अलवर में भांजे के सामने महिला से दुष्कर्म, रेप का अश्लील वीडियो किया वायरल

इतना ही नहीं आरोपियों ने मोबाइल से रेप की घटना का वीडियो भी बना लिया. इसके बाद उन्होंने महिला द्वारा मुकदमा दर्ज करवाने से बचने के लिए उसके भांजे से जबरन दुष्कर्म करवाया.

राजस्थान में किसी भी पार्टी की सरकार रही हो, लेकिन अपराध के मामले थम नहीं रहे. रेप के मामले में कांग्रेस सरकार अव्वल रही है. कांग्रेस सरकार में थानागाजी में एक विवाहिता के साथ हुए गैंगरेप के मामले में अलवर जिले में दो पुलिस अधीक्षक नियुक्त किए जाने के बाद भी लगातार रेप की वारदात के सामने आ रही है. तिजारा थाना इलाके में एक नया मामला सामने आया है. अगर आंकड़ों की बात करें तो रेप के मामले में अलवर जिला पहले स्थान पर है.

राजस्थान के अलवर जिले में एक बार फिर रेप का मामला सामने आया है. पूरी वारदात जिले के तिजारा क्षेत्र की बताई जा रही है. दरअसल, अपने भाई को पैसे देकर भांजे के साथ लौट रही महिला को पहले 6-7 लोगों ने घेर लिया. फिर जबरन एक युवक ने उसके साथ दुष्कर्म किया. इस दौरान आरोपी के अन्य साथियों ने महिला के भांजे को बंधक बनाया और महिला से दुष्कर्म कर रहे युवक का साथ दिया.

इतना ही नहीं आरोपियों ने मोबाइल से रेप की घटना का वीडियो भी बना लिया. इसके बाद उन्होंने महिला द्वारा मुकदमा दर्ज करवाने से बचने के लिए उसके भांजे से जबरन दुष्कर्म करवाया. आरोपियों ने इसका वीडियो बना कर सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया.

मुख्य आरोपी सहित दो गिरफ्तार

फिलहाल पुलिस ने इस मामले में मुख्य आरोपी सहित दो को गिरफ्तार कर लिया है, जिसमें एक नाबलिग है. मुख्य आरोपी धूता उर्फ आसम और सहुद को गिरफ्तार कर लिया है. पीड़ित महिला ने वीडियो वायरल होने के बाद 17 सितंबर को तिजारा थाना में मामला दर्ज करवाया. पीड़ित महिला ने अपनी FIR में बताया कि 14 सितंबर को जब वह पैसे देकर लौट रही थी, तब उसके साथ दरिंदगी की गई और उसका वीडियो बनाया गया.

इस तरह दिया घटना को अंजाम

मामले को लेकर डीएसपी तिजारा कुशाल सिंह ने बताया कि शेखपुर थाना के अंडर में एक गांव की निवासी करीब 42 साल की विवाहित महिला 14 सितंबर को अपने भांजे के साथ बाइक पर सवार होकर हरियाणा के कंसाली गांव में अपने रिश्तेदार को दस हजार रुपए देकर अपने गांव लौट रही थी.

रास्ते में तिजारा के एक गांव की पहाड़ियों के पास कुल्हाड़ी और धारदार हथियारों से लैस 6-7 युवकों ने उन्हें रोक कर पीड़िता के भांजे के साथ मारपीट की और उसके हाथ पैर बांध दिए. इसके बाद महिला से अश्लीलता और दरिदंगी का घिनोना खेल खेला गया.

आरोपियों में से एक युवक तिजारा अंतर्गत ग्राम के आरोपी धूता उर्फ आसम ने विवाहिता के साथ दुष्कर्म किया. इस दौरान अन्य युवकों ने दबाव बनाने और बचाव लिए पीड़िता के भांजे को भी नग्न कर दुष्कर्म करने का प्रयास करवाया और उसका भी अश्लील वीडियो बना लिया.

हरियाणा राज्य में हुआ वीडियो वायरल

इसके बाद हरियाणा के गांवों में वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया गया. पीड़िता जैसे-तैसे घर लौटी और अपने पति को आपबीती बताई, लेकिन परिजन बदनामी के डर से चुप रहे. फिर वीडियो वायरल होने के बाद पीड़िता ने तिजारा थाने में आकर 17 सितंबर की रात 6 आरोपियों के खिलाफ नामजद रिपोर्ट दर्ज कराई. डीएसपी कुशाल सिंह ने बताया पीड़िता का मेडिकल करवाकर आरोपियों को पकड़ने के लिए शेखपुर थाना अधिकारी रामकिशोर, तिजारा थाना अधिकारी जितेंद्र नावरिया की टीम बनाई गई है. इसमें 3 वीडियो बनाने वाले आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है. दुष्कर्म के मुख्य आरोपी सहित अन्य को पकड़ने में पुलिस लगी हुई है.

वहीं अलवर जिले के थानागाजी कस्बे में हुए गैंगरेप के मामले में 24 सितंबर 2020 को कोर्ट के द्वारा फैसला सुनाया जाएगा

रेप-मर्डर जैसे अपराधों में प्रदेश में अलवर अव्वल

दुष्कर्म के हर साल औसतन 264 केस के साथ अलवर प्रदेश अपराधों के मामले में अव्वल है. स्टेट क्राइम ब्यूरो के तीन साल के आकड़ों के औसत के हिसाब से हर साल औसतन 216 रेप के मामलों के साथ भरतपुर दूसरे और 201 केस के साथ उदयपुर तीसरे नंबर पर है. साल 2014 में अलवर में सबसे ज्यादा रेप के 299 मामले, 2015 में दुष्कर्म के 254 घटनाएं हुईं. वहीं साल 2016 में 239 रेप के मामले में दर्ज हुए. अलवर गैंग रेप कांड के बाद से वहां दो एसपी बैठाने की घोषणा की गई. उसके बाद भी रेप की घटनाएं और अन्य घटनाओं का ग्राफ कम होने का नाम नहीं ले रहा है.

इसके अलावा 2018 में 3056 मामले दर्ज हुए और 2019 में 4240 मामले दर्ज हुए. इसी कड़ी में 2020 में अब तक 3498 मामले दर्ज हो चुके हैं. वहीं अगर साल 2020 के महीनों की बात करें, तो अगस्त 2019 में 563 मामले, जुलाई 2020 में 634 मामले और अगस्त 2020 में 526 मामले दर्ज हो चुके हैं.

Related Posts