‘मुंबई में आई बाढ़ के पानी से करें सिंचाई’, उद्धव ठाकरे को नितिन गडकरी का सुझाव

मुंबई इस वक्त भारी बारिश की गंभीर समस्या से जूझ रही है. इस बीच केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) को इस पानी के इस्तेमाल का एक सुझाव दिया है.

  • TV9 Hindi
  • Publish Date - 8:33 am, Thu, 15 October 20
Nitin Gadkari
केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी (फाइल फोटो)

मुंबई इस वक्त भारी बारिश की गंभीर समस्या से जूझ रही है. इस बीच केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) को इस पानी के इस्तेमाल का एक सुझाव दिया है. नितिन गडकरी (Nitin Gadkari on Mumbai Rain) ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को सुझाव दिया है कि मुंबई की बारिश के पानी का इस्तेमाल सिंचाई, शहर के आसपास के उद्योगों और नासिक तथा अहमदनगर जैसे शहरों में बागवानी के लिए किया जाना चाहिए.

गडकरी ने पत्र में कहा कि अतिरिक्त पानी को सूखा प्रभावित इलाकों में घरेलू और अन्य इस्तेमाल के लिए भी ले जाया सकता है, ताकि जल की कमी से पार पाया जा सके.

पढ़ें – हैदराबाद के बाद अब ‘डूबे’ मुंबई और पुणे, रातभर बारिश-आज के लिए रेड अलर्ट

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को लिखे पत्र में नितिन गडकरी ने कहा कि अगर व्यवस्थित रूप से योजना बनाई जाए तो बाढ़ के पानी, नाले और सीवेज को (मुंबई से सटे) ठाणे की ओर मोड़ा जा सकता है और इस पानी को रास्ते में शोधित करके एक बांध में रखा जा सकता है. केंद्रीय परिवहन मंत्री ने कहा, ‘इस पानी का इस्तेमाल सिंचाई और शहर के आसपास के उद्योगों तथा नासिक एवं अहमदनगर जैसे नगरों में बागवानी के लिए किया जा सकता है.’

पढ़ें – हैदराबाद: भारी बारिश के बाद बाढ़ जैसे हालात, कई इलाकों में सेना ने किया रेस्क्यू

गडकरी ने पत्र में कहा कि यह योजना मुंबई में मीठी नदी की वजह से उत्पन्न होने वाली परेशानियों को हल करने में मदद कर सकती है। उन्होंने कहा, ‘मैं मीठी नदी पर एक बैराज बनाने का प्रस्ताव देता हूं और पानी समुद्र में प्रवाहित किया जा सकता है.’

सड़कों पर भी दिया सुझाव

केंद्रीय मंत्री ने यह भी कहा कि राज्य सरकार को शहर की सभी सड़कों को अलकतरे की जगह सीमेंट-कंक्रीट से बनाने की परियोजना शुरू करनी चाहिए क्योंकि तारकोल से बनी सड़कें भारी बारिश नहीं झेल पाती हैं. गडकरी ने अपने इस पत्र की एक प्रति एनसीपी प्रमुख शरद पवार, राज्य के उपमुख्यमंत्री अजित पवार और मंत्री बालासाहेब थोराट, अशोक चव्हाण तथा जयंत पाटिल को भी भेजी है. बता दें कि महाराष्ट्र में शिवसेना-एनसीपी-कांग्रेस गठबंधन की सरकार है.