राजस्थान और मध्य प्रदेश पुलिस के बीच पहेली बना शव का पोस्टमार्टम, सीमा विवाद में उलझा मामला

इंदौर के राजेन्द्र नगर थाना क्षेत्र में रहने वाले एक व्यक्ति की मौत राजस्थान के चित्तौड़गढ़ में हो गई. पूरे मामले की जानकारी जब परिजनों को लगी तो उन्होंने राजस्थान पुलिस के साथ ही राजेन्द्र नगर पुलिस को भी मामले की सूचना दे दी.

  • Makarand Kale
  • Publish Date - 7:05 am, Wed, 15 July 20
प्रतीकात्मक फोटो

पुलिस की कार्रवाई में उनकी क्षेत्रीय सीमा का बड़ा रोल होता है. इसी के चलते मध्य प्रदेश के इंदौर (Indore) में एक शव का पोस्टमार्टम (postmortem) इसलिए नहीं हो सका क्योंकि उसकी मौत राजस्थान (Rajasthan) के चित्तौड़गढ़ में हुई थी.

ये है पूरा मामला

इंदौर के राजेन्द्र नगर थाना क्षेत्र में रहने वाले एक व्यक्ति की मौत राजस्थान के चित्तौड़गढ़ में हो गई. पूरे मामले की जानकारी जब परिजनों को लगी तो उन्होंने राजस्थान पुलिस के साथ ही राजेन्द्र नगर पुलिस को भी मामले की सूचना दे दी. परिजन बॉडी को इंदौर ले आए.

देखिये #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

राजेन्द्र नगर पुलिस पूरे मामले को समझने में लगी हुई थी तो वहीं राजस्थान पुलिस भी बॉडी को ढूंढते हुए इंदौर पहुंच गई. मृतक के परिजन पूरे मामले को लेकर जिला अस्पताल पहुंच गए और जिला अस्पताल से संबंधित डॉक्टर ने पोस्टमार्टम के लिए बॉडी को मर्चुरी में रखवा दिया और इसकी सूचना संबंधित थाने चंदननगर को दे दी.

वहीं चंदननगर पुलिस पूरे मामले की जांच पड़ताल में जुटा हुआ था इसी दौरान राजस्थान पुलिस भी पहुंची और पूरे मामले की जानकारी देते हुए पोस्टमार्टम करवाने की बात करती रही. लेकिन इसी दौरान बात बिगड़ गई. डॉक्टर का कहना था कि मामला राजस्थान का है तो बॉडी का पोस्टमार्टम राजस्थान में ही होगा. वहीं राजस्थान पुलिस का कहना था कि पूरे कागज तैयार हैं तो बॉडी का पोस्टमार्टम यही कर दिया जाए.

इस पूरे घटनाक्रम में मृतक के परिजन काफी परेशान होते रहे. उनका कहना था कि हम पोस्टमार्टम को लेकर तकरीबन 10 घंटे तक अस्पताल के बाहर बैठे हुए हैं लेकिन कोई भी पुलिस पोस्टमार्टम करवाने की रहमत नहीं उठा रही है.

वहीं पूरे मामले की जानकारी अधिकारियों को भी दे दी, लेकिन वह भी किसी तरह की कोई कार्रवाई नहीं कर पा रही है. वहीं राजस्थान पुलिस का कहना है कि हमने तो सारे कागजात पूरे कर दिए हैं लेकिन संबंधित पुलिस किसी तरह की कोई कार्रवाई नहीं कर रही है जिसके कारण पूरा मामला अटका हुआ है.

घटना सामने आने के बाद संबंधित पुलिस इस पूरे मामले में चुप्पी साधे हुए हैं साथ ही यह भी संभावना जताई जा रही है कि मृतक की संपत्ति को लेकर परिजनों में ही विवाद हो रहा है, जिसके कारण बॉडी का पोस्टमार्टम करवाया जा रहा है. लेकिन एक दूसरे के विवाद के चलते बॉडी के पोस्टमार्टम में काफी समस्या आ रही है.