सात महीने बाद पटरी पर दौड़ी मुंबई मेट्रो, स्टेशन पहुंचने से पहले जान लें नियम-शर्तें

एक कोच में करीब 60 से 65 यात्रियों (Passengers) को यात्रा करने का प्रावधान है. यात्रियों के बैठने के लिए एक सीट छोड़कर व्यवस्था की गई है. पहले मेट्रो (Metro) में एक साथ 1500 यात्री यात्रा करते थे.

  • TV9 Hindi
  • Publish Date - 9:05 am, Mon, 19 October 20

कोरोनावायरस महामारी (Coronavirus Pandemic) के चलते मुंबई (Mumbai) में करीब सात महीनों तक मोनो रेल (Mono Rail) और मेट्रो सेवाएं (Metro Services) बंद रहीं. अब मुंबईकरों के लिए राहत भरी खबर आई है. रविवार को जहां मोनो रेल सेवा बहाल हुई, वहीं सोमवार सुबह से मेट्रो ट्रेनों का आवागमन भी शुरू हो गया.

मुंबई में फिलहाल सुबह 8:30 बजे से शाम को 8:30 बजे तक ही मेट्रो चलाई जाएगी. सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) के पालन की वजह से फिलहाल सिर्फ 300 से 350 यात्री ही मेट्रो से यात्रा कर सकेंगे, जिनमें 100 यात्रियों (Passengers) को बैठने और 160 यात्री खड़े होने की अनुमति होगी.

एक कोच में 60 से 65 यात्री ही कर सकेंगे सफर

एक कोच में करीब 60 से 65 यात्रियों को यात्रा करने का प्रावधान है, यात्रियों के बैठने के लिए एक सीट छोड़कर व्यवस्था की गई है. पहले मेट्रो में एक साथ 1500 यात्री यात्रा करते थे. पहले घाटकोपर से वर्सोवा के बीच एक दिन में मेट्रो के 400 चक्कर लगते थे, पिछले 65 महीनों में 600 मिलियन लोग मेट्रो से सफर कर चुके हैं. कोरोना संक्रमण की वजह से मार्च महीने से मेट्रो का संचालन पूरी तरह से बंद था.

जन-जन तक कोरोना वैक्सीन पहुंचाने की चुनौती, पोलियो पर विजय का अनुभव आएगा काम

मेट्रो में नहीं होगा प्लास्टिक टोकन का यूज

कोरोना महामारी को देखते हुए मेट्रो यात्रा के दौरान प्लास्टिक टोकन को पूरी तरह से बंद कर दिया गया है, उसकी जगह यात्रियों को क्यूआर कोड के साथ कागज की टिकट दी जाएगी. इसके साथ ही स्मार्ट कार्ड और ऐप के जरिये भी मेट्रो का टिकट लिया जा सकता है.

मुंबई में एक दिन में मेट्रो की 200 ट्रिप होंगी. कोरोना नियम के मुताबिक हर एक ट्रिप के बाद मेट्रो को सैनिटाइज किया जाएगा, ताकि लोग कोरोनावायरस संक्रमण से सुरक्षित रह सकें.

महाराष्ट्र में कोरोना से 42 हजार से अधिक मौतें

बता दें कि महाराष्ट्र में रविवार को कोरोना से मौतों और नए मामलों की संख्या में यूं तो कमी देखी गई, मगर मरीजों की मौत का आंकड़ा बढ़कर 42 हजार के पार चला गया. यह जानकारी स्वास्थ्य अधिकारियों ने दी.

रविवार को और 150 लोगों की मौत हो गई, जिससे मरने वालों की कुल संख्या 42,115 हो गई. राज्य में संक्रमण के 9,060 नए मामले सामने आने के साथ संक्रमितों की कुल संख्या 15,95,381 हो गई. राज्य में संक्रमण से उबरने की दर 85.86 फीसदी है और मृत्युदर 2.64 फीसदी है.

अब कोरोना का खात्मा ज्यादा दूर नहीं… Pfizer की प्रोडक्शन लाइन पर पहुंची कोरोना वैक्सीन