भिवंडी हादसा: ‘फरिश्तों’ ने बचाई मासूम की जान, चीख-पुकार और डर के बीच कुछ ऐसे किया गया रेस्क्यू

एनडीआरएफ (NDRF) की टीम ने अपनी जान की परवाह न करते हुए एक छोटे से बच्चे का रेस्क्यू किया. मासूम बच्चा इमारत ढहने की वजह से मलबे में दब गया था, और बहुत डरा-सहमा हुआ था.

  • TV9 Digital
  • Publish Date - 10:01 am, Mon, 21 September 20

महाराष्ट्र (Maharashtra) में थाणे (Thane) जिले के भिवंडी (Bhiwandi) का एक वीडियो सामने आया है. इसमें साफ देखा जा सकता है, किस तरह से एनडीआरएफ (NDRF) की टीम ने अपनी जान की परवाह न करते हुए एक छोटे से बच्चे का रेस्क्यू किया. मासूम बच्चा इमारत ढहने की वजह से मलबे में दब गया था, जिससे वह बहुत सहमा हुआ था. मासूम बच्चे के लिए रेस्क्यू टीम के लोग फरिश्ता बनकर सामने आए और सही सलामत बच्चे को मलबे में से बाहर निकाल लिया.

समाचार एजेंसी एएनआई (ANI) ने रेस्क्यू टीम का एक वीडियो जारी किया है, इसमें दिख रहा है कि मौके पर राहत और बचाव कार्य में लगी एनडीआरएफ (NDRF) की टीम ने मुस्तैदी के साथ मलबे से छोटे बच्चे को सुरक्षित बाहर निकाला, इसके बाद घबराए हुए बच्चे के मुंह को पानी से साफ किया, और उसे पूरी सुरक्षा के साथ परिजनों को सौंप दिया.

तीन मंजिला इमारत ढहने से भयानक हादसा

दरअसल महाराष्ट्र के भिवंडी में आज तड़के एक तीन मंजिला इमारत (Three Storied Building) ढहने से बड़ा हादसा हो गया. हादसे में 10 लोगों की मौत की खबर है, रेस्क्यू ऑपरेशन अभी भी जारी है. मरने वालों का आंकड़ा और भी बढ़ सकता है.

ठाणे नगर निगम के पीआरओ के मुताबिक, मलबे में दबने से अबतक 10 लोगों की मौत हो चुकी है. साथ ही कई लोगों के फंसे होने की आशंका है. एनडीआरएफ की टीम मलबे में दबे लोगों को सुरक्षित बाहर निकालने में लगी हुई है. अबतक करीब 25 लोगों को बचाया गया है.

नगर निगम के पीआरओ ने बताया कि हादसा सुबह 3:20 बजे भिवंडी के पटेल कंपाउंड में हुआ. उस दौरान लोग गहरी नींद में सो रहे थे. मरने वालों की पहचान की जा रही है. बाकी लोगों की तलाश जारी है. घटना की सूचना मिलते ही एनडीआरएफ की टीम तुरंत मौके पर पहुंची और राहत-बचाव कार्य में लग गई.