Kanpur: विकास दुबे के फाइनेंसर के घर पर रह रहे 3 पुलिसकर्मी सस्पेंड

'सूत्रों से पता चला है कि तीन पुलिसकर्मी विकास दुबे (Vikas Dubey) के फाइनेंसर जय वाजपेयी (Jai Vajpayee) के मकान में रहते पाए गये हैं. तीनों को तत्काल प्रभाव से सस्पेंड कर दिया गया है. इसके अलावा इनके संबंधों की जांच की जा रही है.'

कानपुर (Kanpur) के शातिर अपराधी विकास दुबे (Vikas Dubey) के एनकाउंटर के बाद भी इस केस में रोज नए मामले सामने आ रहे हैं. पुलिस को जांच में पता चला है कि विकास दुबे के फाइनेंसर का काम संभालने वाले जय वाजपेयी (Jai Vajpayee) के एक मकान में तीन पुलिसकर्मी रहते थे. IG रेंज के आदेश पर तीनों को सस्पेंड किया गया है. इसके अलावा तीनों की विभागीय जांच (Departmental Investigation) भी शुरू कर दी गई है.

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने दी यह जानकारी

कानपुर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉ. प्रितिंदर सिंह (Pritinder Singh) ने बताया, “विकास दुबे मामले में जय वाजपेयी उसका साथी है. वह उसी मुकदमे में जेल में है. उसके अन्य साथी पर गैंगस्टर एक्ट के तहत मुकदमा किया गया है. कुछ अन्य साथियों को गिरफ्तार करने की कोशिश की जा रही है.”

उन्होंने आगे कहा, “सूत्रों से पता चला है कि तीन पुलिसकर्मी जय वाजपेयी के मकान में रहते पाए गये हैं. तीनों को तत्काल प्रभाव से सस्पेंड कर दिया गया है. इसके अलावा इनके संबंधों की जांच की जा रही है. इसी के साथ अन्य पुलिसकर्मियों को अगर अपराधियों के साथ गठजोड़ करता पाया गया तो उनके साथ सख्ती से कार्रवाई की जाएगी.”

शिकायत के बाद मकान में छापा मारने के आदेश

मालूम हो कि शिकायत के बाद IG मोहित अग्रवाल (Mohit Agarwal) ने CO नजीराबाद गीतांजलि को जय वाजपेयी के ब्रह्मनगर में स्थित मकान नंबर 111-481 में छापा मारने के निर्देश दिए. जांच के दौरान घर पर कर्नलगंज में तैनात उप निरीक्षक राजकुमार, अनवरगंज में तैनात उप निरीक्षक उस्मान और रायपुरवा में तैनात उप निरीक्षक खालिद वहां रहते पाए गए.

छापेमारी के दौरान मिली थी यह जानकारी

IG मोहित अग्रवाल ने बताया कि जिस मकान में दारोगा रहते मिले, वह KDA से विवादित है. लेकिन वहां पर पुलिसकर्मी रह रहे हैं जिस वजह से उस मकान पर कार्रवाई करने में मुश्किलें आ रही हैं. इस शिकायत को अधिकारी ने गम्भीरता से लिया और CO नजीराबाद गीतांजलि सिंह को मामले की जांच सौंपी.

IG से निर्देश मिलने के बाद CO ने ब्रह्मनगर स्थित जय के विवादित मकान में छापेमारी की. छापेमारी के दौरान पाया गया कि यह तीनों वहां रह रहे हैं. तीनों से पूछताछ और जांच में पता चला कि पुलिसकर्मी मुफ्त में वहां रह रहे थे. CO ने रिपोर्ट IG को सौंप दी. इसके बाद उन्होंने तीनों को सस्पेंड करने और विभागीय कार्रवाई के आदेश दिए. (IANS)

Related Posts