मुंबई लोकल: सोमवार से चलेंगी 150 और ट्रेनें, अब इन कर्मचारियों को भी मिली यात्रा की इजाजत

यात्रा के लिए चुने जाने वाले 10 फीसदी स्टाफ (Staff) से अनुरोध किया गया है कि वो जल्द से जल्द राज्य सरकार से क्यूआर कोड (QR Code) हासिल कर लें. इसके बाद ही वैध पहचान पत्र वाले लोग टिकट खरीद सकते हैं और यात्रा कर पाएंगे.

रेल मंत्रालय (Railway Ministry) ने सभी सहकारी और निजी बैंकों (Cooperative and Private Banks) के 10 फीसदी कर्मचारियों (Employees) को मुंबई लोकल ट्रेन (Mumbai Local Train) से यात्रा करने की इजाजत दे दी है. मंत्रालय की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि ‘राज्य सरकार के अनुरोध पर, भारत सरकार के रेल मंत्रालय ने सहकारी और निजी बैंकों के 10 फीसदी कर्मचारियों को मुंबई लोकल ट्रेनों से यात्रा करने की इजाजत दी है.’

यात्रा के लिए चुने जाने वाले 10 फीसदी स्टाफ से अनुरोध किया गया है कि वो जल्द से जल्द राज्य सरकार से क्यूआर कोड हासिल कर लें. इसके बाद ही वैध पहचान पत्र वाले लोग टिकट खरीद सकते हैं और यात्रा कर सकते हैं.

स्टेशनों पर अतिरिक्त बुकिंग काउंटर खोले जाएंगे

रेलवे ने कहा है कि महत्वपूर्ण स्टेशनों पर अतिरिक्त बुकिंग काउंटर खोले जाएंगे, जिससे भीड़ को नियंत्रण में किया सके. साथ ही आने वाले यात्रियों से रेलवे ने सामाजिक दूरी का पालन करने की अपील की है.

पश्चिमी रेलवे ने एक बयान में कहा, “राज्य सरकार द्वारा स्थानीय ट्रेनों में यात्रा करने के लिए आवश्यक स्टाफ को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने और मास्क पहनने का अनुरोध किया है, ताकि महामारी को फैलने से रोका जा सके.”

350 की बजाय 500 लोकल ट्रेनें चलाई जाएंगी

बता दें कि 21 सितंबर से मुंबई में 350 की बजाय 500 लोकल ट्रेनें चलाई जाएंगी. सामाजिक दूरी को बनाए रखने और भीड़भाड़ से बचने के लिए पश्चिमी रेलवे पर 21 सितंबर से दैनिक विशेष उपनगरीय सेवाओं की संख्या 350 से बढ़ाकर 500 कर दी जाएगी.

महाराष्ट्र में 11 लाख से अधिक कोरोना पीड़ित

महाराष्ट्र में कोरोना मरीजों की संख्या 11 लाख के पार हो चुकी है. वायरस के संक्रमण के मामले में आंध्र प्रदेश दूसरे नंबर है लेकिन यहां भी मरीजों की संख्या महाराष्ट्र में संक्रमितों की संख्या का आधा ही है.

मालूम हो कि शनिवार को 20 हजार 519 केस आए. यहां अब तक 11 लाख 88 हजार 15 केस आ चुके हैं. 8 लाख 57 हजार 933 संक्रमित ठीक हो चुके हैं. 2 लाख 97 हजार 480 का इलाज चल रहा है, जबकि 32 हजार 216 की मौत हो चुकी है.

Related Posts