रायगढ़: महाड इमारत हादसे में मरने वालों की संख्या बढ़कर 16 हुई, रेस्क्यू ऑपरेशन जारी

महाराष्ट्र के मंत्री विजय वडेट्टीवार ने मृतकों के परिवारों को 5-5 लाख रुपये की सहायता राशि देने की घोषणा की है. साथ ही घटना में घायल हुए लोगों को 50-50 हजार रुपये की मदद दी जाएगी.

महाराष्ट्र में रायगढ़ के महाड बिल्डिंग हादसे में 16 लोगों की मौत की पुष्टि हो चुकी है. इसमें 7 पुरुष और 9 महिलाओं की जान चुकी है. वहीं NDRF की टीम अभी भी राहत और बचाव काम में जुटी हुई है.

महाराष्ट्र के मंत्री विजय वडेट्टीवार ने कहा है कि हमने मृतकों के परिवारों को 5-5 लाख रुपये की सहायता राशि देने की घोषणा की है. घटना में घायल हुए लोगों को 50,000 रुपये तक की वित्तीय सहायता दी जाएगी.

बता दें कि मुंबई (Mumbai) से क़रीब 160 किलोमीटर दूर महाराष्ट्र (Maharashtra) के रायगढ़ ज़िले (Raigad District) की महाड (Mahad) तहसील में एक 5 मंज़िला इमारत सोमवार शाम क़रीब 7 बजे ढह गई. इस बिल्डिंग में क़रीब 45-47 के क़रीब फ्लैट्स थे.

28 घंटे बाद सही सलामत 50 साल की महिला

‘जाको राखे साइयां’ ये कहवात वाकई में उस वक्त सच साबित हो गई, जब इमारत के मलबे से एक 50 साल की महिला को करीब 28 घंटों के बाद सही सलामत बाहर निकाला गया. जानकारी के मुताबिक मंगलवार को NDRF की टीम ने रेस्क्यू ऑपरेशन के दौरान 28 घंटों बाद मेहरूनिशा अब्दुल हमीद काजी नाम की 50 वर्षिय महिला को सही सलामत मलबे से बाहर निकाला.

19 घंटे बाद मलबे से निकला चार साल का बच्चा

वहीं इसके अलावा 19 घंटे बाद मलबे से बाहर निकले 4 साल के मोहम्मद नदीम बांगी की तबियत भी बिल्कुल ठीक है. महाराष्ट्र की मंत्री अदिती तटकरे ने अस्पताल जाकर बच्चे से मुलाकात भी की.

Related Posts