्व के हथियार से करने की प्लानिंग तैयार की जा रही है. जानकारी के मुताबिक अगले एक सप्ताह में इस यात्रा की पूरी रूपरेखा फाइनल कर ली जाएगी.

क्या कांग्रेस का मेगा प्लान दिलाएगा जीत?

गौरतलब है कि इससे पहले कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने अपने निवास पर हनुमान चालीसा के पाठ का आयोजन किया था. इतना ही नहीं कमलनाथ ने अपने ट्विटर अकाउंट को भी पूरी तरह से भगवा रंग से रंग दिया था. पहले भी कांग्रेस कमलनाथ को हनुमान भक्त बताती आ रही है. ऐसे में क्या कांग्रेस का ये मेगा प्लान चुनाव में जीत दिला पाएगा.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे