यूपी: बुलंदशहर में दो साधुओं की निर्मम हत्या, सीएम योगी ने दिए कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश

थाना अनूपशहर (Anupshahr) के गांव पगोना में स्थित शिव मंदिर में दो बाबा मंदिर में रहकर पूजा अर्चना करते थे. इसी मंदिर में एक नशेड़ी व्यक्ति आता-जाता रहा है.

  • उमेश पाठक
  • Publish Date - 12:04 pm, Tue, 28 April 20

उत्तर प्रदेश के बुलदंशहर के अनूपशहर कोतवाली में दो साधुओं की धारदार हथियार से हत्या कर दी गयी. इस मामले में पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने घटना का संज्ञान लिया है. उन्होंने जिलाधिकारी, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारियों को तुरंत मौके पर पहुंच कर घटना के सम्बन्ध में विस्तृत जानकारी देने और दोषियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्यवाई सुनिश्चित करने निर्देश दिए हैं.

थाना अनूपशहर के गांव पगोना में स्थित शिव मंदिर में दो बाबा मंदिर में रहकर पूजा अर्चना करते थे. इसी मंदिर में एक नशेड़ी व्यक्ति आता-जाता रहा है. दो-तीन दिन पहले इस नशेड़ी द्वारा बाबाओं का चिमटा गायब कर दिया था. इस पर बाबाओं ने इसे खूब डांट-फटकार लगाई थी.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

एक पुलिस अधिकारी द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक, बाबाओं का डांटना शायद इस नशेड़ी को अच्छा नहीं लगा, जिसके चलते उसने तलवार से दोनों बाबाओं की हत्या कर दी. पुलिस ने अभियुक्त को मंदिर से 2 किमी आगे से अर्धनग्न अवस्था में गिरतार किया. अभी अभियुक्त से पूछताछ जारी है.

इस बीच अलग-अलग पार्टी के राजनेताओं ने भी साधुओं की निर्मम हत्या पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए इस कृत्य की कड़ी निंदा की है. यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने लिखा, “उप्र के बुलंदशहर में मंदिर परिसर में दो साधुओं की नृशंस हत्या अति निंदनीय व दुखद है. इस प्रकार की हत्याओं का राजनीतिकरण न करके, इनके पीछे की हिंसक मनोवृत्ति के मूल कारण या आपराधिक कारण की गहरी तलाश करने की आवश्यकता होती है. इसी आधार पर समय रहते न्यायोचित कार्रवाई करनी चाहिए.”

कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने लिखा, “अप्रैल के पहले 15 दिनों में ही उप्र में सौ लोगों की हत्या हो गई. तीन दिन पहले एटा में पचौरी परिवार के 5 लोगों के शव संदिग्ध परिस्थितियों में पाए गए. कोई नहीं जानता उनके साथ क्या हुआ. आज बुलंदशहर में एक मंदिर में सो रहे दो साधुओं को बेरहमी से मौत के घाट उतार दिया गया.”

इसके बाद प्रिंयका ने दोषी पर कठोर कार्रवाई की मांग करते हुए लिखा, “ऐसे जघन्य अपराधों की गहराई से जांच होनी चाहिए और इस समय किसी को भी इस मामले का राजनीतिकरण नहीं करना चाहिए. निष्पक्ष जांच करके पूरा सच प्रदेश के समक्ष लाना चाहिए. यह सरकार की जिम्मेदारी है.”

वहीं महाराष्ट्र के शिवसेना नेता और राज्यसभा सांसद संजय राउत ने कहा, “यूपी के बुलंदशहर के एक मंदिर में दो साधुओं की हत्या भयानक है, लेकिन मैं सभी से अपील करता हूं कि इस सांप्रदायिक न बनाए, जिस तरह से महाराष्ट्र के पालघर मामलों को बनाने की कोशिश हुई.”

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे